प्रसूति सहायता में देरी पर एएनएम एवं बीपीएम का कटेगा वेतन Salary of ANM and BPM will be deducted for delay in maternity assistance

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>> आयोजित मिनी समाधान कार्यक्रम अंतर्गत प्रसूति सहायता योजना के एक मामले में अनमोल पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन में विलम्ब के लिए संबंधित एएनएम एवं ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर श्योपुर का 7-7 दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये गये। सीएम हेल्पलाइन में जाकिर मोहम्मद द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई थी, उसकी पुत्री श्रीमती रूकसार का प्रसव श्योपुर जिला अस्पताल में हुआ था, लेकिन प्रसूति योजना के तहत लाभ प्राप्त नही हुआ है। इस मामले में डॉ जेएन सक्सैना ने जानकारी दी कि मामला संज्ञान में आने के बाद पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर सहायता राशि का भुगतान संबंधित हितग्राही को कर दिया गया है, इस प्रकरण में रजिस्ट्रेशन करने में लापरवाही पर उक्त दोनो कर्मचारियों के वेतन काटे जाने के निर्देश दिये गये है।
गलत जवाब पर कार्यवाही के निर्देश

प्रसूति सहायता में देरी पर एएनएम एवं बीपीएम का कटेगा वेतन Salary of ANM and BPM will be deducted for delay in maternity assistance

कराहल निवासी कुलदीप दुबे द्वारा शिकायत की गई थी कि विधुत बिल में गडबडी के कारण अधिक राशि का बिल दिया गया, जिसमें सुधार करने की मांग की गई। उक्त प्रकरण में संबंधित तत्कालीन प्रबंधक विधुत मंडल  विकास केसरवानी द्वारा एल-1 स्तर से गलत जवाब भर दिया गया। समाधान कार्यक्रम के दौरान विधुत अधिकारियों ने जानकारी दी कि उक्त आवेदक के बिजली बिल में 207 यूनिट का समायोजन कर शिकायत का निराकरण कर दिया गया है। इस मामले में कलेक्टर शिवम वर्मा द्वारा गलत जवाब भरने के लिए तत्कालीन प्रबंधक केसरवानी के खिलाफ कार्यवाही किये जाने हेतु वरिष्ठ कार्यालय को पत्र लिखने के निर्देश दिये गये।

कलेक्टर ने की वीडियो कॉलिंग पर चर्चा
कलेक्टर शिवम वर्मा द्वारा छात्रवृति संबंधी सीएम हेल्पलाइन शिकायत पर छात्र  अजय आर्य से वीडियो कॉलिंग कर बात करते हुए समस्या के संबंध में जानकारी ली गई। छात्र ने बताया कि उसे पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति का लाभ नही मिला है। इस मामले में निर्देश दिये गये कि सबंधित कॉलेज के अधिकारी एवं छात्र को समक्ष में बुलाकर शिकायत का निराकरण करने की कार्यवाही की जायें।
अभियान चलाकर सुधारे शांतिधाम की व्यवस्थाएं
कलेक्टर शिवम वर्मा द्वारा मिनी समाधान कार्यक्रम अंतर्गत प्राप्त एक शिकायत के निराकरण के संदर्भ में निर्देश दिये कि पूरे जिले में शांतिधाम की व्यवस्थाएं अभियान चलाकर सुधारी जायें। सीईओ जिला पंचायत जिला स्तर से तथा जनपद सीईओ जनपद स्तर से मॉनीटरिंग कर अपने-अपने क्षेत्र की पंचायतों एवं गांव में निर्मित शांतिधाम की व्यवस्था सुधारने के लिए अभियान चलाते हुए मॉनीटरिंग करें। पंचायत सचिवों के माध्यम से सभी शांतिधाम में बाउन्ड्री, चबूतरे, गेट, एप्रोच रोड, रास्तों की साफ-सफाई जो भी कमिया हो, उन्हें दूर कराये जाने का कार्य करें। इसके अलावा सभी जगह पौधरोपण किया जायें।
उन्होंने कहा कि एक माह में अभियान चलाकर सभी पंचायतों में व्यवस्थाएं दुरूस्त कराने की कार्यवाही करें। यह निर्देश सीएम हेल्पलाइन में रायपुरा निवासी छोटूलाल की शिकायत के निराकरण के दौरान दिये गये। उक्त आवेदक द्वारा शिकायत की गई थी कि ग्राम रायपुरा में शांतिधाम के रास्ते पर अतिक्रमण एवं साफ-सफाई नही होने से परेशानी का सामना करना पडता है।
इसके साथ ही एसडीएम कार्यालय विजयपुर में उपस्थित होकर वर्चुअली जुडे आवेदक  दीवारी लाल कुशवाह निवासी विजयपुर के सीमाकंन मामले में एसडीएम विजयपुर को विधि संमत कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।