दांडी यात्रा रैली से दिया बापू का शान्ति संदेश

बून्दीKrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com>>राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती वर्ष एवं स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में शुक्रवार 12 मार्च को प्रातः दांडी मार्च शांति रैली निकाली गई। अतिरिक्त जिला कलेक्टर एयू खान तथा गांधी जीवन दर्शन समिति के जिला संयोजक राजकुमार माथुर ने जिला कलेक्ट्रेट स्थित नॉलेज पार्क से रैली को हरी झंडी दिखाकर प्रारंभ किया। दांडी मार्च शांति रैली कलेक्ट्रेट परिसर से प्रारंभ होकर आजाद पार्क तक पहुंची। रैली में सम्मिलित व्यक्तियों ने गांधी टोपी धारण की और अधिकांश ने सफेद वस्त्र भी धारण किए। दांडी मार्च शांति रैली में शामिल विद्यार्थी गांधी की शिक्षाओं से लिखी तख्तियां हाथ में लेकर चल रहे थे। साथ ही देश भक्ति के नारे भी लगा रहे थे। रैली में काॅलेज एवं विविध प्रशिक्षण संस्थानों के विद्यार्थी आंगनबाडी कार्यकर्ता, स्काउट गाइड आदि सम्मिलित हुए।
       शांति मार्च की समाप्ति आजाद पार्क में हुई।इससे पूर्व कलेक्ट्रेट के नॉलेज पार्क में अतिरिक्त कलेक्टर एयू खान,उपखंड अधिकारी कैलाश गुर्जर, तहसीलदार लक्ष्मी नारायण प्रजापति, गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक एडवोकेट राजकुमार माथुर,शिफा उल हक,राज कुमार दाधीच, केसी वर्मा एवं अन्य ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया।
गांधी के संदेशों को आत्मसात करें- माथुर
शांति रैली के विसर्जन अवसर पर आजाद पार्क में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी को संबोधित करते हुए गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक राजकुमार माथुर ने कहा कि गांधी एक व्यक्तित्व ही नहीं अपितु समग्र जीवन दर्शन हैं। उनके संदेशों को आत्मसात कर उन्हें जीवन में अपनाकर ही गांधी को सच्ची श्रद्धांजलि दी जा सकती है। राज्य सरकार की मंशा अनुरूप गांधी जी पर आधारित विविध गतिविधियों के माध्यम से नई पीढ़ी को गांधी जीवन दर्शन से जोड़ा जा रहा है।इसी कड़ी में यह आयोजन रखा गया है।राजकीय महाविद्यालय हिंडोली के सहायक प्रोफेसर विकास कुमार शर्मा ने गांधी जीवन दर्शन को अद्वितीय बताते हुए मौजूदा दौर में उनकी शिक्षाओं की प्रासंगिकता को रेखांकित किया। राज कुमार दाधीच एडवोकेट ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी योगेश शर्मा,जिला खेल अधिकारी वाई वी सिंह एवं अन्य मौजूद रहे।