अधिक मात्रा में विटामिन और जिंक का सेवन भी होसकता है खतरनाक , जानिए कितनी मात्रा है जरूरी

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com- कोरोना संकट से परेशान लोग इम्युनिटी बढ़ाने के लिए हर मुमकिन उपाय कर रहे है हर तरह के नुस्खे अपना रहे है जिनमे आयुर्वेदिक, घरेलू उपायों के साथ लोग एलोपैथी की दवाओं का भी सहारा ले रहे है। कोरोना से बचाव में शरीर के लिए विटामिन C , जिंक ओर अन्य मिनरल्स का शरीर मे उपयुक्त मात्रा में होना जरूरी है और डॉक्टर्स भी इसे प्रिस्क्रिप्शन में लिख रहे है जिस कारण से लोगो ने बिना डॉक्टर की सलाह लिए घर मे ही विटामिन C , जिंक ओर अन्य मिनरल्स की दवाएं लेना शुरू करदिया है।

 

पर डॉक्टर्स की सलाह माने तो जितना ये दवाइयां उपयोगी है उतना ही इन्हें अधिक मात्रा में लेना शरीर के लिए हानिकारक होसकता हैं क्योंकि सही मात्रा में ये वायरस से लड़ने में मददगार साबित तो होते हैं पर विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकते है, इनमें किडनी में पथरी, डायरिया, पाचन तंत्र संबंधी बीमारियां शामिल है।

कई डॉक्टर्स का मानना है कि अधिक मात्रा में जिंक का सेवन करने से “ब्लैक फंगस” कक खतरा बढ़ सकता है क्योंकि किसी भी तरह की फंगस अधिक जिंक ,आयरन ,औऱ मीठे के कारण फैल सकती है।

क्या हो सकते है अधिक विटामिन c के नुकसान~
यूँ तो विटामिन C एंटीऑक्सीडेंट बढ़ाता है। पर इनकी अधिकता के कारण शरीर मे आयरन की अधिकता
हो सकती है , किडनी खराब व पेट खराब हो सकता है ,
सिरदर्द, नींद ना आने पोषक तत्वों का असंतुलन, जैसी समसयाएं होसकती है। प्राकर्तिक तरीको से विटामिन c लेने के लिए निम्बू , संतरा, ब्रोकली , पालक , शिमला मिर्च, व स्ट्राबेरी का उपयोग किया जासकता है।

 

◆ शरीर मे जिंक से होने वाले नुकसान~
सही मात्रा में जिंक लेने से रोग-प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है जो संक्रमण से ठीक होने में मदद करता है पर जरूरत से अधिक जिंक प्रतिदिन लगातार लेने से पेट, लिवर, किडनी से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

 

◆कितनी मात्रा में किया जा सकता है विटामिन और जिंक का सेवन ~
नेशनल इंस्टीट्यूट आफ हेल्थ के मुताबिक 500 एमजी की टेबलेट ही लेसकते है परन्तु सभी की बॉडी टाइप अलग-अलग होने के कारण 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग को प्रतिदिन अपने भोजन में 90 मिलीग्राम से 2000 मिलीग्राम तक विटामिन सी ही लेना चाहिए ओर
जिंक के बारे में देखे तो जिंक का सामान्य स्तर 70 से 290 माइक्रोग्राम होता है व भोजन में 8 से 11 मिलीग्राम तक जिंक ले लिया जासकता है। जिंक सबसे अधिक सी फूड ,सफेद चने, बीन्स, डेयर प्रोडक्ट, काजू, बादाम और मूंगफली में पाया जाता है। किसी भी व्यक्ति को 40 मिलीग्राम से ज्यादा जिंक नहीं लेना चाहिए.

परन्तु किसी भी तरह के विटामिन ,मिनरल्स, जिंक अथवा आयरन के प्रयोग से पहले डाक्टर्स से सलाह से ही ले, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति के शरीर की क्षमता अलग होती है ,इसीलिए अधिक मात्रा में इनका सेवन सेहत के लिए घातक साबित होसकता है।