जवानों ने देश के लिए अपना जो खून बहाया है वो व्यर्थ नहीं जाएगा-गृह मंत्री

प्रत्यक्षा सक्सेना बीजापुर(छत्तीसगढ़).Desk/ @www.rubarunews.com>> छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शानिवार को माओवादियों के साथ सुरक्षाबलो के साथ  मुठभेड़ हुई हैं जिसकी पुष्टि डी जी अशोक जुनेजा(DG Ashok Juneja) ने की साथ ही बस्तर के एस पी ने बताया हैं कि 22 जवानों के शाहिद होने की पुष्टि के साथ उनके शव बरामद कर लिए गए है  एवं 31 जवान घायल है जिन्हें  अस्पताल में भर्ती करने के बाद स्थिति स्थिर बनी हुई हैं एक कोबरा जवान लापता हैं जिसकी तलाश जारी हैं सीआरपीएफ़ द्वारा दी गयी जानकारी अनुसार बीजापुर मुठभेड़ में 25-30 नक्सली माओवादी भी मारे गए हैं।




सुरक्षा बल के शहीद हुए जवानो के नाम  1. दीपक भारद्वाज (सब इंस्पेक्टर), 2. रमेश कुमार जुर्री (हेड कॉन्स्टेबल), 3. नारायण सोढ़ी (हेड कॉन्स्टेबल), 4. रमेश कोरसा (कॉन्स्टेबल), 5. सुभाष नायक (कॉन्स्टेबल), 6. किशोर एंड्रिक (असिस्टेंट कॉन्स्टेबल), 7. सनकूराम सोढ़ी (असिस्टेंट कॉन्स्टेबल), 8. भोसाराम करटामी (असिस्टेंट कॉन्स्टेबल), 9. श्रवण कश्यप (हेड कॉन्स्टेबल), 10. रामदास कोर्राम (कॉन्स्टेबल), 11. जगतराम कंवर (कॉन्स्टेबल), 12. सुखसिंह फरस (कॉन्स्टेबल), 13. रमाशंकर पैकरा (कॉन्स्टेबल), 14. शंकरनाथ (कॉन्स्टेबल), 15. दिलीप कुमार दास (इंस्पेक्टर), 16. राजकुमार यादव (हेड कॉन्स्टेबल), 17. शंभूराय (कॉन्स्टेबल), 18. धर्मदेव कुमार (कॉन्स्टेबल), 19. शखामुरी मुराली कृष्ण (कॉन्स्टेबल), 20. रथू जगदीश (कॉन्स्टेबल), 21. बबलू रंभा (कॉन्स्टेबल), 22. समैया माड़वी (कॉन्स्टेबल).

 

इससे पहले नक्सल ऑपरेशन के डीजी अशोक जुनेजा ने बताया था कि “घटनास्थल पर पहुँची सुरक्षाबलों की टीम को आज (रविवार सुबह) 20 शव बरामद हुए. इसके अलावा ख़बर मिली है कि मुठभेड़ के बाद माओवादी अपने घायल साथियों को तीन ट्रैक्टर-ट्रालियों की मदद से ले गये थे. जिसकी की जाँच की जा रही है.”

विभिन्न स्रोतों के अनुसार एक किलोमीटर के दायरे में कई जगह जवानों के शव पड़े हुए थे, जिन्हें मौक़े पर पहुँची एसटीएफ़ की टीम ने बरामद किया.

पिछले कुछ सालों में छत्तीसगढ़ में यह माओवादियों का सबसे बड़ा हमला माना जा रहा है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल(Chhattisgarh Chief Minister Bhupesh Baghel) ने माओवादियों से मुठभेड़ में जवानों की मौत पर दुख व्यक्त किया है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि हमारे जवानों की शहादत बेकार नहीं जायेगी.



केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह(Union Home Minister Amit Shah) के आवास पर बीजापुर (छत्तीसगढ़) में सुरक्षाकर्मियों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ को लेकर चल रही बैठक संपन्न हुई। गृह मंत्री अमित शाह(Union Home Minister Amit Shah) अपने आवास पर छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक कर रहे हैं। बैठक में गृह सचिव अजय भल्ला, IB के निदेशक अरविंद कुमार और CRPF के वरिष्ठ अधिकारी भाग ले रहे हैं।

 गृह मंत्री अमित शाह ने इस घटना पर कहा

“मैं जवानों को श्रद्धांजलि देता हूं और उनके परिवार और देश को विश्वास दिलाता हूं कि जवानों ने देश के लिए अपना जो खून बहाया है वो व्यर्थ नहीं जाएगा। नक्सलियों के खिलाफ मजबूती के सा​थ हमारी लड़ाई चलती रहेगी और हम इसे परिणाम तक ले जाएंगे”

 

 





प्रधानमंत्री मोदी ने इस घटना पर कहा

प्रधानमंत्री मोदी(Prime Minister Modi) ने इस घटना के बाद एक ट्वीट में लिखा, “छत्तीसगढ़ में माओवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए जवानों के परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. वीर शहीदों की कुर्बानियों को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा. घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूँ.”