जल, जंगल जमीन बचाने का सदेश दे रही भुवनेश्वर की आयशा पण्डा बनी विजेता.

बून्दी .KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पर्यावरणीय सरोकारों के प्रति अपने विचारों की अभिव्यक्ति और बालक बालिकाओं को प्रकृति से जोड़ने के उद्देश्य से आयोजित की गई प्रतिपाल कौर स्मृति राष्ट्रीय पर्यावरण मित्र पोस्टर प्रतियोगिता का परिणाम गुरमीत सिंह तथा उमंग संस्थान की अध्यक्ष सविता लौरी द्वारा जारी किया गया।

 

उमंग संस्थान द्वारा पर्यावरण दिवस पर आयोजित इस ऑनलाइन पोस्टर प्रतियोगिता को परिणाम जारी करते हुए प्रतिपाल कौर मेमोरियल ट्रस्ट के अध्यक्ष गुरमीत सिंह ने बताया कि प्रतियोगिता के कनिष्ट वर्ग में उदयपुर की चार्वी माहेश्वरी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा बून्दी की मानवी शर्मा ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। वरिष्ट वर्ग में भुवनेश्वर उड़ीसा की आयशा पंडा ने प्रथम तथा बून्दी की प्रियांशी वर्मा ने द्वितीय प्रथान प्राप्त किया तथा वरिष्ठतम वर्ग में प्रथम स्थान पर पंचमहाल गुजरात के सतीश कुमार पुंजा भाई प्रजापत ने प्रथम स्थान पर तथा द्वितीय स्थान पर फ़ॉरबिसगंज बिहार के आशीष कुमार रहे। वहीं पब्लिक ऑपीनियन श्रेणी में उदयपुर की हिताक्षी गहलोत और सहरसा बिहार के सच्चिदानंद साह का चयन किया गया है।
परिणामों की श्रंखला में गुरमीत सिंह ने बताया कि सांत्वना पुरस्कारो हेतु फ़ॉरबिसगंज बिहार के राजेश कुमार , स्नेहा कुमारी, नई दिल्ली के आयुश ठाकुर, कोलार गोल्ड कर्नाटक की अनघा जीके, उदयपुर की चंचल बसेर, बून्दी की निधि गंगवाल, सौम्या जैन तथा वैशाली मीणा चयन किया गया। उमंग संस्थान की अध्यक्ष सविता लौरी ने सभी प्रतिभागियों के कार्य की सराहना करते हुए विजेताओं को शुभकामनाऐ दी।

 

पर्यावरण संरक्षण की बात करते हुए मुख्य निर्णायक रहे डाॅ॰ डॉ. आशीष श्रृंगी ने बताया कि बच्चों की रचनात्मक अभिव्यक्ति का देखते हुए इस प्रतियोगिता का परिणाम निकालना आसान नहीं रहा। परिणाम के लिए चयनीत बच्चों से व्यक्तिगत बात भी की गई। इसके लिए प्रतियोगिता का विषय और मौलिक विचारों के साथ रचनात्मकता पर भी ध्यान रखा गया।

 

इस अवसर पर प्रतियोगिता प्रभारी लोकेश कुमार जैन ने बताया कि प्रतियोगिता में राजस्थान सहित 10 राज्यों के 215 प्रतिभागियों ने भाग लेते हए उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।
प्रतियोगिता के निर्णायक पैनल में डाॅ॰युवराज सिंह के पर्यवेक्षण में सहआचार्य डॉ. आशीष श्रृंगी, प्राध्यापक सतीश शर्मा और आंतरिक सदस्य के रूप में बून्दी ब्रुश के संरक्षक नन्दप्रकाश शर्मा सम्मिलित रहे।

 

संस्थान के सचिव कृष्णकांत राठौड़ ने उमंग द्वारा आयोजित किये गए पर्यावरणीय कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए बताया कि संस्थान इसी प्रकार विभिन्न नवाचारात्मक गतिविधियों द्वारा बालक बालिकाओं की प्रतिभा को निरन्तर निखारने का कार्य करता रहेगा। इस मौके पर डॉ. आशीष श्रृंगी तथा गुरमीत सिंह ने कोविड काल मे आयोजित गतिविधियों के विजेता अंजलि राठौर, आशिफ़ा तस्लीम, मुस्कान सिंह, कनक राठौर, हरमन सिंह, दर्शप्रीत सिंह, मिताली सोनी को भी पुरस्कार प्रदान किये। इस अवसर पर वरिन्दर कौर, अमन दाधीच, रेहाना चिश्ति, महेश श्रृंगी मौजुद रहे।