कोविड के मरीज का झोलाछाप कर रहे उपचार-इलाज के दौरान मौत

भिण्ड[email protected]>> जिले के फूप कस्बे में रहने वाले बलराम बघेल की शनिवार की सुबह उपचार के दौरान मौत हो गई। वे तीन दिन पहले पहले उपचार के लिए जिला अस्पताल में आए थे। यहां जांच दौरान वे कोविड पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया। युवक की उपचार के दौरान मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार फूप के रहने वाले बलराम उम्र35 वर्ष का दूध डेयरी व मिठाई का कारोबार नासिक महाराष्ट्र में था। वे बीते दिनों नवदुर्गा उत्सव के दौरान अपने गांव आए थे। गांव में माता की झांकी, जवारे का धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसी बीच स्वास्थ्य खराब हुआए सर्दी जुखाम और सांस लेने में परेशानी हुई तो युवक ने गांव के ही झोलाछाप डॉक्टरों को दिखाया। गांव के झोलाछाप डॉक्टर, युवक का इलाज भांप देकर करते रहे। जब ज्यादा समस्या आई तो जिला अस्तपाल में भर्ती कराया गया। यहां चिकित्सकों ने कोविड जांच कराई तो पॉजिटिव आई। युवक का ऑक्सीजन लेबल लगातार कम आ रहा था। मृतक का भतीजा रामनरेश बघेल उर्फ गुरु का कहना है कि चाचा बलराम को जिला अस्पताल में उपचार के लिए गुरुवार की शाम को लाए थे। यहां आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया। रात के समय ऑक्सीजन सिलेंडर खत्म हो गया। इसके बाद चाचा बलराम की हालत बिगड गई। डॉक्टरों ने चाचा को वेंटिलेटर पर ले लिया। इसके बाद लगातार हालात खराब होती गई। इस तरह शनिवार की सुबह मौत हो गई।