माँ की काली करतूत- नाबालिग बेटी की शादी कराने के बाद दामाद पर लगाया भगा ले जाने का इल्जाम

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> एक महिला ने लालच में अपनी नाबालिग बेटी की जिंदगी बर्बाद कर दी। मामला रावतपुरा थाना क्षेत्र के नरौल गांव का है। यहां रहने वाली लक्ष्मी बरार ने पहले अपनी नाबालिग बेटी की शादी करा दी। फिर खुद ही दामाद के खिलाफ उसे भगा ले जाने का केस दर्ज करा दिया। पुलिस ने जब दामाद और बेटी को गिरफ्तार किया तो बेटी ने बताया कि उसकी मां 50 हजार रुपए के लिए उसकी दूसरी शादी कराना चाहती है, जबकि पहली शादी भी उसने ही कराई थी। पुलिस ने नाबालिग के बयान के आधार पर उसकी मां और पति के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

रावतपुरा थाना प्रभारी कांति राजपूत के मुताबिक लक्ष्मी बरार ने बीते दिनों शिकायत दी थी। उसने बताया था कि उसकी 15 साल की बेटी को कैथा गांव का रहने वाला रामू शर्मा भगा ले गया। इसके बाद पुलिस ने सोमवार को चौरई के पास से युवक और लड़की को बरामद कर लिया। पुलिस ने जब नाबालिग से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसकी मां ने ही जन्माष्टमी से पहले उसकी शादी रामू (20) से कराई है। इस शादी का पूरा खर्च भी रामू ने उठाया। अब वह बेटी पर दूसरी जगह शादी करने का दबाव डाल रही है। इसके लिए उसने 50 हजार रुपए लिए हैं। लड़की ने पुलिस को बताया कि वह अब दूसरी शादी नहीं करना चाहती है। इस बात पर पुलिस ने लड़की की मां लक्ष्मी को पकड़ा और आस-पास के लोगों से पूछताछ की। पुलिस ने जब पड़ताल की तो कागजी दस्तोवजों में किशोरी की उम्र साढ़े 13 साल है। इसके बाद पुलिस ने शादी के दौरान के फोटो बरामद कर लिए। पुलिस ने इस मामले में महिला को बाल विवाह अधिनियम के तहत आरोपी बनाया है। वहीं, रामू शर्मा को पुलिस ने दोषी मानते हुए दुष्कर्म, एससी-एसटी और पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज कर लिया। इसके अलावा पुलिस अब 50 हजार रुपए में दूसरी शादी कराने वाले एंगल से भी जांच कर रही है।

पूरा मामला पति से छिपाया, कहा- घर से भाग गई है

पुलिस के मुताबिक इस पूरे मामले की जानकारी महिला ने परिवार और पति को नहीं दी। महिला लहार में बस स्टैंड के पास बायपास रोड पर किराए के मकान में रहती है। उसकी दो बेटी और दो बेटे हैं। पति, ग्वालियर में रहकर मजदूरी करता है। यह महिला ने परिवार वालों के छिपकर बड़ी बेटी की शादी कर दी थी। इसके बाद परिवार वालों को लड़की भाग जाने की कहानी सुनाई।