लक्ष्य एकेडमी के विद्यार्थियों ने किया जिले का नाम रोशन

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com- शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़े माने जाने वाले श्योपुर जिले की जब बात आती है तो ऐसा लगता है कि यहाँ के विद्यार्थी कभी कुछ नहीं कर पाएंगे लेकिन यहां की मिट्टी ने आज ऐसा कुछ कर दिखाया है जिससे श्योपुर वालों का नाम गर्व से ऊंचा हो चुका है बात सीटेट एग्जाम की करते हैं जिसमें देश भर में मात्र 4 परसेंट लोग ही सफल हो पाते हैं लेकिन श्योपुर के एक नहीं दो नहीं बल्कि अपने पहले ही प्रयास में इस मिट्टी के 7 बच्चों ने एक साथ एग्जाम को क्वालीफाई करके दिखा दिया है कि यहां के बच्चों में भी बकायदा पूरा पूरा दम है। यह सपना साकार यूं ही नहीं हुआ , यहां की शिक्षा का स्तर यह था कि यहां की मिट्टी में जन्मे राजेश राठौर को कहीं और से जाकर शिक्षा ग्रहण करनी पड़ी ।




शिक्षा उन्होंने ऐसी प्राप्त कि, कि आज वह सरकारी पद पर चयनित है। लेकिन उन्होंने देखा कि मेरे जिले में शिक्षा का स्तर में सुधार करने की बड़ी आवश्यकता है, ऐसा कुछ संकल्प लेकर उन्होंने “लक्ष्य एकेडमी श्योपुर” की स्थापना की और निश्चय किया कि मैं अपने जिले के बच्चों को सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शन दूंगा ।




उन्होंने साल भर में ही उन बच्चों के साथ मेहनत की और उन बच्चों को ऐसा मार्गदर्शन दिया कि उन बच्चों ने एक ही बार में अपना सीटेट एग्जाम निकाल दिया। साथ ही एक अन्य बच्चे को दिल्ली पुलिस लिखित परीक्षा में भी सफलता दिलवाई । बहुत ही कम समय ऐसी सफलता कैसे प्राप्त कर सकते है,इस संबंद में लक्ष्य एकेडमी श्योपुर के द्वारा श्योपुर के विद्यार्थियों के लिए शानिवार के दिन फ्री सेमीनार भी आयोजित किया गया जिसमें किसी भी कंपटीशन एग्जाम में पहले ही प्रयास में सफलता प्राप्त करने के गूढ़ रहस्यों की चर्चा की गई एवं मार्गदर्शन इंदौर और जयपुर से आए विषय विशेषज्ञों द्वारा दिया गया ।



साथ ही एकेडमी के जिन विद्यार्थियों ने पहले ही प्रयास में सफलता प्राप्त की उन्हें सम्मानित किया गया जिसमें 7 विद्यार्थियों ने सीटेट में सफलता प्राप्त कर श्योपुर का नाम रोशन किया । जिनमें राजकुमार माहोर,भावना गर्ग,कुलदीप राठौर,विष्णु सुमन,रुकमणी इंदौलिया, निर्मल गर्ग, रितिका शर्मा, शामिल है । साथ ही लवकुश सिंह ने दिल्ली पुलिस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सभी का नाम रोशन किया है।