प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड से बंदूक लूटने के बाद बदमाशों ने डेढ़ लाख में किया था सौदा, देहात पुलिस ने आरोपी पकड़े, एसपी ने प्रेसवार्ता में किया खुलासा

-महिला से लूटा गया मोबाइल व नगदी भी पुलिस ने की बरामद


भिण्ड। पुलिस कंट्रोल रूम में मंगलवार दोपहर 3 बजे आयोजित प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्रङ्क्षसह चौहान ने बताया विगत 23 नवम्बर को कटारे वाली गली से होंडा एजेंसी के गार्ड से लूटी गई, लायसेंसी बंदूक मय कारतूसों तथा उसकी समय ब्लॉक कॉलोनी के सामने बायपास रोड पर एक महिला के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था, जिस मामले में खुलासा करते हुए बताया कि करीब एक महीने पहले बंदूक लूट की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों को पुलिस ने दबोच लिया है। इस वारदात में चार बदमाश शामिल थे जिनमें तीन लोगों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया था। बंदूक लूट की वारदात के बाद बदमाशों ने चौथे बदमाश को डेढ़ लाख में बेचना बताई। पुलिस ने चारों बदमाशों को हिरासत में लिया है जिनसे और वारदातों के बारे में पूछताछ की जा रही है।

ऐसे हुई थी वारदात
एक महीने पहले बदमाशों ने रंजना नगर में रहने वाले प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड प्रदीप शर्मा पुत्र रामेश्वर दयाल शर्मा के साथ की थी। सिक्योरिटी गार्ड प्रमोद शर्मा 17 बटालियन के पास शिवम मोटर्स पर गार्ड की नौकरी करते थे। वे वारदात दिनांक को रात के समय हर रोज की तरह शिवम मोटर्स के मालिक विनोद शिवहर के साथ चार पहिया वाहन से गल्ला मंडी स्थित निवास पर छोडा, वहां से अपनी साइकिल पर सवार होकर बताश बाजार, पुरानी बस्ती होते हुए वीरेंद्र वाटिका होते हुए मरघट के रास्ते से जगराम नगर होकर रंजना नगर के लिए जा रहे थे। जगराम नगर में कटारे कोठी के पास पीछे से दो बाइक आई। गार्ड प्रदीप ने दोनों बाइकों को निकलने के लिए अपनी साइकिल को साइड से करके चलाते हुए जा रहे थे। तभी बाइक जैसे ही साइकिल के नजदीक आई तभी जोर से सिर पर डंडा मारा। सिर में डंडा लगते ही साइकिल सवार गार्ड प्रदीप जमीन पर गिर पड़ा और बदमाश बंदूक लूट कर भाग गए। दोनों बाइकों पर चार लोग सवार थे। अंधेरा होने की वजह से गार्ड ज्यादा कुछ देख नहीं सका। इसके बाद स्थानीय लोगों को वारदात की सूचना दी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायल गार्ड को अस्पताल में भर्ती कराया और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी।
प्रेसवार्ता लेते हुए एसपी ने बताया रैकी करके लूटी थी बंदूक

पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्रङ्क्षसह चौहान ने बताया तीन बदमाशों ने रैकी करके प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड से बंदूक लूट की वारदात की थी। आरोपित बदमाश छोटी मोटी-चोरी लूट की वारदात करते थे। मोटी रकम के लालच में आकर बंदूक लूट की वारदात को अंजाम दिया था। आरोपित तीनों युवकों ने चौथे बदमाश को एक लाख की बंदूक बेची थी। इसके बाद यह बंदूक आगे तीन से चार लाख में सौदा होने जा रहा था। पुलिस ने आरोपियों को दबोच लिया जिनसे बंदूक बरामद कर ली गई।
आरोपियों यह माल किया गया बरामद
पुलिस ने गिरफ्तार किये आरोपियों से एक रायफल, 8 राउंड, 2 बाइक, 9 हजार रुपये, एक मोबाइल, एक जैकिट, एक डंडा कुल मसरूका कीमत 4.50 लाख रुपये की बरामद की।

इनकी रही सराहनीय भूमिका
उक्त घटना के खुलासे में थाना प्रभारी रामबाबू सिंह यादव उनि शिवप्रताप, उनि बीरेन्द्र यादव, उनि रामशरण शर्मा, उनि कौशलेन्द्र गुर्जर, उनि विजय शिवहरे, सउनि सत्यवीर प्रआर गुरूदास, प्रआर सोनेन्द्र, प्रआर मृगेन्द्र, प्रआर राजेश प्रआर चतुर सिंह, प्रआर महेश, प्रआर सतेन्द्र आर सुभाष रायसिंह, सन्दीप, अनूप, बृजनन्दन, रवि, सुमित, दीपक, ज्ञानेन्द्र मिश्रा देवेन्द्र राहुल यादव की सराहनीय भूमिका रही।