गोविंद दास बने महंत, रामभूषणदास जी ने दिया आशीर्वाद

गोहद.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> वैसे तो गोहद भगवान श्रीकृष्ण की नगरी है और इसे मिनी वृंदावन के नाम से जाना जाता है गोहद में स्टेट समय से स्थापित रधुनाथ जी मन्दिर वार्ड नंबर 11 में बड़ा बाजार में महंती रस्म कार्यक्रम महामंडलेश्वर श्री श्री 1008 रामभूषण दास जी महाराज खनेता धाम के कर कमलों से किया गया रधुनाथ जी का मंदिर बा बाजार पर आयोजित महंती रस्म कार्यक्रम खनेता धाम से पधारे आचार्यो द्वारा मंत्रोचारण से आरम्भ हुआ यहाँ महामंडलेश्वर श्री श्री 1008 रामभूषण दास जी महाराज ने रामदास जी के शिष्य गोविंददास को रधुनाथ जी मंदिर का महंत का पद पगड़ी पहनाकर शॉल देकर यहाँ महामंडलेश्वर रामभूषणदास जी महाराज ने आशीष वचन देते हुए कहा कि संत लोगो की समाज के प्रति महत्वपूर्ण जिम्मेदारी होती है सन्त ग्रहस्थ लोगो के पथ प्रदर्शक होते है वो समाज को दिशा देते है बड़ा बाजार स्थित रधुनाथ जी का मंदिर काफी बिख्यात है इस मंदिर ने गोहद में उच्च शिक्षा के लिए स्थान दिया गोहद में महर्षि अरबिंद महाविधालय की स्थापना इसी मंदिर से हुई थी खनेता धाम के महंत ने बताया की स्टेट टाइम में बनी रघुनाथ जी मंदिर में हमारे गुरु विजय रामदास जी महाराज ने रघुनाथ जी की स्थापना की थी इस अवसर पर राजकुमार शास्त्री सतीश मिश्रा, रमेश चंद्र भटेले, बदन सिह तोमर, प्रवेश भटेले, गिरजाशंकर भटेले, पारस सिंघई, मोहन सिंघई, नरेश सिंघई अशोक सोनी लराम सोनी, नरेंद्र श्रीवास्तव उपस्थित थे। सनातन धर्म के अनुसार गुरु शिष्य परम्परा के अनुसार रधुनाथ जी का मंदिर जो कि स्टेट समय से है यहाँ रधुवरदास, मंगलदास, मथुरादास, रामदास महंत रहे है।