मतदान, राष्ट्र धर्म पालन का पवित्र कार्य : राज्यपाल श्री पटेल

भोपाल.Desk/ @www.rubarunews.com>>राज्यपाल  मंगुभाई पटेल ने कहा है कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में मताधिकार का उपयोग राष्ट्र धर्म पालन का पवित्र कार्य है। यह सरकारों की जवाबदेही सुनिश्चित करने और लोकतंत्र के पूर्ण लाभों को प्राप्त करने का सबसे प्रभावी तरीका है। नागरिकों से अपील है कि राष्ट्र के सजग नागरिक के रूप में अनिवार्यतः मतदान प्रक्रिया में सहभागिता करें। उन्होंने कहा है कि प्रत्येक नागरिक अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज कराए। दूसरों को भी मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिये प्रेरित करें।

राज्यपाल श्री पटेल कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर, भोपाल में 12वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने मतदाताओं को शपथ ग्रहण कराई। स्टेट ऑइकन अभिनेता  राजीव वर्मा और गोविंद नामदेव भी मंचासीन थे।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि यह अत्यंत गौरव की बात है कि हम सब विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के मतदाता हैं। लोकतंत्र की सफलता का आधार स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन और योग्य, ईमानदार जन-प्रतिनिधियों का चुनाव है। लोकतंत्र की मजबूती के लिए सभी नागरिक मताधिकार का उपयोग करें। इसके लिए जरूरी है कि मतदाता सूची में पात्र व्यक्तियों का नाम दर्ज हो। वोटर जागरूकता के साथ मताधिकार का विवेकपूर्ण उपयोग करें। उन्होंने निर्वाचन आयोग द्वारा युवाओं और नागरिकों की मतदाता शिक्षा एवं निर्वाचन सहभागिता के लिए चलाए गए स्वीप अभियान, मतदाता साक्षरता क्लब, मतदाता जागरूकता फोरम आदि प्रयासों की सराहना की। उन्होंने निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचक नामावली की गुणवत्ता और चुनाव प्रबंधन में आधुनिक सूचना प्रौद्योगिकी, एनवीएसपी पोर्टल एवं वोटर हेल्पलाइन एप के बेहतर उपयोग पर प्रसन्नता व्यक्त की। दिव्यांगजन, वृद्धों आदि के लिए की गई सुगम मतदान व्यवस्थाओं की भी सराहना की।

आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग  बी.पी. सिंह ने कहा कि लोकतंत्र की नींव वोट है। मतदान के अधिकार का उपयोग तभी हो सकता है, जब मतदाता का नाम क्षेत्र की मतदाता सूची में दर्ज हो। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता सूची में नाम जोड़ने की प्रक्रिया को निरंतर सरल बनाया जा रहा है। मतदाता सूची पुनरीक्षण का कार्य भी व्यापक स्तर पर किया जाता है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी  अनुपम राजन ने राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर मुख्य निर्वाचन आयुक्त के संदेश का वाचन किया। अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी  राजेश कौल ने निर्वाचन आयोग द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। कलेक्टर भोपाल  अविनाश लवानिया ने आभार माना।

राज्यपाल श्री पटेल ने मतदाता दिवस पर नव मतदाताओं को इपिक कार्ड प्रदान किए। “मतदान की अनिवार्यता” पर आयोजित निबंध प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया। फोटो निर्वाचक नामावली के संक्षिप्त पुनरीक्षण, सर्वाधिक पंजीकरण, जेंडर अनुपात में वृद्धि, नवीन मतदाता जोड़ने आदि उत्कृष्ट कार्यों के लिए जिला स्तरीय और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में पदस्थ अधिकारी, कर्मचारियों को भी प्रशस्ति-पत्र से सम्मानित किया गया।