कुरीति को नकारा, पाई परिणय की ’’खुशी’’, कलेक्टर रेणु ने किया कन्यादान

बून्दी.KrishnakantRathorr/ @www.rubarunews.com-  जिले में समुदाय विशेष के कुछ गांवांे में व्याप्त कुरीति को समाप्त कर समाज को मुख्यधारा में लाने के उद्देश्य से जिला प्रशासन द्वारा चलाया जा रहा ’’ऑपरेशन अस्मिता’’ पीडितों की आवाज बन रहा है। मंगलवार को रामनगर निवासी एक युवक युवती इस अभियान से प्रेरणा पाकर कुरीति के दलदल से दूर दाम्पत्य जीवन जीने की चाह लेकर आए जिनका जिला प्रशासन की देखरेख में विवाह सम्पन्न कराया गया। जिला कलेक्टर रेणु जयपाल ने स्वयं कन्यादान कर वरवधू को आशीर्वाद दिया और कुरीति को नकारने के लिए उनका हौसला बढाया।

रामनगर निवासी युवक राजू और युवती खुशी मंगलवार सुबह जिला कलेक्टर से मिले और बताया कि वे एक दूसरे से विवाह करना चाहते हैं लेकिन समाज की कुरीति के अनुसार कन्या पक्ष एवं पंच पटेल द्वारा कई लाख की रकम की मांग की जा रही है जो युवक देने में असमर्थ है। विवाह भी जल्द करना चाहते हैं ताकि देह व्यापार जैसी कुरीति के चक्र में ना फंस जाएं। इस पर जिला कलेक्टर ने उनसे समझाइश की और विवाह के बारे में सोच विचार कर निर्णय लेने की बात कही। युवक-युवती ने बताया कि वे तीन साल से एक दूसरे को जानते हैं और विवाह का निर्णय ले चुके हैं लेकिन समाज की उक्त कुरीति के कारण उनका मिलन नहीं हो पा रहा। इस पर जिला कलेक्टर ने मंगलवार को ही दोनों का विवाह कराने का निर्णय लिया और चंद घंटांे में ही प्रेमी युगल का विवाह कराकर उन्हें खुशहाल जीवन जीने का आशीर्वाद दिया। कलेक्टर ने विवाह मंडप में विधि विधान के साथ मंत्रोच्चार के साथ कन्यादान किया।
विवाह आयोजन पंजाबी जन सेवा समिति द्वारा संचालित माता वैष्णो देवी मंदिर के सभागार में कराया गया। विवाह की व्यवस्थाएं ऑपरेशन अस्मिता के अंतर्गत विवाह आयोजन समिति संयोजक के सी वर्मा ने संभाली। अन्य संस्थाओं एवं समाजसेवियों का भी सहयोग रहा। वर वधू को वस्त्र आभूषण, बेग, सिलाई मशीन, पंखा एवं अन्य वस्तुएं उपहार में दी गई। विवाह आयोजन में बाल कल्याण समिति अध्यक्ष सीमा पोद्दार, महेश बहेड़िया, चन्द्रसिंह राज पुरोहित, चन्द्र प्रकाश सेठी, रविन्द्र कुमार वधवा, राजेश आनन्द, सुमित आनन्द, प्रवीण सालूजा, कविश अजनानी, संदीप, सुमित, ध्रुव व्यास, असरार भाई, राकेश सुंवालका, सर्वजीत कौर, रेखा शर्मा, श्यामलता, राशि माहेश्वरी, चाईल्ड लाइन से महिमा शर्मा, प्रीति, सुमन व अन्य उपस्थित रहे। विवाह संस्कार पं.संदीप चतुर्वेदी ने कराया।

स्वरोजगार प्रशिक्षण से बनाएंगे स्वावलम्बी
जिला कलेक्टर ने बताया कि देह व्यापार की कुरीति से प्रभावित गांवों में ऑपरेशन अस्मिता के अन्तर्गत युवक-युवतियों को स्वरोजगार प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा ताकि वे स्वावलंबी बन सकें। साथ ही सायंकालीन विद्यालय भी शुरू किया गया है ताकि शिक्षा के प्रसार से कुरीतियों का अंत हो सके।
विवाह आयोजन समिति गठित
’’ऑपरेशन अस्मिता’’ के अन्तर्गत इच्छुक युवक युवतियों के विवाह आयोजन संबंधी व्यवस्थाओं के लिए जिला कलक्टर ने विवाह आयोजन समिति का गठन किया है। के.सी. वर्मा को समिति का संयोजक बनाया गया है। कलेक्टर ने बताया कि समुदाय विशेष बहुल गांवों में जो युवक युवती कुरीतियां त्याग वैवाहिक जीवन में आना चाहते हैं, उनका सामूहिक विवाह कराया जाएगा। समिति इसके लिए सभी व्यवस्थाएं करेगी।

पढना चाहती है खुशी
रामनगर निवासी युवती खुशी से जिला कलेक्टर ने बातचीत की तो उसने बताया कि वह निरक्षर है लेकिन पढना चाहती है। इस पर कलेक्टर ने उसे शिक्षा से जोडने के लिए संबंधित संस्था सदस्यों को निर्देशित किया।युवक राजू बीए का छात्र है, वह भी आगंे पढ कर अच्छा करियर बनाना चाहता है।