कलेक्टर ने योगाभ्यास कर की ‘‘ फिट बूंदी ‘‘ अभियान की शुरुआत ‘-‘निरोगी बूंदी ‘‘ अभियान में जुड़ा नया अध्याय

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- ‘‘ पहला सुख निरोगी काया ‘‘ को प्राथमिकता देते हुए जिला प्रशासन द्वारा निरोगी बूंदी अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान में शुक्रवार को योग का एक और अध्याय जुड़ गया जब जिला कलेक्टर रेणु जयपाल ने सथूर में योग शिविर में स्वयं योगासन कर फिट बूंदी अभियान का शुभारंभ किया। योगासन कर उन्होंने संदेश दिया कि योग सभी के लिए जरूरी है। इसे अपनी दिनचर्या का अंग बनाएं और स्वस्थ रहें।
जिला कलेक्टर रेणु जयपाल ने ‘‘ निरोगी बूंदी ‘‘ अभियान के अंतर्गत योगासन, प्राणायाम को जन जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से प्रत्येक ग्राम पंचायत तक योग शिविर आयोजन की रूपरेखा तैयार की है। इसकी शुरुआत शुक्रवार प्रातरू 6 बजे सथूर के राजीव गांधी सेवा केंद्र परिसर में योग शिविर से की गई। ‘‘योगा फॉर हैप्पीनेस‘‘ के सहयोग से सथूर में शुरू हुए 5 दिवसीय योग शिविर में ग्रामवासी एवं बूंदी शहर के योगाभ्यासी सम्मिलित हुए।
इस अवसर पर जिला कलेक्टर रेणु जयपाल ने कहा कि योग की महिमा सर्वविदित है। कोरोना काल में सबने इसे महसूस किया। बूंदीवासियों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए शुरू किए गए ‘‘ निरोगी बूंदी ‘‘ अभियान में योग एक अहम हिस्सा रहेगा। ‘‘ फिट बूंदी ‘‘ अभियान के माध्यम से योग को गांव-गांव, घर-घर पहुंचाया जाएगा। उन्होंने स्वयं अपनी शारीरिक परेशानी का जिक्र करते हुए बताया कि योग के नियमित अभ्यास से उन्हें बहुत राहत है। उन्होंने आह्वान किया कि सभी योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें और स्वस्थ रहें। शिविर में उन्होंने योगासन और प्राणायाम भी किए।
‘‘योगा फॉर हैप्पीनेस‘‘ के संयोजक भगवान आसावा ने बताया कि योग शिविरों का नियमित आयोजन विभिन्न स्थानों पर किया जाता रहा है, जिनसे लोग लाभान्वित होकर स्वस्थ हो रहे हैं। अब जिला प्रशासन के निर्देशन में ग्राम पंचायतवार शिविर लगाए जाएंगे। शिविर में सरल योगासन, प्राणायाम, ध्यान कराए जाते हैं जो आमजन से जुड़ी सामान्य तकलीफों में राहत पहुंचाते हैं और करने में सहज, सरल हैं। इनसे कब्ज, कमर दर्द, पीठ घुटनों मे समस्या, डिप्रेशन, ब्लड प्रेशर, शुगर, सर्वाइकल जैसी जीवनशैली जनित बीमारियों में राहत मिलती है। साथ ही मानसिक शांति और रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है।
‘‘ योग भगाए रोग ‘‘ से हुआ साक्षात
शिविर में मौजूद 90 वर्षीय मुकुट बिहारी बिलिया ने उनकी दिनचर्या में शामिल नियमित योगाभ्यास की जानकारी दी। बताया कि वे पूर्णतरू स्वस्थ हैं। अन्य योगाभ्यासियों ने भी अनुभव साझा किए कि वे किस तरह बीमारियों से ग्रसित थे और योग को जीवन में अपनाकर अब वे पूर्णतया स्वस्थ हैं।
पूर्व सरपंच रामअवतार मीणा, उमेश धाभाई, पूर्व पंचायत समिति सदस्य माया माहेश्वरी एवं अन्य ने जिला कलेक्टर का स्वागत किया। तथा इस पहल के लिए उन्हें साधुवाद दिया।
क्या है ‘‘ निरोगी बूंदी ‘‘ अभियान
‘‘ निरोगी बूंदी ‘‘ अभियान नवाचार जिला प्रशासन द्वारा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से आरंभ किया गया है। इसमें डोर टू डोर सर्वे के माध्यम से रोगों की स्थिति सामने आई है। विभिन्न बीमारियों से पीड़ित लोगों के समयबद्ध उपचार की कार्य योजना है। साथ ही योग एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता की मुहिम भी इसमें शामिल है। स्वास्थ्य से जुड़े विभिन्न पक्षों को शामिल करते हुए ‘‘ निरोगी बूंदी ‘‘ अभियान को व्यापक बनाया गया है।
—–