“ख्वाब सारे झूठे ” की नायिका  तूलिका सिंह क्यों है प्रमोशन से दूर? 

मुम्बई.शामी एम इरफ़ान/@www.rubarunews.com>> पिछले दिनों मुम्बई के अंधेरी पश्चिम में साउथ फिल्म इंडस्ट्री में बतौर एक्टिंग गुरु फेमस अब बॉलीवुड फिल्म निर्देशक बने दीपक बलदेव ठाकुर ने ग्लिटर फिल्म अकादमी और एजी एंटरटेनमेंट के द्वारा निर्मित रोमांटिक ड्रामा फिल्म “ख्वाब सारे झूटे” के स्टार कास्ट के साथ प्रेसवार्ता का आयोजन किया। यह फिल्म 7 फरवरी 2020 को होगी सिनेमाघरों में रिलीज और अब तक के फिल्म के प्रचार में नायिका तूलिका सिंह का न होना, एक सवाल पैद  करता है।यहाँ भी मीडिया को यह बात खटकी। आखिर फिल्म की नायिका तूलिका सिंह क्यों प्रमोशन और पब्लिसिटी से दूर हैं? जबकि यह उनकी डेब्यू फिल्म है। निर्माता- निर्देशक उनकी तारीफों के पुल बांधते रहते हैं और कोस्टार भी उनकी प्रशंसा करते हैं। नायक हर्ष कुमार बढ़-चढ़कर प्रचार में हिस्सा ले रहे हैं। खलनायक हिमायत खान भी प्रचार के दौरान निर्देशक के साथ रहते हैं। फिल्म बाहुबली में बाहुबली का टाइटल रोल करने वाले अदाकार प्रभास की पहली फिल्म के कैमरामैन रह चुके जवाहर रेड्डी साहेब निर्देशक दीपक बलदेव ठाकुर की अपकमिंग फिल्म ‘ख्वाब सारे झूठे’के सिनेमाटोग्राफर हैं। वह भी हैदराबाद से अजमेर, जयपुर और दिल्ली प्रमोशन के लिए जा चुके हैं। फिल्म “ख्वाब सारे झूठे” के निर्देशक दीपक बलदेव ठाकुर का कहना है कि इस फिल्म में कलाकार भले ही नए हैं मगर इसके सभी टेक्नीशियन दिग्गज लोग हैं।

दीपक बलदेव ठाकुर कहते हैं कि, ”जैसा कि टाइटल है रियल जीवन में भी ‘ख्वाब सारे झूठे’ होते हैं। ऐसा नहीं है कि सपने पूरे नहीं होते, लेकिन उसका एक प्रोसेस होता है। उसमे वर्षों लग जाते है। जैसे मैंने एक हिंदी फिल्म डायरेक्ट करने का ख्वाब देखा था लेकिन इस सपने को पूरे होने में पन्दरह साल लग गए। काफी मेहनत और चुनौतियों के बाद यह मुकाम हासिल किया। इस फिल्म में यह बताने की कोशिश की गई है कि, सपने देखिये मगर उसकी राहों में आने वाली दिक्कतों के लिए भी तैयार रहिये वरना सपने के साथ साथ जिंदगी भी बिखर के रह जाती है. आजकल युवा लोग कहते हैं कि उन्हें कैरियर सबसे अहम है. और इसी कैरियर के चक्कर में वह रिश्ते, नाते, रिलेशनशिप, एथिक्स और मोरल्स सबसे दूर चले जाते हैं। अंत में न तो उन्हें कैरियर में कामयाबी मिलती है और न ही रिश्ते निभा पाते हैं।”

बता दें कि, फिल्म के निर्देशक दीपक बलदेव ठाकुर खुद एक अच्छे अभिनेता हैं और वह सालों से साउथ में एक्टिंग गुरु के रूप में भी जाने जाते हैं। उनकी हैदराबाद में एक्टिंग अकैडमी है। जहां से बहुत से कलाकार एक्टिंग सीखकर साउथ की फिल्म इंडस्ट्री में अपना नाम रोशन कर रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेत्री नेहा शर्मा भी उन्हीं की देन है। एक्टिंग गुरु दीपक बलदेव ठाकुर साउथ फिल्म इंडस्ट्री में एक्टिंग सिखाने के साथ-साथ कास्टिंग का भी कार्य करते हैं। वह कई बड़े निर्देशकों के साथ साउथ में एसोसिएट डायरेक्टर के रूप में भी कार्य कर चुके हैं। वह बतौर निर्माता भी एक फिल्म का निर्माण कर चुके हैं। उनके डायरेक्शन में बनी यह पहली फिल्म है।

निर्देशक दीपक बलदेव ठाकुर का आगे कहना है कि, यह प्रोजेक्ट मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। साउथ की फिल्म इंडस्ट्री में सालों काम करने के बाद मुझे यह मौक़ा मिला, इसलिए मुझे बहुत ही बारीकी के साथ अच्छी तरीके से काम को अंजाम देना था। जब मैं कहानी लिख रहा था, तो मुझे इस बात का अंदाजा था कि चीजों को कैसे बनाया जाए।

युवा निर्माता अजय गौतम अपने बैनर एजी एंटरटेनमेंट के तहत दर्शकों को फिल्म पेश करने के लिए बहुत उत्साहित हैं। यह उनकी पहली फिल्म नहीं है। इस फिल्म से पहले भी निर्माता अजय गौतम एक बॉलीवुड हिंदी फिल्म “नंबर गेम” का निर्माण कर चुके हैं। युवा निर्माता के पास नई प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने की योजना है। उन्होंने कहा, मुख्य जोड़ी हर्ष और तूलिका ने चरित्र बखूबी निभाया है और मुझे विश्वास है कि, फिल्म को दर्शकों द्वारा सराहा जाएगा।

अभिनेता हर्ष कुमार का कहना है कि, हालांकि मैं इस फिल्म से डेब्यू कर रहा हूं. लेकिन मेरे निर्देशक ने मुझे कभी महसूस नहीं होने दिया कि मैं नया हूं। दरअसल मैं हैदराबाद में उनसे ही एक्टिंग सीख रहा था और उन्होंने मुझे ऑडिशन के बाद अपनी फिल्म में कास्ट कर लिया। माहौल बहुत सहज था और मैंने शूटिंग की हर प्रक्रिया का आनंद लिया है. इस फिल्म में मैंने व्यवसायी व्यक्ति का किरदार किया है, जो अपने व्यस्त जीवन से एक विराम चाहता है। इस प्रक्रिया में उसे एक लड़की से प्यार हो  प्यार हो जाता है। आगे क्या होता है, यह आप फ़िल्म में देखिएगा आगामी 7 फरवरी को।

इस फिल्म में संगीत संजीव कुमार का है। संजीव कुमार ने इस फिल्म में गाने भी लिखे हैं। कंपोज भी किया है और एक सॉन्ग को अपना स्वर भी दिया है। संजीव कुमार की बतौर संगीतकार और गीतकार ‘ख्वाब सारे झूठे’ पहली फिल्म है और इस फिल्म के शीर्षक गीत को स्वर दिया है शाहिद माल्या ने।

फिल्म युवा महिलाओं के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने कार्यों के प्रभाव को जाने बिना अपने सपनों को हासिल करना चाहती हैं। दीपक बलदेव ठाकुर का कहना है कि, अभिनेत्री तूलिका सिंह ने किरदार निभाने में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है, जिससे उन्हें कई पुरस्कार मिलेंगे। लेकिन तूलिका की गैरमौजूदगी पर उनका सिर्फ इतना कहना है कि, शायद वह वर्क में बिजी हैं, इस लिए नहीं आयीं। अगले प्रमोशन में जरूर साथ होगी। फिल्म को अनामिका स्टूडियोज द्वारा 7 फरवरी 2020 को रिलीज़ किया जाएगा।

 

Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com