तहसील कार्यालय बना दलाली का अड्डा-हरी ओम त्रिपाठी

भाण्डेर.surendr ojha/ @www.rubarunews.com- भाजपा नेता एवं विधायक प्रतिनिधि हरीओम त्रिपाठी ने एक प्रेस का आयोजन निज निवास पर किया जिसमे उन्होने बताया कि तहसील कार्यालय दलाली का अड्डा बना हुआ है। बगैर दलालो के माध्यम से एसडीएम कार्यालय के कोई काम नही किये जा रहे है। एसडीएम की दलाली भिण्ड निवासी अमर सिंह करता है जो हमेशा एसडीएम कार्यालय में दलाली करता नजर आता है। जनता का कोई भी काम हो बगैर पैसे के नही हो रहे है। हर काम के अमर सिंह पैसे मांगता है तभी काम होता है। नगर परिषद कार्यालय में एसडीएम अरविन्द्र सिंह माहौर ने अपने दलाल छोड़ रखे है। जो नगर में घूमकर लोगो से जनहितैषी कार्यो के दस हजार से लेकर बीस हजार तक लोगो की मोटी रकम के माध्यम से काम करा रहे है। चाहे वो नामान्तरण हो, प्रधानमंत्री आवास, वगैर पैसो के कोई भी काम नही होता है। जिसके लिये नगर परिषद कार्यालय में पदस्थ कर्मचारी लक्ष्मी नारायण शर्मा, हरदास कुशवाहा, आउटसोर्स का कर्मचारी अखिलेश अहिरवार, प्रदीप श्रीवास्तव नगर में अवैध रूप से पैसो की उगाई करते है। भाजपा नेता हरीओम त्रिपाठी ने कहा कि एसडीएम अरविन्द सिंह माहौर तहसील मुख्यालय पर न रहकर दतिया से अपडाउन करते है। शासन के डीजल का दुरूपयोग कर आॅफिस के समय कार्यालय में न बैठकर शाम 5 बजे से रात्रि 11 बजे तक आॅफिस में बैठकर दलालो को बिठाकर काम किये जा रहे है। वहीं नगर नरिषद कार्यालय में 70 से 80 आउटसोर्स कर्मचारियो की फर्जी बिल भुगतान किये जा रहे है। नगर परिषद कार्यालय में पदस्थ लक्ष्मी नारायण शर्मा के द्वारा प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत के नाम पर दस से बीस हजार रूपये तक की अवैध वसूली की जा रही है। वही प्रोपट्री के नामान्तरण के नाम पर पन्द्रह हजार रूपये एसडीएम अरविन्द सिंह माहौर के नाम से लिये जा रहे है। उक्त कर्मचारी अपने आप को एसडीएम का चहेता कहता है। स्वच्छता सर्वेक्षण के नाम पर नगर को ओडीएफ घोषित करने के नाम से फर्जीवाड़ा कर पैसो का प्रशासक अरविन्द सिंह माहौर एवं नगर परिषद के द्वारा बंदरवाट किया जा रहा है। कृषि मण्डी मे किसानो के साथ खुली लूट की जा रही है। क्रेशर संचालकों केा भी एसडीएम अरविन्द सिंह माहौर द्वारा परेशान किया जा रहा है। भाण्डेर नगर मे दतिया रोड पर नगर की सीमा से बाहर एल ई डी हाईमास्क लाईट लगाकर नियम विरूद्ध भुगतान पूर्व सीएमओ राजीव जैन द्वारा किया गया। एसडीएम अरविन्द सिंह माहौर एवं पूर्व सीएमओ राजीव जैन क्षेत्रीय विधायक व सरकार की छवि खराब करने में लगे है।