बाराती बनकर आये थे पुलिस ने बनाया मेढ़क

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> प्रतिबंध के बावजूद लोग शादियों में भीड़ इकट्ठी करने से बाज नहीं आ रहे। ऐसा ही मामला भिंड के ऊमरी क्षेत्र में सामने आया। यहां मेहमान शादी में शामिल होने आए थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें मेंढक बना दिया यानि सजा के तौर पर बीच सडक पर मेंढक चाल चलवाई। पुलिस ने दूल्हे समेत टैंट मालिक पर एफआईआर दर्ज की है। मामला ऊमरी कस्बे के सरकारी हॉस्पिटल के पीछे का है। यहां स्थित आदिम जाति कल्याण विभाग के छात्रावास में बुधवार को शादी समारोह का आयोजन चल रहा था। दूल्हे की लगुन फलदान उत्सव का आयोजन दोपहर में होने जा रहा था। समारोह के लिए करीब 500 से ज्यादा लोगों को बुलावा भेजा था। जब पुलिस मौके पर पहुंचीए तो करीब 200 से ज्यादा लोग मौजूद थे। पुलिस को देखकर कई लोग मौके से भाग निकलेए तो कइयों को पुलिस ने घेराबंदी करके पकड लिया। इस दौरान पुलिस ने दूल्हा पक्ष के लोगों को फटकार लगाई।

पुलिस  ने दूल्हा टेंट संचालक को बनाया आरोपी

बारात की तैयारी करके समारोह में भाग लेने आए मेहमानों से मेंढक चाल चलवाने की सजा दी गई। इस दौरान कई युवकों से कान पकडकर उठक-बैठक लगवाई। यहां पुलिस ने 250 से अधिक लोगों का भोजन फिंकवाया। पुलिस का कहना है, आयोजक व दूल्हा मुकेश उम्र 25 वर्ष पुत्र अखिलेश जाटव निवासी सुन्दरपुरा और टैंट संचालक राजेंद्र जाटव निवासी मुचाईपुरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली। ट्रैक्टर-ट्रॉली मालिक पर भी कार्रवाई की गई।

छात्रावास में चल रहा था शादी का कार्यक्रम

समारोह आदिम जाति कल्याण विभाग के छात्रावास में चल रहा था। सरकारी छात्रावास में कार्यक्रम करके लॉकडाउन तोडा गया है। पुलिस मामले यह पडताल में जुटी हैए शादी में छात्रवास अधीक्षक का क्या रोल रहाघ् विवचेना के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। हालांकि अब तक पुलिस को जानकारी लगी है कि छात्रावास अधीक्षक दूल्हे का रिश्तेदार है। हालांकि पुलिस पर हॉस्टल अधीक्षक के खिलाफ कार्रवाई न करने को लेकर कई राजनेताओं द्वारा पैरवी शुरू कर दी गई।