मुख्यमंत्री ने कोरोना पर नियंत्रण पाने में मिली सफलता पर जनता का माना आभार

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com>>मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जबलपुर जिले में कोरोना पर नियंत्रण पाने में मिली सफलता का श्रेय जिले के नागरिकों, जन-प्रतिनिधियों, आपदा प्रबंधन समितियों के सदस्यों एवं समाज-सेवियों के समन्वित प्रयासों को देते हुए कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए की जा रही तैयारियों की सराहना की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज जबलपुर में मानस भवन में कोरोना वैक्सीन लगाने में उत्कृष्ट कार्य करने वाली जिले की ग्राम पंचायतों एवं स्थानीय निकायों के अभिनन्दन समारोह तथा टीकाकरण जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जबलपुर की जनता ने एकजुटता दिखाते हुए क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के साथ पूरी जीवटता से कोरोना के खिलाफ लड़ाई जारी रखी और इसमें सफलता भी पाई। मुख्यमंत्री ने कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए जबलपुर जिले में की गई तैयारियों के लिये प्रशासन की सराहना की। उन्होंने कहा कि जिस स्तर की जबलपुर में तैयारियाँ की गई हैं, उससे कोरोना की तीसरी लहर को रोकने में कामयाबी मिलेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लोगों से लगातार सावधानियाँ बरतने की अपील करते हुये आगाह किया कि थोड़ी सी भी ढिलाई का मतलब तीसरी लहर को निमंत्रण देना है। उन्होंने कहा कि ऐसे कई देशों के उदाहरण हमारे सामने है जहाँ घटते-घटते कोरोना के प्रकरणों की संख्या फिर से बढ़ने लगी है। इसलिये हमें लापरवाह नहीं होना है तथा मास्क पहनने और शारीरिक दूरी बनाये रखने के नियम का सख्ती से पालन करना होगा।

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-प्रतिनिधियों और आपदा प्रबंधन समितियों के सदस्यों से कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्र में जागरूकता अभियान चलायें तथा लोगों को कोरोना संकमण रोकने के अनुकूल व्यवहार अपनाने के लिये प्रेरित करें। उन्होंने वैक्सीनेशन के प्रति भी लोगों को जागरूक करने की आवश्कता बताते हुए कहा कि कोरोना के ज्यादा से ज्यादा टीके लगे, यह सभी की कोशिश होनी चाहिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि टीकाकारण होने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और या तो कोरोना नहीं होगा अथवा उसका ज्यादा विपरीत असर नहीं होगा। उन्होंने कोरोना के टीके को लेकर भ्रम की स्थिति खत्म होने पर भी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि लोगों में टीकाकरण के प्रति जागरूकता बढ़ना राहत की बात है।

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों के सदस्यों से कहा कि उनका काम अभी खत्म नहीं हुआ है। लोगों को शिक्षित और जागरूक करने का काम लगातार जारी रखना होगा। मुख्यमंत्री ने कमेटियों की हर पन्द्रह दिन में बैठकें करने की आवश्यकता बतायी। उन्होंने कहा कि कोशिश यह होनी चाहिये कोरोना की तीसरी लहर न आ पाये और यदि आती भी है तो पूरी मुस्तैदी के साथ उससे लड़ने तैयार रहें ताकि उसका असर कम से कम हो।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना के नये प्रकरणों में संक्रमित व्यक्ति को कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट करने पर जोर दिया, जिससे परिवार के बाकी सदस्य संक्रमित न हो पायें। उन्होंने ज्यादा से ज्यादा कोरोना टेस्ट करने की बात कही तथा संक्रमित व्यक्ति की कांटेक्ट ट्रेसिंग में उसके परिचितों और रिश्तेदारों को भी शामिल करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-प्रतिनिधियों से भी आग्रह किया कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में कोरोना टेस्ट कराने में प्रशासन का सहयोग करें। मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त की जिस तरह दूसरी लहर से निपटने में जबलपुर की जनता ने जन-प्रतिनिधियों और प्रशासन का सहयोग किया है, उसी तरह कोरोना की तीसरी लहर को न आने देने की लड़ाई भी जबलपुर की जनता एकजुटता के साथ लड़ेगी।

अनुकम्पा नियुक्ति के आदेश-पत्र दिये

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कोविड अनुकम्पा नियुक्ति योजना के पाँच प्रकरणों में मृत शासकीय कर्मचारियों के आश्रितों को नियुक्ति आदेश प्रदान किये। कोरोना काल में माता-पिता की मृत्यु से अनाथ हुए दो बच्चों को पाँच-पाँच हजार रुपये की मासिक आर्थिक सहायता के स्वीकृति-पत्र भी सौंपे।

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सौ फीसदी टीकाकरण करने पर जिले की 34 ग्राम पंचायतों, शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन वाली प्रदेश की पहली नगर पंचायत का गौरव हासिल करने वाली जिले की नगर पंचायत बरेला तथा नगर निगम जबलपुर के चन्द्रशेखर आजाद वार्ड की आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यों को अभिनंदन-पत्र भेंटकर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान के समक्ष जिले में कोरोना की तीसरी लहर को रोकने किये जा रहे प्रयासों के बारे में पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन भी दिया गया।

कार्यक्रम में जबलपुर जिले के प्रभारी मंत्री  गोपाल भार्गव, विधायक  अजय विश्नोई, श्रीमती नन्दिनी मरावी,  अशोक रोहाणी,  सुशील तिवारी इंदु,  लखन घनघोरिया,  विनय सक्सेना एवं  संजय यादव, जिला पंचायत की प्रशासकीय समिति की प्रधान श्रीमती मनोरमा पटेल, श्रीमती सुमित्रा वाल्मीकी, पूर्व मंत्री  अंचल सोनकर,  हरेंद्र जीत सिंह बब्बू एवं  शरद जैन,  आशीष दुबे,  अखिलेश जैन मौजूद थे।