नेता जी सुभाषचंद्र बोस के आदर्शो को नई पीढी तक पहुंचावे-एसपी

 श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव की उपस्थिति में राज्य शासन के निर्देशानुसार  नेताजी सुभाषचद्र बोस की 125वी जयंती पराक्रम दिवस के रूप में कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में आज मनाने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। कलेक्टर ने नेताजी  सुभाषचन्द्र बोस की जयंती के कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों तथा विभिन्न विभागो के अधिकारी/कर्मचारियों ने उनके चित्र पर पुष्प आर्पित किये।

पुलिस अधीक्षक  सम्पत उपाध्याय ने कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि नेता जी श्री सुभाषचंन्द्र बोस के आदर्शो को नई पीढी के सामने लाने के पहल की जावे। नेता जी द्वारा स्वतंत्रता संग्राम में अपनी महती भूमिका अदा की थी। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान एक प्लेन में गये हुए थे। वह प्लेन क्रेश हो गया था। उनके आदर्श बहुत बडे थे। उनके द्वारा किये गये कार्य साहित्यों में भी उल्लेखित है। नेता जी ने देश के निर्माण में अपनी भूमिका का निर्वहन कर आजादी दिलाने में अपनी भागीदारी अदा की थी। इसी प्रकार बाबा साहेब अम्बेडकर ने भी संविधान के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था।
  पूर्व विधायक  सत्यभानू चौहान ने कार्यक्रम में उद्बोधन देते हुए कहा कि नेताजी  सुभाषचन्द्र बोस स्वतंत्रता संग्राम के महान योद्धा था। उनकी 125वी जंयती मनाई जा रही है। नेता जी अपने समय में बडे-बडे पदो पर आसीन रहे थे। उन्होने कहा कि नेता जी के इतिहास को हम सभी को पढना चाहिए। उनके द्वारा स्वतंत्रता आन्दोलन के दौरान अण्डमान में झण्डा फहराया था। ऐसे योद्धा का विचार हम सभी को जन-जन तक पहुचाने की पहल की जावे। साथ ही उनकी याद में कार्यक्रम चलते रहें। ऐसी मेरी कामना है।
भाजपा की पार्टी पदाधिकारी श्रीमती मिथलेश तोमर ने नेताजी  सुभाषचन्द्र बोस की जंयती कार्यक्रम में अवगत कराया कि श्योपुर के नागदा में एक स्थान पर नेता जी रहे थे। ऐसी चर्चाऐं इस क्षेत्र में पूर्व में आई थी। परंतु उनका पता नही कि उनकी मृत्यु कब और कहा हुई थी। इस दिशा में कोई भी जानकारी भी नही मिली है। नेताजी  सुभाषचन्द्र बोस ने देश के स्वतंत्रता संग्राम में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उनका वैभव और पराक्रम हम सभी को याद दिलाता है।
कार्यक्रम में समाजसेवी  रामप्रसाद पारेता ने अवगत कराया कि नेताजी  सुभाषचन्द्र बोस का जन्मदिवस को हम पराक्रम दिवस के रूप में मना रहे है। उनके द्वारा राष्ट्रधर्म निभाते हुए स्वतंत्रता संग्राम में अपने कर्तव्यों का भलीभांत निर्वहन किया था। नेताजी उस समय एक योद्धा के रूप में पहचाने जाते थे। उन्होने देश को आजादी दिलाने में अपना धर्म निभाया था। जिसका उल्लेख साहित्य में भी मिलता है।
डिप्टी कलेक्टर  विजेन्द्र सिंह यादव ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कार्यक्रम में अवगत कराया कि नेता जी श्री सुभाषचद्र बोस की जयंती पर हम सभी एकत्रित हुए है। उनका जन्म 1897 में हुआ था। 15 वर्ष की आयु में देश में चल रहे स्वतंत्रता आन्दोलन में चैथा स्थान प्राप्त कर अपनी प्रवीणता को दर्शाया था। साथ ही उस समय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान मिली जिम्मेदारियों का निर्वहन उनके द्वारा एक योद्धा के रूप में किया था। उन्होने कहा कि नेता जी  सुभाषचन्द्र बोस के स्वतंत्रता के आन्दोलन के दौरान ईटली, जर्मनी, जापान से अच्छे संबंध थे। उनका उस समय एक विमान के्रश में देहांत हो गया था। उनका जन्मदिवस आज देश में पराक्रम दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। डिप्टी कलेक्टर श्री यादव ने कार्यक्रम के अतं में सभी के प्रति आभार प्रदर्शित किया।

कार्यक्रम में कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव के अलावा पुलिस अधीक्षक  सम्पत उपाध्याय, पूर्व विधायक  सत्यभानू चौहान, भाजपा के पदाधिकारी श्रीमती मिथलेश तोमर, श्रीमती सरोज तोमर, पार्षद श्रीमती रमा बैष्णव, मंडल अध्यक्ष  दिनेश दुबोलिया, पूर्व मंडल अध्यक्ष  सत्यनारायण यादव, समाजसेवी  रामप्रसाद पारेता, डिप्टी कलेक्टर  विजेन्द्र सिंह यादव, विभागीय अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।