अदानी अंबानी के नए कंपनी राज के खिलाफ देश एकजुट हो रहा है : देवेंद्र सिंह चौहान

भिण्ड.ShashiKantGoyal/ @www.rubarunews.com>> अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति एवं किसान संयुक्त मोर्चा के राष्ट्रीय आव्हान पर नेताजी की 125 वीं जयंती पर भिंड में नेताजी कीप्रतिमा स्थल पर दोपहर 12:00 बजे माल्यार्पण किया गया एवं राष्ट्रीय किसान आंदोलन के साथ भिंड जिले की जनता ने एकजुटता प्रकट की नेताजी सुभाष चंद्र बोस का नारा तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा के नारे के साथ नेताजी अपने साथ जनता को भी त्याग और कुर्बानी देने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं वर्तमान सरकारे. नेताजी को भुला देने का काम कर रही हैं। आजादी की लड़ाई का 96 साल  के इतिहास का सुनहरा अध्याय सुभाष चंद्र बोस का है सन् 1857 अंग्रेजी कंपनी के खिलाफ जंग में गरीब किसानों के वर्दीधारी बेटों ने दिल्ली पर चढ़ाई करके व कब्जा करके अपने खून से दिल्ली के आसपास की जमीन को जरखेज (उपजाऊ) बनाया है उसी का नतीजा है कि आज फासीवादी मोदी सरकार अदानी अंबानी के नए कंपनी राज के खिलाफ लाखों लाख किसानों ने देश की रक्षा संविधान की रक्षा और लोकतंत्र की रक्षा के लिए फिर दिल्ली को घेरा है उक्त वक्तव्य  किसान संघर्ष समिति के  देवेंद्र सिंह चौहान एडवोकेट ने  प्रेस को जारी विज्ञप्ति में दिए। उन्होंने याद दिलाया कि विषम परिस्थितियों के दौरान अंग्रेजों ने भी ऐसे कानून बनाए थे जिनमें ना वकील ना अपील ना दलील के लिए प्रावधान थे आज उसी तरह के कानून किसान को गुलाम और मजदूर बनाने के लिए मोदी सरकार ने अलोकतांत्रिक ढंग से बनाए हैं। सन 1973 में कोलकाता एयरपोर्ट का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस रखा गया था जिसे भाजपा मोदी सरकार ने 2019 में नाम बदलकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी कर दिया नेता जी ने देश की जनता व समाज से आजादी लेने एवं आजादी रक्षा के लिए खून मांगा था। आज लोग पीड़ितों की जान बचाने के लिए रक्तदान कर रहे हैं लेकिन उसी रक्त पर जो मरीज की जान बचाता है मोदी सरकार ने टैक्स लगा दिया है जिसे चुकाना अनिवार्य है यह सरकार खून की प्यासी है।

नेताजी की इच्छा थी कि लाल किले की  प्राचीर से देश की आन बान शान राष्ट्रध्वज सम्मान से हराया जाए लाल किला आजाद हिंद फौज क्रांतिकारियों का अ_ारह सौ सत्तावन की क्रांति का प्रतीक है लेकिन 130 करोड़ आबादी वाला देश 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था वाले का नारा देने वाले भाजपा नीति मोदी सरकार लाल किले को गिरवी रख दिया है आज गिरवी रखे हुए किराए के भवन पर तिरंगा फहराया जाता है जनता फैसला करें कि कौन देशभक्त है और कौन देशद्रोही है

आज के कार्यक्रम में अनूप भदोरिया, जनक सिंह, विनोद सुमन, मुन्ना बाथम, बच्चू लाल हरसाना, प्रभु दयाल  शेजवार, जोया खान, उपमा दोनेरिया, श्री कृष्ण बाल्मीकि, अवधेश भदोरिया, शाहबाज खान, सूरज सिंह यादव, अरविंद प्रजापति, गेंदालाल धाकरे, रायसिंह, प्रकाश, जनार्दन रेड्डी, गोपाल गुप्ता, रामकरण डॉक्टर नदीम प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।