क्योटो जा सकता हूं तो कोटा क्यों नहींः बापू

उदयपुर/कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- नाथद्वारा के बापचा गांव स्थित आदेश गौशाला में शुक्रवार को रोचक प्रसंग देखने को मिला। रामकथा में सम्मिलित होने आए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने मोरारी बापू को कोटा में राम कथा के लिए आमंत्रित किया। बापू ने भी सहमति जताते हुए कहा कि जब रामकथा के लिए जापान के क्योटो जा सकता हूं तो राजस्थान के कोटा में भी जा सकता हूं।

 

रामकथा कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने आयोजन स्थल पर पहुंच कर सबसे पहले व्यास पीठ पर स्थित रामायण जी का वंदन कर मोरारी बापू को नमन किया।

इसके बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिरला ने कहा कि आज मनुष्य के जीवन में अनेक कठिनाइयां और चुनौतियों हैं। इनसे पार पाने का एक मात्र माध्यम आध्यात्मिक ज्ञान है।

 

उन्होंने कहा कि रामकथा श्रवण करने से एक नई ऊर्जा का एहसास होता है। मोरारी बापू ने राम के जीवन की आदर्श व्याख्या की है। वर्तमान परिपेक्ष्य में अध्यात्मिक ज्ञान के प्रकाश से आदर्श जीवन जीने की राह उन्होंने ही दिखाई है।

मोरारी बापू को कोटा-बूंदी क्षेत्र में आने का आग्रह करते हुए लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि उनके आगमन से वहां अध्यात्म की गंगा प्रवाहित होगी। इसका लाभ वहां रहने के स्थानीय लोगों के साथ प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने के लिए आने वाले हजारों विद्यार्थियों को भी मिलेगा। उनके जीवन पर अध्यात्म का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

 

लोकसभा अध्यक्ष के आग्रह का जवाब देते हुए कहा कि वे जब जापान के क्योटो शहर में कथा करने जा सकते हैं तो कथा के लिए राजस्थान के कोटा में भी जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जैसे ही समय अनुकूल होगा, वह कोटा जरूर आएंगे।

उदयपुर एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत
इससे पूर्व विशेष विमान से उदयपुर पहुंचने पर डबोक एयरपोर्ट पर समााजिक कार्यकर्ताओं और प्रबुद्धजनों की ओर से लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला का भव्य स्वागत किया गया। विधायक फूल सिंह मीणा, भाजपा शहर जिलाध्यक्ष रविन्द्र श्रीमाली तथा देहात अध्यक्ष भंवर सिंह नेतृत्व में लोगों ने बिरला का साफा बांधकर और दुपट्टा भेंट कर अभिनंदन किया।