जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने के लिए विधायक संजीव सिंह ने मुख्य सचिव को लिखा पत्र

भिण्ड। पिछले वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष भिण्ड जिले में वर्षा का औसत काफी कम रहा है। इस वर्ष जिले में पर्याप्त बरसात न होने के कारण किसानों की खरीफ की फसल उत्पादन में कमी आयी है। वर्षा की औसत मात्रा में आयी कमी को देखते हुए सदर विधायक संजीव सिंह कुशवाह ने मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने भिण्ड जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि भिण्ड जिले में इस वर्ष पिछले वर्षों की अपेक्षा कम बारिश हुई है जिससे जिले का अन्नदाता काफी परेशान है किसान भाई पहले से ही कर्ज के बोझ तले दबे हुए हैं। किसान देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं जो इस समय प्रकृति व सूखे के मार से त्रस्त हो चुके हैं। रबी की फसल की बोवनी में पर्याप्त पानी न मिलने से उत्पादन क्षमता काफी कम होगी। विधायक संजीव सिंह संजू ने कहा कि प्रदेश की सरकार किसान हितैषी है। इस समय जिले में किसानों की हालत दयनीय है किसान की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए भिण्ड जिले को सूखा ग्रस्त घोषित किया जाए।
जिले की औसत वर्षा 668.3 है। इस वर्ष महज 449.8 मिमी. वर्षा हुई है, गत वर्ष इस अवधि तक 755.3 मिमी. हो चुकी थी। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार 305.5 मिमी. वर्षा जिले में कम हुई है। भिण्ड विधानसभा में अब तक 458 मिमी. वर्षा हुई है, जबकि पिछले वर्ष 647.5 मिमी. वर्षा हुई थी। इससे जिले के अन्नदाता किसानों के सामने आजीविका का गम्भीर संकट उत्पन्न हो गया है। इस मुश्किल घड़ी में विधायक ने किसानों के हित में मुख्य सचिव को पत्र लिखकर जिले को जल्द ही सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग की है।