शिकायतों की जांच करने जनपद पहुंचा जांच दल

गोहद.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> विधान सभा क्षेत्र की समस्त 88पंचायतो में सुदूर संपर्क सड़क, तालाब, नाले, सीसी रोड, खेत तालाब, मेड बंधान आदि कार्य इंजीनियरों की देखरेख में किये जाते है जिसकी तकनीकी स्वीकृति एवं प्रशासनिक स्वीकृति अधिकारियों द्वारा दी जाती है और इंजीनियर समय समय पर कार्य की जांच करने के बाद मूल्यांकन करते हैं और सरपंच सचिव की सहमति से बिल भुगतान किया जाता है सभी कार्य जन प्रतिनिधियों के पूरा संज्ञान में था जब ठेकेदारों की ठेकेदारी खत्म करने एवं कुछ कर्मचारियों की शिकायते मिलने पर जनपद सीईओ ने व्यवस्थाओं में सुधार करने की कोशिश की जिसका खामियाजा उनको शिकायत के माध्यम से भुगतना पड़ा सीईओ की सख्ती होते ही विधायक मेवाराम जाटव, पूर्व विधायक रणवीर जाटव, जनपद अध्यक्ष पति अशोक गुर्जर द्वारा भृष्टाचार की शिकायत कर जांच करने की मांग की है  जबकि स्वयं प्रतिनिधि रहते हुए शिकायत नहीं की वहीं भगवान दास जाटव ने आरोप लगाते हुए बताया कि मेरी भांजी की शादी 29 दिसम्बर 2020 को हुई थी लेकिन विवाह सहायता राशि नहीं मिली सहायता राशि के एवज में बाबू पैसा मांगता है जबकि शिकायत कर्ता के नाम कोई आवेदन ही नहीं है

कलेक्टर द्वारा बनाया गया जांच दल पहुंचा जांच करने

विधायक, पूर्व विधायक जनपद अध्यक्ष की द्वारा सामूहिक रूप से की गई भ्रष्टाचार की शिकायतों की चलते कलेक्टर ने छह सदस्यीय जांच दल गठित किया था जो आज जनपद पंचायत पहुंचा और शिकायत से संबंधी दस्तावेज एकत्रित किए जांच दल में शामिल  विजय राय डिप्टी कलेक्टर भिंड,एसबी शर्मा अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत भिंड, आलोक तिवारी कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा भिंड एवं वरिष्ठ लेखा अधिकारी जिला पंचायत एलके अवस्थी, सहायक परियोजना अधिकारी एफआर दोनेरिया ने सभी महत्वपूर्ण जानकारियां लेकर जांच शुरू की है।

इनका कहना है:

जितने भी जनप्रतिनिधियों ने शिकायत की है उन सभी शिकायतों से संबंधित दस्तावेज एकत्रित किए जा रहे हैं और संबंधित  लोगों से जानकारी जा रही है।

विजय राय डिप्टी कलेक्टर भिंड