सुरक्षित गर्भ समापन की सेवाएं देने पर एक्ट के अनुसार निर्धारित जानकारी संधारित करें- डॉ. आर.बी.कुरेले

एमटीपी एक्ट के तहत गठित जिला स्तरीय समिति (डीएलसी) की समीक्षा बैठक संपन्न
जिले में संचालित MTP केन्द्रों की प्रभावी निगरानी करने की।आवश्यकता- रामजीशरण राय
दतिया @rubarunews.com>>>>>>>>>>>>>>>> जिले में अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार महिलाओं को सुरक्षित व चिकित्सकीय गर्भ समापन (मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रग्नेंसी) की सुरक्षित व बेहतर सेवाएं मुहैया हो सके इसका हमें ध्यान रखना है साथ ही अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार सेवाएं प्रदान करते समय आवश्यक दस्तावेजीकरण, निर्धारित प्रपत्र संधारित करने की महती आवश्यकता है। उक्त विचार एमटीपी एक्ट के तहत गठित जिला स्तरीय समिति (डीएलसी) दतिया की आयोजित समीक्षा बैठक में अध्यक्षता करते हुए डॉ. आर.बी. कुरेले मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दतिया ने व्यक्त किए।


नोडल अधिकारी (MTP) डॉ. हेमंत मंडेलिया ने जिले की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया साथ ही आगामी प्रयासों के बारे में जानकारी दी। विगत बैठकों में लिए गए निर्णयों पर व्यापक चर्चा की गई। जिले में सुरक्षित गर्भासमापन की सेवाएं प्रदान करने वाले संस्थानों को बढ़ाने की बात करते हुए संचालित MTP केन्द्रों की प्रभावी निगरानी करने हेतु जिला स्तरीय समिति सदस्य रामजीशरण राय ने कही। ताकि जरूरतमंद महिलाएं इस सेवा का लाभ उठा सकें। श्री राय ने एमटीपी एक्ट हुए संशोधन के बारे में व्यापक जानकारी प्रस्तुतीकरण के माध्यम से दी।


स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ. मधुबाला गुप्ता जिला स्तरीय समिति सदस्य ने मासिक रिपोर्टिंग की प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी। चिकित्सकीय गर्भ समापन के लिए कानून के तहत निर्धारित समयावधि आदि की जानकारी दी। आयोजित जिला स्तरीय बैठक समिति सदस्य सर्जन विशेषज्ञ डॉ. आर.एन.आर्य, निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. एच.एम. उज्जैनिया, डॉ. मधुबाला गुप्ता ने उपस्थित रहकर अपने-अपने विचार व्यक्त किए।


समीक्षा बैठक में जिले में संचालित अशासकीय स्वास्थ्य संस्थानों के संचालकों ने सहभागिता की। जिसमें लाडो रतन, बुंदेलखंड हॉस्पिटल, श्री कृष्णा हॉस्पिटल, माँ पीताम्बरा हॉस्पिटल व श्री सिद्धिविनायक हॉस्पिटल आदि के संचालक व प्रतिनिधि उपस्थित रहे। आभार व्यक्त डॉ. अमित अहिरवार ने किया। उक्त जानकारी श्रीमती मीनाक्षी शर्मा द्वारा दी गई।