वन सुरक्षा- जीवन रक्षा की थीम पर आयोजित हुई इंवेस्टीचर हाइक Investiture hike organized on the theme of forest protection – survival

बूंदी.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-  राजकीय महाविद्यालय, बूंदी के रोवर क्रू द्वारा एक दिवसीय वार्षिक इंवेस्टीचर हाइक वन सुरक्षा- जीवन रक्षा की थीम पर चतरगंज गांव में स्थित श्री गंगरावल जी महाराज के प्राकृतिक और भौगोलिक स्थल पर आयोजित हुई। हाइक के दौरान 14वां आदर्श रोवर क्रू एवं जी एल जोशी रोवर क्रू के सभी रोवर्स ने हाइक स्थल श्री गंगरावल महाराज के मंदिर की प्राकृतिक दशाओं का अवलोकन करते हुए रोवर्स के द्वारा हाइक स्थल पर सघन स्वच्छता कार्यक्रम चलाया गया। स्वच्छता कार्यक्रम के दौरान रोवर्स ने संपूर्ण परिसर में फैली हुई प्लास्टिक थैलियों तथा अवांछित वस्तुओं की सफाई की और आसपास के ग्रामीणों को अस्वच्छता एवं प्लास्टिक की वस्तुओं से होने वाले नुकसानों के बारे में जागरूक भी किया।

वन सुरक्षा- जीवन रक्षा की थीम पर आयोजित हुई इंवेस्टीचर हाइक Investiture hike organized on the theme of forest protection – survival

रोवर्स ने स्थानीय ग्रामीणों से संपर्क करें संपूर्ण हाइक क्षेत्र की प्राचीन एवं ऐतिहासिक जानकारी भी हासिल की। महाविद्यालय के सभी रोवर्स ने हाइक स्थल पर स्थित पहाड़ी की ट्रैकिंग और पहाड़ी के संपूर्ण क्षेत्र की हाइक कर वहां उपस्थित वन एवं वन्य जीव जंतुओं की उपस्थिति के बारे में जानकारी ली। हाइक में नव प्रवेशित रोवर्स के लिए एक संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया। संगोष्ठी की अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर एन.के. जेतवाल ने की। प्राचार्य ने नव प्रवेशित रोवर्स को स्काउट के नियमों की जानकारी दी तथा रोवरिंग में हाईक के महत्व को विस्तार से बताया। हाइक के दौरान स्थानीय संघ बूंदी के प्रतिनिधि हंसराज चौधरी ने रोवर्स को यूनिफॉर्म, स्काउट चिन्ह, तथा सेवा नियमों की जानकारी दी। हाइक के दौरान रोवर लीडर डॉ. विकास कुमार शर्मा एवं डॉ. भारतेंदु गौतम ने रोवर्स को हाइक में किए जाने वाले विभिन्न कार्यों के बारे में सामान्य दिशा-निर्देश भी प्रदान किए। सहायक रोवर लीडर डॉ. संत कुमार मीणा ने वन भ्रमण के दौरान रोवर्स को वनों के महत्व तथा जैव विविधता के महत्व के बारे में बताया। हाइक के दौरान रोवर्स ने भोजन निर्माण कला, स्वावलंबन, सेवा, स्वच्छता, वन विद्या, हाइक एवं साहसिक कार्यों आदि के बारे में विस्तार से जानकारी ली तथा अनुभव भी प्राप्त किए।

रैली निकाल दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश

हाइक से पूर्व रोवर्स के द्वारा “वन सुरक्षा-जीवन रक्षा एवं पर्यावरण बचाओ थीम” पर महाविद्यालय से लेकर जिला कलेक्ट्रेट तक रैली का आयोजन किया गया। इस रैली को प्राचार्य डॉ. एन.के. जेतवाल ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया, जो महाविद्यालय से प्रारंभ होकर सर्किट हाउस, कोटा रोड़ होते हुए बस स्टैंड पहुंच कर समाप्त हुई। रैली में महाविद्यालय के रोवर्स ने पर्यावरण बचाने का संदेश देते हुए लोगों को जागरूक करने का कार्य किया। रैली के पश्चात सभी रोवर्स हाइक के लिए रवाना हो गए।

घायल मोर की बचाई जान

हाइक की थीम वन सुरक्षा- जीवन रक्षा की थीम के अनुरूप रोवर्स ने गंगरावल जी महाराज के पहाड़ी पर घायल अवस्था में पड़े मोर को बचाया। घायल मोर को प्राथमिक उपचार दिया तथा उसकी देखभाल कर वन विभाग के कर्मचारियों को सौंपा। इस पर प्राचार्य डॉ. जैतवाल ने कहा कि स्काउटिंग जीव जंतुओं और पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती हैं। स्काउटिंग का नियम भी हैं की स्काउट पशु पक्षियों का मित्र और प्रकृति प्रेमी होता हैं।