30 हजार से अधिक रेडियम डॉट से बनी महात्मा गाँधी के पोट्रेट ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-  सत्य, अहिंसा और सत्याग्रह के पुजारी महात्मा गाँधी की 151 जयंती के उपलक्ष्य में डॉ. निधि प्रजापति के द्वारा बनाई विश्व की सबसे बड़ी रेडियम डॉट्स के महात्मा गाँधी की पेंटिंग ने गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है | जिसके प्रशस्ति पत्र को आज कोटा विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. नीलिमा सिंह ने सोसाइटी हैस ईव इंटरनेशनल चैरिटेबल ट्रस्ट की अध्यक्ष डॉ. निधि प्रजापति को प्रदान किया |

इस अवसर पर कुलपति प्रो. नीलिमा सिंह ने डॉ. निधि प्रजापति को आशीर्वाद व बधाई देते हुए कहा की कोटा के लिए ही नहीं वरन देश के लिए गर्व की बात है की हमारे विश्वविद्यालय से सम्बंधित व्याख्याता ने वैश्विक स्तर पर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना है | चूँकि वर्ल्ड रिकॉर्ड महात्मा गाँधी की पेंटिंग पर मिला तो उन्होंने कहा की गाँधी जी ने जिस ऊर्जा, लगन और तपस्या से देश को आजादी दिलाई थी यदि उसी उर्जा के साथ देश के युवा सही दिशा में बड़े तो वर्तमान में कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न हुए देश के हालातों में सुधार आ सकता है और प्रगति की और बढ़ेंगे | युवाओं को अपनी सोच सकारात्मक और सृजनशील रखते हुए आगे आना चाहिए |

डॉ. निधि प्रजापति ने बताया की इस पेंटिंग को बनाने में उन्हें पुरे दो माह का समय लगा जिसमे पहले एक माह में रेडियम के स्क्रैप से पेपर पंचिंग मशीन की सहायता से डॉट्स के गोल स्टीकर तैयार किये गए तत्पश्चात उन्हें 8’ X 4’ फीट की प्लाई पर प्रतिदिन चार से पांच घंटे नियमित रूप से देते हुए तीस हजार से अधिक रेडियम डॉट्स से गाँधी जी की प्रतिमा को रूप देते हुए पेंटिंग बनाई गई | पेंटिंग के लिए रेडियम डॉ. निधि ने अपने पिता की शॉप से जो रेडियम उपयोग में लेने के बाद वेस्ट बच जाता था उसका प्रयोग किया | पेंटिंग में गाँधी जी की परछाई को बादलों से झलकते हुए दर्शाया गया है जो ये दर्शाता है की आज भी गाँधी के आचार, विचार, दर्शन, नियमों और अनुशासन की आवश्यकता है |