दिव्यांग की सामाजिक निर्माण में अहम भूमिका है : राम शर्मा

बूंदी.KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com-  विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर यूनिसेफ के एक्शन एड व उमंग संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में गुरुवार को एक डिजिटल संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें मेडिकल सेवाओं से जुड़े सामाजिक जनजागृति अभियान के सहभागी फिल्म कलाकार, लेखक व कवि राम शर्मा कापरेन मुख्य अतिथि थे , वेब आयोजन की अध्यक्षता विकलांग विकास संगठन के प्रदेश अध्यक्ष हेमराज मीणा ने की। इस अवसर पर फ्री बीइंग मी अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व उन्नयन कार्यक्रम के समन्वयक सर्वेश तिवारी व एक्शन एड के जिला समन्वयक मांगीलाल शेखर मुख्य वक्ता थे।

दिव्यांगता के साथ विषम परिस्थितियों व संघर्षों से जूझकर बहुआयामी व्यक्तित्व के रूप में कोविड रोगियों की मेडिकल सेवा में जुटे राम शर्मा ने संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र में आयोजन की सार्थकता की चर्चा करते हुए कहा कि समाज के निर्माण व विकास में दिव्यांग की अहम भूमिका है, जिसे नकारा नहीं जा सकता है। दार्शनिक पहलू की जानकारी देंते हुए उन्होंने कहा कि दिव्यांग को केवल मंच व अवसर की आवश्यकता है हौसला उसमें स्वयं निहित है । मुख्य सत्र में व्यक्तित्व उन्नयन के अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम फ्री बीइंग मी के समन्वयक तिवारी ने दिव्यांग के व्यक्तित्व उन्नयन में मनोवैज्ञानिक पक्ष के साथ फ्री बीइंग मी कार्यक्रमों की प्रासंगिकता की जानकारी दी। शेखर ने यूनिसेफ के संदर्भ में आयोजन की महत्ता व अवष्श्यक्ता को स्पष्ट करते हुए सभी का अभिनन्दन किया।
अध्यक्षीय उद्बोधन में हेमराज मीणा ने कहा कि आज दिव्यांग के प्रति सामाजिक दृष्टिकोण में व्यापक बदलाव आया है तथा प्रोत्साहन के साथ आगे बढ़ने के लिए उनका मार्ग प्रशस्त किया जा रहा है उन्होंने विभिन्न आयोजन व गतिविधियों की पर प्रकाश डाला ।
आयोजन के तकनीकी सत्र में उमंग संस्थान के कृष्ण कान्त राठौर ने स्वयंसेवी संस्थाओं की दिव्यांग जन विकास में भूमिका की चर्चा करते हुए आयोजन की जानकारी दी व आभार प्रकट किया।