किल कोरोना-3 अभियान का जायजा लेने सर्वे दलों के साथ घर-घर पहुंचे जिला पंचायत सीईओ

रायसेेेन जगदीश कुमार जोशी/ @www.rubarunews.com-
जिले में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने और संभावित कोरोना संक्रमित रोगियों के त्वरित उपचार हेतु किल कोरोना-3 अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत सर्वे दलों द्वारा घर-घर पहुंचकर परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य की जानकारी ली जा रही है। जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा ने गैरतगंज जनपद के गढ़ी, पटी, सहजपुर सहित अन्य ग्राम पंचायतों का भ्रमण कर सर्वे दलों के साथ घर-घर जाकर किल कोरोना-3 अभियान का जायजा लिया।

जिला पंचायत सीईओ श्री शर्मा ने सर्वे दलों को निर्देशित करते हुए कहा कि अभियान में संभावित संक्रमित एवं कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को समुदाय से अलग कर संक्रमण की चेन को तोड़ना है, जिससे कोरोना संक्रमण पर प्रभावी ढंग से नियंत्रण किया जा सके। उन्होंने सर्वे दल से कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने में आपकी महत्वपूर्ण भूमिका है। सर्वे के दौरान कोरोना संदिग्ध रोगियों की त्वरित पहचान होने से उनका समय पर उपचार प्रारंभ किया जा सकता है। जिससे कोरोना संक्रमण को प्रारंभिक अवस्था में खत्म किया जा सकता है। जिला पंचायत सीईओ ने लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के साथ ही उन्हें कोरोना संक्रमण के बचाव हेतु योग करने, गरम पेय पदार्थ पीने, गरारे करने एवं भाप लेने सहित अन्य उपाय बताने के लिए भी कहा।

जिला पंचायत सीईओ ने सर्वे कार्य के दौरान ग्रामीणों से चर्चा करते हुए उन्हें मास्क लगाने, दो गज की दूरी बनाये रखने, समय-समय पर हाथों को सेनेटाइज करने या साबुन और पानी से धोने के लिए कहा। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि सर्वे टीम द्वारा प्रतिदिन घर-घर आकर सर्वे किया जा रहा है। सर्दी-जुखाम, बुखार, खराश, सिर दर्द, बदन दर्द, भूख न लगना, दस्त लगने से पीड़ित मरीज अपने लक्षणों को छुपाये नहीं बल्कि बताएं, जिससे उन्हें दवाइयों की किट उपलब्ध कराई जा सके और समुचित इलाज किया जा सके। उन्होंने कहा कि कई बार मरीज अपने घर पर ही पारंपरिक उपचार लेते हैं, ठीक होने की उम्मीद में 5 से 7 दिन गुजार देते हैं जिन्हें स्वास्थ्य लाभ होने के बजाय उनकी बीमारी और जटिल हो जाती है। उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है, ऐसी स्थिति में उपचार और जटिल हो जाता है। इसलिए किसी भी प्रकार के लक्षण या समस्या प्रतीत होने पर छुपाएं नहीं तुरंत बताएं।

 

कोरोना संक्रमित मरीज एवं उनके परिजनों से की चर्चा

जिला पंचायत सीईओ ने ग्राम पंचायतों के भ्रमण के दौरान पंचायतों में बनाए क्वारेंटाइन सेंटरों का भी निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान पंचायत सचिव से ग्राम पंचायतों में कोरोना संदिग्ध एवं संक्रमित मरीजों की संख्या, उनके उपचार तथा स्वास्थ्य की जानकारी ली। उन्होंने कोरोना संक्रमित व्यक्ति एवं उनके परिजनों से भी चर्चा कर उनका हौंसला बढ़ाया और चिकित्सकों के परामर्श अनुसार समय पर दवाईयां लेने और सावधानी बरतने के लिए कहा।