जीवन मे आनंद का होना भी जरूरी- सीईओ जिला पंचायत It is also important to have joy in life – CEO District Panchayat

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com-मध्यप्रदेश शासन के निर्देश पर ग्रामीण एवम नगरीय क्षेत्र में निरंतर रूप से जारी आनंद उत्सव कायर्क्रम के क्रम में श्योपुर विकासखण्ड की ग्राम पंचायत बर्धा बुजुर्ग में खेल गतिविधियों का आयोजन किया गया।
आनंद विभाग के नोडल अधिकारी एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  अतेन्द्र सिंह गुर्जर ने अपने उद्बोधन में कहा कि जीवन में आनंद का होना भी बहुत जरूरी है, आनंद उत्सव कायर्क्रम नागरिको के जीवन मे आनंद लाने में सहायक सिद्ध हो रहे है, प्रतिदिन ग्रामीण लोग इसमे बढ़-चढ कर हिस्सा ले रहे है । यह कार्यक्रम सभी की सहभागित के लिए आयोजित किये जा रहे है। सभी लोगो की सहभागिता ओर उत्साह को देखकर आनंद की अनुभूति होती है।

जीवन मे आनंद का होना भी जरूरी- सीईओ जिला पंचायत It is also important to have joy in life – CEO District Panchayat

इस अवसर पर जनपद पंचायत के मुख्यं कार्यपालन अधिकारी  श्याम सुंदर भटनागर, सरपंच श्रीमती नीतू सिंह आनंद विभाग के मास्टर ट्रेनर  राजा खान, सरपंच प्रतिनिधि  कप्तान सिंह जाट, क्लस्टर प्रभारी  खेमराज मीणा, पंचायत सचिव  रमेश मीणा, सहायक सचिव  हरिसिंह बैरवा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता  शिमला बेरवा एव बउी संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित रहे। कार्यक्रम की शुरूआत में ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती नीतू सिंह द्वारा बुके भेंटकर सभी अतिथियों का स्वागत किया गया।
52 साल बाद खेले गिल्ली डंडे
आनंद उत्सव के तहत ग्रामीण क्षेत्रो में खेले जाने वाले परंपरागत खेलो का आयोजन किया जा रहा है। ग्राम बर्धा बुजुर्ग में आयोजित गिल्ली डंडा खेल का जब आयोजन हुआ तो कई बुजुर्गो ने इसमें सहभागिता की। बुजुर्ग खिलाडी  मासुर गुर्जर ने बताया है कि में बचपन मे गिल्ली डंडा का खेल खेलता था मगर आज 52 सालो बाद गिल्ली डंडे का खेल खेला तो बचपन याद आ गया, अभी मेरी उम्र 68 के लगभग है। इसी प्रकार  रामचरण गुर्जर ने कहा कि गिल्ली डंडे खेलने का आनंद ही अलग है।
महिलाओ ने रस्साकशी में आजमाये हाथ
बर्धा बुजुर्ग ग्राम पंचायत में महिलाओ ने भी खेल गतिविधियों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया महिलाओ ने बचपन  में खेले जाने वाले खेल डेढ टँगड़ी का खेल खेला ओर रस्साकशी में भी जोर लगाया। खेलो में भाग लेते हुए महिलाओं ने आनंद विभोर होते हुए कहा कि अब ऐसे खेल बहुत कम खेले जाते है, हम बचपन में खेलते थे, आज बचपन के दिनों की याद ताजा हो गई। इस अवसर पर पुरूष वर्ग के लिए कबड्डी एवं दौड खेलो का आयोजन भी किया गया। मास्टर ट्रेनर  राजा खान ने बताया कि आनंद उत्सव कार्यक्रम के तहत नागदा, चकरामपुरा में भी कार्यक्रम आयोजित किये गये।
बडौदा में भी आयोजित हुए कार्यक्रम
नगर परिषद बड़ौदा द्वारा आनंद उत्सव 2023 के अंतर्गत आज कबड्डी खो खो रस्सीकशी चेयर रेस तथा दौड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नगरपरिषद बडौदा की अध्यक्ष श्रीमती भरोसी बाई सुमन मुख्य अतिथि एवं श्रीमती निर्मला आचार्य विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रही। इस दौरान उन्होने प्रतियोगिता में सहभागिता करने वाले खिलाडियों का उत्साहवर्धन करते हुए अपने उद्बोधन दिये तथा आनंद उत्सव के तहत आयोजित किये जा रहे कार्यक्रम के संबंध में जानकारी प्रदान की गई। कार्यक्रम की शुरूआत में सीएमओ बडौदा  रामबरन सिंह राजौरिया द्वारा अतिथियों को बुके भेंटकर स्वागत किया गया।