उत्तरप्रदेश में “राज्यस्तरीय पंचायत संसद” का आयोजन

लखनऊ rubarudesk/@www.rubarunews.com>.तीसरी सरकार अभियान की पहल पर, पंचायतों के संस्थागत विकास हेतु उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में “राज्य स्तरीय पंचायत संसद” का आयोजन किया गया। यह आयोजन ‘राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज संस्थान’ हैदराबाद, के तत्वावधान में ‘राज्य ग्रामीण विकास संस्थान’ लखनऊ, ‘पंचायतीराज विभाग’ उ०प्र० तथा ‘मिशन समृद्धि’ चेन्नई के सहयोग एवं सहभागिता के साथ आयोजित हुआ। कार्यक्रम का शुभारम्भ 03 जनवरी 2020 को अपराह्न 03 बजे राज्य ग्रामीण विकास संस्थान लखनऊ में तथा समापन समारोह 05 जनवरी 2020 को प्रातः 10 बजे से 02 बजे अपराह्न तक इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, लखनऊ में सम्पन्न हुआ।

राज्य स्तरीय पंचायत संसद में प्रदेश के चयनित 50 जिलों से लगभग 350 ग्राम सभा सदस्य, पंचायत प्रतिनिधि तथा सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि सहित लगभग कुल 400 लोगों ने अपनी सहभागी बने ।

इस आयोजन में 3 व 4 जनवरी को “जिलास्तरीय पंचायत पार्लियामेंट” की संस्तुतियों पर गहन चर्चा के उपरांत “संघ सरकार” , “राज्य सरकार”, पंचायतीराज संस्थाओं”, “ग्रामसभा सदस्यों” तथा “सामाजिक संगठनों” के लिए प्रस्ताव पारित किया गया । इसी के साथ 50 जिलों से आये प्रतिनिधियों ने वर्ष 2020 के लिए एक कार्ययोजना का भी निर्माण किया ।

तीसरी सरकार अभियान, पंचायतों के संस्थागत विकास हेतु जन सहयोग से संचालित, एक लोक अभियान है। यह विगत पाँच वर्षों से ग्रामीण क्षेत्रों में 73वें संविधान संशोधन तथा राज्यों के पंचायतीराज अधिनियम के प्रति लोगो को जागरूक करने तथा उन्हें गतिशील बनाने के कार्य में लगा है। पांच वर्ष की यात्रा पूरी करने के उपलक्ष्य में ही एक सघन अभियान का नियोजन “पंचायत संसद” के रूप में किया।

“पंचायत संसद” का मुख्य उद्देश्य, पंचायतीराज संस्थाओं को संविधान के अनुसार ‘अपनी सरकार’ (Self-Government) के रूप में विकसित करना तथा इसके उपायों की पहचान करने हेतु वयस्क नागरिकों के बीच संवाद स्थापित करना है। इस संवाद से प्राप्त निष्कर्षों के आधार पर संघ एवं राज्य सरकार को सुझाव देना है। इसके अतिरिक्त ‘अपनी सरकार’ के प्रतिनिधियों की क्षमताओं और कुशलताओं को विकसित करने हेतु सहायक की भूमिका का निर्वाह करना हैं। इसके साथ ही ग्रामीण लोगों में उनकी सक्रिय सहभागिता, स्वैच्छिक योगदान और स्वामित्व के बारे में जागरूकता भी उत्पन्न करना है। इसके लिए पंचायत संसद कार्यक्रम को प्रदेश में तीन स्तरों पर आयोजित किया गया। जिसमें क्लस्टर स्तरीय “ग्राम संसद”, “जिला स्तरीय पंचायत पार्लियामेंट” एवं “राज्यस्तरीय पंचायत संसद”शामिल है।

इस अभियान के तहत क्लस्टर स्तरीय “ग्राम संसद” का आयोजन 20 अक्टूबर 2019 से शुरू किया गया। अब तक प्रदेश के 50 जिलों में 600 से अधिक ग्राम संसदों का आयोजन किया जा चुका है। ग्राम संसदों का आयोजन 5 से 7 ग्राम पंचायत क्षेत्र को मिला कर बने सघन एरिया में किया गया। जिसमें संबंधित क्षेत्र के पंचायत प्रतिनिधि, ग्राम सभा सदस्य, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि, सरकारी सेवा से निवृत व्यक्ति एवं पंचायत क्षेत्र में कार्यरत कर्मचारी आदि सम्मिलित हुए। ग्राम संसद में पंचायतों के संस्थागत विकास, ग्राम पंचायत विकास योजना, ग्रामीण नेतृत्व विकास, सामाजिक एवं मानव विकास तथा सामूहिक एवं स्वैच्छिक कार्य आदि विषयों पर गंभीर चर्चा हुई। इन विषयों पर जमीनी स्तर से महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए, जिन्हें संकलित कर जिला पंचायत पार्लियामेंट में चर्चा करने के लिए प्रस्तुत किया गया।

चयनित जिलों में 50 जिलास्तरीय पंचायत पार्लियामेंट का आयोजन 27 नवंबर 2019 से 2 जनवरी 2020 तक किया गया। प्रत्येक जिले में चर्चा के बाद जो निष्कर्ष और सुझाव प्राप्त हुए हैं, उन्हें ही संकलित कर, “राज्यस्तरीय पंचायत संसद” में विचार कर सभी स्तरों के लिए प्रस्ताव तैयार किया गया।

“राज्यस्तरीय पंचायत पार्लियामेंट” के अन्तिम दिन 5 जनवरी को प्रथम सत्र की अध्यक्षता प्रमुख राजनीतिक विचारक तथा राज्यसभा के पूर्व सचेतक डॉ. महेश चंद शर्मा ने तथा दूसरे सत्र की अध्यक्षता राष्ट्रीय ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज संस्थान के महानिदेशक डॉ. डब्लू आर रेड्डी ने की ।अन्य अतिथि वक्ताओं में राज्य ग्रामीण विकास संस्थान,उत्तरप्रदेश के महानिदेशक श्री वेंकटेश्वर लू , झारखंड के ग्रामीण विकास विभाग के कमिश्नर श्री सिद्धार्थ त्रिपाठी , नेहरू युवा केन्द्र संगठन के उपाध्यक्ष श्री दिनेश प्रताप सिंह ,मिशन समृद्धि के संस्थापक श्री अरुण जैन तथा उत्तरप्रदेश पंचायतीराज विभाग की संयुक्त निदेशिका सुश्री प्रवीना चौधरी रहीं ।
“पंचायत संसद” के कार्यक्रमो का संचालन तीसरी सरकार अभियान के संस्थापक डॉ. चंन्द्रशेखर प्राण तथा मिशन समृद्धि के सह संस्थापक योगेश आंडले द्वारा किया गया ।

पंचायत संसद के आयोजन में NIRDPR से डॉ प्रत्युषणा , श्री तकिउद्दीन तथा..SIRD से श्री उपाध्याय (अपर निदेशक ), श्री रंजन (उपनिदेशक), श्री अनूप श्रीवास्तव (सहायक निदेशक ), मिशन समृद्धि से डॉ नरेंद्र मेहरोत्रा तथा तीसरी सरकार अभियान की ओर से सर्वश्री अनिल तिवारी, विनोद मिश्र ,रूपेश रोहित , प्रशांत मिश्र तथा आलोक रंजन की भूमिका प्रमुख रही ।

Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com

कायाकल्प अवार्ड समारोह में भिण्ड जिला अस्पताल को मिला द्वितीय स्थान

क्षय रोग से पीडित मरीजो का निरंतर उपचार किया जावे-कलेक्टर

कोविशिल्ड वैक्सीन की पहली खेप रवाना

दतिया मृत कौआ के नमूने में बर्डफ्लू स्ट्रैन एच-5 की पुष्टि