महिला की महिला थाने में नहीं हुई सुनवाई तो आत्महत्या करने गौरी में लगाई छलांग

भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> रोज-रोज की मारपीट से तंग आकर एक पत्नी अपने पति की शिकायत करने देहात थाना पहुंची। लेकिन यहां पुलिस ने भी उसकी एक नहीं सुनी। बल्कि यह कहकर भगा दिया कि पति शराबी है तो वह क्या करे। इसके बाद महिला ने जान देने के लिए गौरी सरोवर में छलांग लगा दी। हालांकि पास खड़े एक युवक ने उसे देख लिया और उसने भी तालाब में कूदकर महिला को बचा लिया। यहां पर सवाल यह खड़ा हो गया कि जनता की सेवा के लिए बनाये गये थानों मेंं लोगों को न्याय नहीं मिल रहा है उल्टा शिकायत करने वालों को दुत्कार कर भगा दिया जाता है यह मामला केवल देहात थाने का नहीं ऐसे जिलेभर में हर थाने में देखने को मिल जायेगा, अगर लोगों की सुनवाई पुलिस नहीं करेगी तो न्याय पाने के लिए फरियादी कहां जायेगे। मामलों में तुरंत कार्रवाई न होने के चलते गुंडे-बदमाश, चोर, लूटरे आदि के हौंसले बुलंद हो जाते है जो सरे राह वारदात को खुलकर अंजाम देते हैं।

 

जानकारी के अनुसार रविवार की शाम 7.30 बजे शहर के वार्ड क्रमांक 24 जामना रोड माता वाली गली निवासी साधना जाटव उम्र 30 ने बताया कि उसकी शादी करीब 15 साल पहले सुनील के साथ हुई थी। उसका पति मजदूरी करता है। साथ ही जुआ खेलने के साथ शराब पीता है। आए दिन वह उसके साथ मारपीट करता है। पिछले तीन दिन से वह लगातार शराब पीकर उसे पीट रहा है। शनिवार की सुबह घर में खाने के लिए कुछ नहीं था। वहीं पति मारपीट कर उसके सोने का बाला शराब पीने के लिए छुड़ा ले गया। उसके तीन बच्चे हैं। वह शाम के समय देहात थाना में पुलिस से पति की शिकायत करने पहुंची। लेकिन वहां पुलिस वालों ने कह दिया कि शराबी पतियों के लिए पुलिस नहीं है। ऐसे में उसे कुछ समझ नहीं आया और शनि मंदिर के पास आकर उसने गौरी सरोवर में छलांग लगा दी। तभी पास में खड़े सोनू खान की नजर महिला पर पड़ गई और वह भी पीछे गौरी में कूद गया।किसी तरह से महिला को बचा लिया।