एक ही परिवार के कुंआ में पानी की मोटर ठीक करने उतरे तीन युवकों की जहरीली गैस रिसाव से मौत

 

-मृतक परिजनों ने सड़क पर लगाया जाम, एसपी की गाड़ी घेरी

भिण्ड। कुंआ में फुंकी पड़ी पानी की मोटर को ठीक करने के लिए एक युवक उतारा तो वह काफी देर तक बाहर नहीं आया, तो गांव के दो युवक उसे बचाने के लिए कूद पड़े, जिसके बाद उनकी भी किसी तरह की आवाज नहीं आई, तो अन्य ग्रामीणों कुंआ के पास जाते तो बेहोश होकर गिर पड़ते, जिसके बाद लोगों ने अंदाजा लगाया कि इसमें से जहरीली गैस निकल रही है जिस कारण लोगों की तबियत बिगड़ गई और वह कुंआ में फसे रहे गये। इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी गई तो मौके पर पहुंचकर एनडीआरएफ टीम के द्वारा बचाव कार्य शुरु किया गया तो तीनों युवक कुंआ से मृत मिले। जिसके बाद परिजनों ने हंगामा शुरु कर दिया और हाइवे पर जाम लगा दिया। यह हादसा अटेर थाना क्षेत्र के ग्राम परा में घटित हुआ। घटना की सूचना पुलिस अधीक्षक को मिली तो मौके पर गांव पहुंचे तो आक्रोशित ग्रामीणों ने उनकी गाड़ी घेर ली और नारेबाजी शुरु कर दी। पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों व मृतक परिजनों को आश्वासन दिया है की मामले की पूरी जांच करायी जायेगी, इसके साथ ही जो भी शासन से मदद होगी दिलायी जाने का आश्वासन दिया और घटना स्थल तक स्वयं एसपी दलदल में धसकर मृतकों के पास पहुंचे और घटना की पूरी जानकारी ली। पुलिस ने तीनों मृतकों के शव एंबुलेंस की सहायता से जिला अस्पताल लेकर पहुंचे और पीएम कराकर परिजनों के हवाले कर दिया। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर विवेचना में लिया है।

कुंआ में उतरे तीन युवकों की जहरीली गैस से दम घुटने से मौत

पुलिस के अनुसार शुक्रवार सुबह लगभग 9 बजे हनीफ खां पुत्र मिजाजी खा, भूरे खां पुत्र नाथू खां, बसारत खां पुत्र दफेदार खां निवासीगण ग्राम परा जो गांव में एक कुंआ पर पानी की मोटर ठीक करने के लिए उतरे थे और उसमें जहरीली गैस मोटर में रिसाव के चलते उनका दम घुटने लगा और बेहोश होकर उसी में गिर पड़े, जब कई घंटों बाद तीनों की आवाज कुंआ से नहीं आई तो ग्रामीणजन कुंआ के पास पहुंचते तो वह भी बेहोश होकर गिर पड़ते थे, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई और तीनों के शवों को कुंआ से बाहर निकाला गया।

मृतक परिजन व ग्रामीणों ने सड़क पर लगाया जाम

जहरीली गैस के रिसाब से तीन युवकों की मौत के बाद मृतक परिजन व ग्रामीणों ने सड़क पर जाम लगाकर आवागमन ठप्प कर दिया, जिसकी सूचना अटेर थाने पुलिस को लगी तो बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स पहुंचा और ग्रामीणों से जाम खोलने के लिए बोला, लेकिन पुलिस की किसी ने एक नहीं सुनी, घटना के कुछ घंटे बाद पुलिस अधीक्षक पहुंचे तो उनकी गाड़ी घेर ली और नारेबाजी शुरु कर दिया, जिसके बाद एसपी ने लोगों को मामले में जांच व मुआवजा दिलाये जाने की बात कहीं, तब जाकर कहीं जाम खुला।

घटना स्थल पर पहुंचे यह अधिकारी

अटेर क्षेत्र के ग्राम परा में मृतक परिजनों द्वारा सड़क पर हंगामे की सूचना जब जिला प्रशासन को मिली तो मौके पर पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह, एसडीएम उदयसिंह सिकरवार, तहसीलदार मनोजसिंह, एसडीओपी एसएस तोमर, थाना प्रभारी संजय एक्का, सब इंस्पेक्टर अतुल भदौरिया, पटवारी मधुसूदन भदौरिया सहित बचाव दल मौजद रहा।

इनका कहना है:

कुंआ में जहरीली गैस के रिसाव के चलते तीन युवकों की मौत हो गई है और मृतक परिजनों को शासन से जो मुआवजा होगा वह दिलाया जायेगा।

-एसएस तोमर, एसडीओपी अटेर