किसानों की समस्याएं दूर कर जल्द पूरा करें एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य

नई दिल्ली/कोटा Krishnakantrathore/ @www.rubarunews.com>> लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने मंगलवार को सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अधिकारियों से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे की प्रगति की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को कहा कि संसदीय क्षेत्र में किसानों की एक्सप्रेस-वे के निर्माण से जुड़ी कई समस्याएं हैं, उनको दूर कर एक्सप्रेस-वे को निर्धारित समय सीमा में पूरा किया जाना सुनिश्चित करें।
लोकसभा चैंबर में अधिकारियों से चर्चा करते हुए लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे कोटा समेत संपूर्ण हाड़ौती की प्रगति में अहम भूमिका निभाएगा। अधिकारी नए प्रोजेक्ट्स के माध्यम से कोटा की अन्य शहरों से कनेक्टीविटी की संभावनाओं को भी तलाशें।

बिरला ने कहा कि हाल ही में संसदीय क्षेत्र के प्रवास के दौरान जब वे गांवों में गए तो किसानों ने उन्हें एक्सप्रेस-वे के निर्माण से जुड़ी कई समस्याओं के बारे में बताया। इसमें मुआवजे की रकम, निर्माण कार्य के चलते ग्रामीणों के आवागमन का मार्ग बंद होना आदि शिकायतें हैं, जिन्हें जल्द दूर किया जाना आवश्यक है।
इसके अलावा किसानों व ग्रामीणों ने बताया कि निर्माण कार्य के दोरान मिट्टी की आवश्यकता की पूर्ति के लिए गांव में अनियमित खुदाई की जा रही है। यदि सही तरीके से खुदाई हो तो कई गांवों में तलाब बनाए जा सकते हैं, जिससे जल संरक्षण में भी सहायता मिलेगी। चर्चा के दौरान तय हुआ कि 16 जुलाई को कोटा में इन विषयों पर सुनवाई की जाएगी जिसमें एनएचएआई के अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

जल्द तैयार करें चम्बल एक्सप्रेस-वे की डीपीआर
लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने अधिकारियों से कोटा को ग्वालियर से जोड़ने वाली महत्वकांक्षी परियोजना चंबल एक्सप्रेस-वे को लेकर भी बात की। अधिकारियों ने बताया कि परियोजना की डीपीआर तैयार करने का काम चल रहा है। बिरला ने कहा कि इस प्रक्रिया को जल्द पूरा कर निर्माण कार्य से जुड़ी अन्य औपचारिकताओं को भी एक निश्चित अवधि में पूरा किया जाएगा। चंबल एक्सप्रेस-वे क्षेत्र में खुशहाली के नए द्वार खोलेगा। जनहित में इस प्रोजेक्ट पर अधिकारी विशेष ध्यान दें।
कोटा-रावतभाटा मार्ग को बनाएं राष्ट्रीय राजमार्ग
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि रावतभाटा देश का प्रमुख परमाणु ऊर्जा केंद्र हैं। यहां वर्ष भर अधिकारियों, पर्यवेक्षकों व अन्य कर्मचारियों का आना-जाना लगा रहता है। यह सब कोटा के रास्ते ही रावतभाटा जाते हैं, लेकिन इस मार्ग की हालत बेहद खराब है। सुरक्षा इंतजामों के दृष्टिकोण से भी इस मार्ग को बेहतर बनाए जाने की आवश्यकता है। अधिकारी कोटा-रावतभाटा मार्ग को राजमार्ग के दायरे में लाने की संभावनाएं तलाश करें।

नाॅर्दर्न बायपास जल्द शुरू करें
लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने अधिकारियों से नाॅर्दर्न बायपास को लेकर भी चर्चा की। अधिकारियों ने बताया कि प्रोजेक्ट का बड़ा हिस्सा पूरा हो गया है। कुछ हिस्से में मुआवजे को लेकर किसानों का विवाद है, इस कारण काम रूका हुआ है। बिरला ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों की मांगों पर सहानाभूति पूर्वक विचार कर समस्या को दूर करें तथा नाॅर्दर्न बायपास का निर्माण कार्य जल्द पूरा करें।
कोटा-सांगोद मार्ग की संभावनाएं तलाशें
लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने एनएचएआई के अधिकारियों को कोटा-सांगोद मार्ग के निर्माण की संभावनाएं तलाशने को भी कहा। कुछ समय पूर्व कोटा आए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सांगोद के रास्त कोटा से मध्य प्रदेश के धरनावदा तक राष्ट्रीय राजमार्ग बनाने की बात कही थी। बिरला ने कहा कि इस मार्ग पर भी ध्यान दिया जाए।