वासुपूज्य दिगम्बर जैन मंदिर में भव्य वेदी प्रतिष्ठा महोत्सव संपन्न

  कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- रानपुर स्थित वासुपूज्य दिगम्बर जैन मंदिर सोमवार को वासुपूज्य भगवान की जय-जयकार से गूंज उठा। इसी के साथ यहां वेदी प्रतिष्ठा महोत्सव हर्षोल्लास पूर्वक संपन्न हुआ। भगवान की नवीन एवं प्राचीन प्रतिमाओं को बोली के माध्यम से पुर्ण्याजक सिर पर धारण कर मंदिर जी लेकर पहुंचे। इस दौरान बैण्डबाजों के साथ महिलाओं ने नृत्य कर भगवान की अगवानी की। वासुपूज्य भगवान की वेदी प्रतिष्ठा मुनिश्री सुधासागर जी महाराज के सानिध्य में मंत्रोच्चार के साथ संपन्न हुई। जिसमें पुर्ण्याजक परिवार द्वारा भगवान की वेदी प्रतिष्ठा की। भगवान की वेदी प्रतिष्ठा होते ही पूरा मंदिर भगवान की जय-जयकार से गूंज उठा। श्रद्धालुओं ने भक्तिभाव के साथ भगवान की स्तुति कर आर्शीवाद लिया। इस अवसर पर आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा कोटा से ,झालरापाटन से, कोहलापुर आदि शहरो से भी बड़ी संख्या में श्रावक पहुंचे। प्रतिष्ठाचार्य पंडित प्रदीप भैया एवं पंडित जिनेन्द्र शास्त्री के निर्देशन में पूरा कार्यक्रम विधि विधान पूर्वक संपन्न कराया गया।
भगवान वासुपूज्य की स्थापना का सौभाग्य धर्मचंद सीए सौधर्म इंद्र परिवार को प्राप्त हुआ। प्राचीन मूलनायक भगवान चंदप्रभु की प्रतिमा की स्थापना का सौभाग्य अमृत, ताराचंद लाम्बाबांस परिवार को प्राप्त हुआ। शांतिधारा का सौभाग्य शिखर, मनोज सेठिया, सौधर्म इंद्र परिवार ने प्राप्त किया। कलशारोहण का सौभाग्य सौधर्म इंद्र ,नरेश जैन वेद,रमेश दौराया परिवार ने प्राप्त किया।

इस अवसर पर शिखर पर ध्वजा चढ़ाने का भी सौभाग्य सौधर्म इंद्र, पारस राजकुमार कोटया, नरेश वेद ने प्राप्त किया।
मंदिर और भगवान मेरे हैं, यह भाव मन में रखो
इससे पूर्व धर्मसभा में मुनिश्री सुधासागर जी महाराज ने प्रवचन में कहा कि जिस तरह हम अपने मकान को बनाते हैं, उस मकान की छत पड़ने वाले दिन हम अपनी दुकान या नौकरी से छुट्टी ले लेते हैं, ठीक उसी प्रकार मंदिर के प्रति भी अपना भावना को इसी तरह बनाओ। हमें मंदिर के लिए यह भाव नहीं रखना चाहिए कि यह मंदिर सबका है, या समाज का है, समाज इसका विकास करेगा, यह नहीं। बल्कि हमें यह भाव रखना चाहिए कि यह मंदिर मेरा है, इसका विकास करना मेरा कर्त्तव्य है। जिस दिन यह भाव तुम्हारे मन में आ जाएगा उस दिन मंदिर का विकास और तुम्हारी कमाई दोनों बढ़ जाएगी।

इस अवसर पर सकल दिगम्बर जैन समाज कोटा के अध्यक्ष विमल जैन नान्ता, महामंत्री विनोद जैन टोरड़ी,रानपुर समाज से नरेश जैन वेद,अमृत, संतोष, प्रेम जैन, रमेश, पवन, नवीन दौराया रानपुर समेत अन्य समाजबंधु मौजूद रहे।

रानपुर से हुआ मुनि श्री का मंगल विहार,केबलनगर पहुंचे
समाज के नरेश जैन वेद ने बताया कि रामपुर में वेदी प्रतिष्ठा महोत्सव संपन्न होते ही मुनि श्री का मंडाना की ओर मंगल विहार हुआ। इस दौरान उनके साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालु गण साथ रहे। मुनि श्री देर शाम को मंगल विहार करते हुए आलनीया माता मंदिर भगत पब्लिक स्कूल के पास केवल नगर पहुंचे। जहां उनका रात्रि विश्राम हुआ। नरेश जैन वेद ने बताया कि सुबह 5:15 बजे मुनि श्री मंडाना के लिए विहार करेंगे।