जन सुनवाई में प्राप्त समस्याओं को तय समय में निस्तारण हो सुनिश्चित- कलेक्टर

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- आमजन की भावना के अनुरूप पारदर्शी एवं संवेदनशील वातावरण में समस्याओं की सुनवाई एवं त्वरित समाधान के लिए राज्य सरकार की त्रिस्तरीय जन सुनवाई व्यवस्था के तहत गुरूवार को कलेक्ट्रेट परिसर स्थित जन सुविधा केन्द्र में जिला स्तरीय जन सुनवाई का आयोजन हुआ। इसमें जिला कलेक्टर डॉ. रविन्द्र गोस्वामी ने आमजन की समस्याएं सुनी और पेयजल, विद्युत, स्वास्थ्य, नाली, सफाई, खाद्य सुरक्षा, सामाजिक सुरक्षा आदि सहित कई विषयों से जुड़ी हुई समस्याओं का समाधान कर राहत दी। इस दौरान संबंधित अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनसुनवाई से जुड़े।
जनसुनवाई के दौरान प्राप्त प्रकरणों के संबंध में जिला कलेक्टर ने अधिकारियों तय समय में निस्तारण के निर्देश दिए। उन्होंने विद्युत संबंधी शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण किया। उन्होंने लाखेरी में नाले पर से अतिक्रमण हटाने की प्राप्त समस्या को लेकर उपखण्ड अधिकारी लाखेरी को निर्देश दिए कि नियमानुसार कार्रवाई कर अतिक्रमण हटाया जाए।
‘बेहतरीन बूंदी’ को मिली संभागीय आयुक्त की सराहना
जिला स्तरीय जन सुनवाई से वीसी के माध्यम से संभागीय आयुक्त दीपक नंदी भी जुडे़। उन्होंने बूंदी जिले में शांति, स्वच्छता एवं समृद्धि के लिए जिला कलेक्टर द्वारा शुरू किए गए ‘बेहतरीन बूंदी’ अभियान की सराहना की। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से जिला कलक्टर की इस मुहिम से शहरों के साथ-साथ गांवों में स्वच्छता आएगी।
जिला कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि शिक्षा विभाग पात्र बच्चों को शिक्षा का अधिकार दिलवाना सुनिश्चित करें। कोई भी पात्र योजना के लाभ से वंचित नहीं रहे, इसका ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि बैंकों द्वारा नोड्यूज के प्रकरणों में संबंधित को अनावश्यक परेशान नहीं करे, ऐसी शिकायत आने पर संबंधित के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। पात्र वंचित लोगों को पट्टे जारी किए जाए।
उन्हांेने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियंता को निर्देश दिए कि सड़कों के किनारे जल जमाव वाली जगह से पानी निकासी की व्यवस्था की जावे। उन्होंने विद्युत निगम के अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि जन सुनवाई के दौरान विद्युत आपूर्ति सुचारू रहे। इसके समुचित प्रबंध सुनिश्चित करें।
सिलिकोसिस पीड़ित को सहायता देने के निर्देश
सिलिकोसिस पीड़ित अहिर अब्बास के लिए जिला स्तरीय जन सुनवाई वरदान साबित हो गई। बीमारी से पीड़ित अहिर सहायता के लिए जिला कलक्टर के पास पहुंचा। इस पर जिला कलक्टर ने अहिर की समस्या जानी और संवेदनशीलता के साथ संबंधित अधिकारी तुरंत सहायता स्वीकृत करने के निर्देश दिए। जन सुनवाई में हाथों हाथ हुई उसकी समस्या के समाधान से अहिर अब्बास को राहत मिली तो उसने जिला कलक्टर को इसके लिए हाथ जोड़कर धन्यवाद दिया और राज्य सरकार की इस व्यवस्था की सराहना की।
इस दौरान जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि सिलिकोसिस पीड़ितों को सहायता प्रकरणों में अधिकारी बिल्कुल ढ़िलाई नहीं बरते और त्वरित कार्यवाही करते हुए सहायता राशि स्वीकृत करे।
जन सुनवाई के दौरान कुल 91 प्रकरण प्राप्त हुए। इनके लिए जिला कलक्टर ने निर्धारित समय सीमा में निस्तारण करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्हांेने संपर्क पोर्टल तथा सतर्कता समिति दर्ज प्रकरणांे की समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए।
जन सुनवाई के दौरान जिला प्रमुख चन्द्रावती कंवर, अतिरिक्त जिला कलक्टर करतार सिंह, अतिरिक्त जिला कलक्टर (सीलिंग) , मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोरीलाल सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।