किसानों की समृद्धता के लिए केंद्र का राज्य सरकार को पूरा सहयोग- श्री तोमर

  नईदिल्ली.Desk/ @www.rubarunews.com>> केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री  नरेंद्र सिंह तोमर(Union Minister of Agriculture and Farmers Welfare Narendra Singh Tomar) ने राष्‍ट्रीय बीज निगम (NSC), क्षेत्रीय कार्यालय, भोपाल के भवन एवं तीन हजार एम.टी. क्षमता के बीज गोदाम तथा नेफेड के भोपाल कार्यालय का गुरूवार को वर्चुअल उद्घाटन किया। इस अवसर पर श्री तोमर ने कहा कि किसानों का जीवन सुगम करने के लिए केंद्र सरकार, पूरी तरह राज्यों केसाथ मिलकर काम कर रही है। केंद्र ने मध्य प्रदेश में किसानों से लगभग डेढ़ लाख टन मूंग खरीदने की अनुमति दी है, आगे भी जरूरत पड़ने पर केंद्र सरकार और अनुमति देने से पीछे नहीं हटेगी। किसानों की भलाई के लिए प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार कृतसंकल्पित है और कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी।

 

श्री तोमर ने कहा कि म.प्र. कृषि प्रधान राज्य है, जहां के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) व कृषि मंत्री  कमल पटेल(Agriculture Minister Kamal Patel) दोनों खेती-किसानी से जुड़े हुए हैं, लिहाजा उन्होंनेकिसानों को उनकी उपज के वाजिब दाम दिलाने तथा कृषि क्षेत्र को समृद्ध करने के लिए बहुत अच्छी तरह काम किया है। बीते 15 साल से म.प्र. दिन-प्रतिदिन प्रगति कर रहा है। केंद्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार को भारत सरकार की ओर से पहले भी पूरा सहयोग किया गया है और आगे भी पूरी मदद की जाती रहेगी।

 

उन्होंने NSC की तारीफ करते हुए कहा कि देश के किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीजों के उत्पादन और वितरण के लिए वह लगभग 57 साल से सतत कार्यरत है और देश के किसान उसके गुणवत्ता बीजों का उपयोग कर रहे हैं।NSC द्वारा 20 लाख बीज कीट्स बांटे जा रहे है। निजी क्षेत्र की तुलना में NSC की क्वालिटी के अनुरूप बीजों के भाव बहुत कम है और बीज बाजार में वह संतुलन बनाए हुए हैं।इसी तरह, नेफेड भी भारत सरकार की ओर से दलहन व तिलहन उपार्जन की अग्रणी संस्था हैं, जो पिछले लगभग 62 वर्षों से सेवाएं दे रही है। केंद्र की समर्थन मूल्य योजना तथा मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना के जरिये किसानों के दलहन-तिलहन उपार्जन का कार्य नेफेड बखूबी करती आ रही हैं। म.प्र. का दलहन व तिलहन उत्पादन में महत्वपूर्ण योगदान रहा हैं, जिसमें से नेफेड द्वारा विगत4 वर्षो में लगभग 42 लाख मी. टन का उपार्जन का कार्य किया गया, जिससे म.प्र. के 23 लाख किसान भाइयों को समर्थन मूल्य योजना,मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना का लाभ प्राप्त हुआ हैं।

 

श्री तोमर ने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाने के, प्रधानमंत्री जी के संकल्प को आगे बढ़ाते हुए नेफेड भी बहुत अच्छा काम कर रहा है तथा हमारे किसान भाइयों को आत्मनिर्भर बनाने में सहायता कर रहा हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि नेफेड और NSC आने वाले समय में भी देश के किसानों की तरक्की तथा उनका जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए इसी तरह कार्यरत रहेंगे एवं भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं को किसानों तक पहुंचाकर उन्हें लाभान्वित करते रहेंगे।

कार्यक्रम के विशेष अतिथि म.प्र. के कृषि मंत्री कमल पटेल(MP Agriculture Minister Kamal Patel) ने कहा कि सत्ता परिवर्तन से व्यवस्था परिवर्तन का संकल्प म.प्र.सरकार ने पूरा कर दिखाया है। राज्य में समर्थन मूल्य पर कृषि उपज खरीदने से किसानों को काफी फायदा हुआ है। प्रधानमंत्री जी की घोषणानुरूप किसानों की आय वृद्धि के लिए म.प्र. सरकार ने काम किया है। आपदा को अवसर में बदलने के प्रधानमंत्री जी के आव्हान पर राज्य सरकार ने अनेक कदम उठाए हैं।

केंद्रीय कृषि सचिव  संजय अग्रवाल,नेफेड के प्रबंध निदेशक  संजीव कुमार चड्ढ़ा, NSC के सीएमडी  विनोद कुमार गौड़ ने भी संबोधित किया। NSC के निदेशक (वाणिज्यिक)  मोहनलाल अरोड़ा ने आभार माना।