सीएमओ की लापरवाही से ठेकेदार कर रहा मनमानी, 52 लाख की सड़क व नाला अधूरा छोड़कर भागा

   भिण्ड.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> शहर में चल रहे निर्माण कार्यो में अधिकांश लेटलतीफी का शिकार हो रहे हैं कहीं नाला बनाकर अधूरा छोड़ दिया तो कहीं सड़क का निर्माण किये बगैर ही लाखों रुपये ठेकेदार सहित इंजीनियर डकार चुके है जिसका हर्जाना स्थानीय लोगों को बरसात के मौसम में उठाना पड़ेगा। नगर पालिका सीएमओ की लापरवाही के चलते शहर में ठेकेदार मनमानी पर हावी हो गये हैं निर्माण कार्य करने की बजह पूरा पैसा डकारने की फिराक में नजर आ रहे हैं। ज्ञात हो कि विगत माह शहर के कॉटनजीन कॉलोनी में विगत 10 माह पहले सदर विधायक संजीवङ्क्षसह कुशवाह ने इस सड़क व नाले का भूूमि पूजन किया था, जिसकी लगात 52 लाख रुपये है जो ठेकेदार ने सड़क आधी अधूरी बनाकर छोड़ दी अब बरसात होते ही कॉलोनी वासी लोगों को परेशाना होना पड़ेगा और ठेकेदार सड़क व नाले की राशि डकारने की फिराक में है। नगर पालिका में कलेक्टर सतीश कुमार प्रशासक है जिनको भी अपनी जिम्मेदारी समझानी चाहिए, निर्माण कार्यो के लिए अभी तक हुए टेंडरों पर निगरानी रखें कि कितने काम हुए और कितने बंद पड़े जो महिनों बीत गये हैं संबंधित ठेकेदारों व इंजीनियरों पर सिकंजा करते हुए कार्रवाई करें या फिर इन्हें ब्लैक लिस्टेड घोषित करते हुए दूसरे ठेकेदारों को काम देना चाहिए ताकि शहर में निर्माण कार्यो में विकास तेजी हो। अधिकांश शहर में जल निकासी के लिए नगर पालिका द्वारा बनाए गए मुख्य नाले-नालियों की अनदेखी की जा रही है। स्थिति यह है कि इन नालों की काफी लंबे समय से सफाई नहीं हुई। चंद मिनटों की बारिश में गलियां, सड़क सहित मोहल्ले बरसात के पानी से लबालब हो जाते हैं जल निकासी के प्रबंधन न होने के चलते गंदा पानी सड़कों पर भरा रहता है और स्थानीय लोगों के लिए मुसीबत बन जाता है।

बरसात के मौसम में होती ज्यादा परेशानी

इसी तरह का मामला शहर के कॉटनजीन में देखने को मिल रहा है जहां लंबे समय से सड़क व नाले का निर्माण न होने के चलते बरसात के मौसम में स्थानीय लोगों को उठाना पड़ता है इस सड़क का निर्माण के लिए तत्कालीन कलेक्टर ने नपा व संबंधित विभाग को निर्देशित किया, लेकिन अधिकारियों की मनमानी के चलते सड़क आज भी अधर में लटक रही है। शुक्रवार को हुई चंद मिनट की बारिश से शहर के कॉटनजीन में पानी भर गया जो सरकारी अवासों के भीतर तक जा पहुंचा, जिसे लोगों ने घरों से हाथों से बाहर निकाला। यहां पर जल निकासी की समस्या के कारण आये दिन बरसात का पानी भर जाता है। ठेकेदार ने भूमि पूजन के बाद आनन-फानन में मंशापूर्ण हनुमान मंदिर से जिला पंचायत अध्यक्ष रामनारायण हिंडोलिया के सरकारी आवास तक सीसी सड़क निर्माण करा दी, जिसके बाद बची सड़क को छोड़ दिया। इस सड़क पर बड़े-बड़े गड्डे होने के चलते आये दिन राहगीर गिरकर घायल हो जाते है बारिश होते ही पानी भरता है तो स्थिति और भी खराब हो जाती है इसलिए सड़क निर्माण होनो बहुत जरुरी है स्थानीय लोगों ने मांग की है कि जल्द सड़क निर्माण कराकरा परेशानी से राहत दिलायी जाये।

10 माह पहले हुआ था सड़क का भूमि पूजन, निर्माण अब तक पूरा नहीं

मंशापूर्ण हनुमान मंदिर से लेकर बेटी बचाओ चौराहे तक सीसी सड़क निर्माण कराने के लिए विगत 14 जुलाई 2020 को सदर विधायक संजीवसिंह कुशवाह द्वारा सड़क एवं नाला निर्माण का भूमि पूजन किया गया था जो 52 लाख 86 हजार 266 रुपये से सड़क व नाले का निर्माण होना था, लेकिन ठेकेदार की लापरवाही के चलते सड़क भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई, आनन-फानन में 200 मीटर का टुकडा बनाकर सड़क अधर में छोड़ दी, जो बारिश होते ही लोगों की परेशानी कम होने की बजह बढ़ती हुई नजर आ रही है।

ठेकेदार व नपा की लापरवाही से अधर में नाला व सड़क

शहर के कॉटनजीन में बरसात का पानी निकलने के लिए बना हुआ था लेकिन वह पूरी तरह से चौक हो गया है जिस कारण बरसात होते ही पानी सड़क पर भरने से स्थानीय लोगों का काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, बारिश होते ही घरों में लोग कैद हो जाते है और दलदल व बारिश के पानी से निकलते है जिससे कई बीमारियां फैलने का खतरा बड़ जाता है। विगत 10 माह पहले  नई सड़क व नाला निर्माण होना था, लेकिन ठेकेदार की लापरवाही के चलते सड़क व नाला अधर में लटक रहा है आनन-फानन में अधूरी सड़क निर्माण करके कहीं चला गया है तब से इसकी सुध नहीं ली तो बरसात के पानी से लोगों और ज्यादा परेशानी होने लगी है। बारिश होते ही कॉटनजीन तलाब में तब्दील हो जाती है।

श्रृद्धालुओं को दिनभर रहता आना जाना

इसी मार्ग पर मंशापूर्ण हनुमान जी का मंदिर है जहां हजारों श्रृद्धालु दर्शन करने के लिए दलदल व बारिश के पानी से होकर निकलते है जिससे लोगों आक्रोश है। इसके साथ ही बेटी बचाओ चौराहे से लेकर इटावा रोड तक कम समय में लोग पहुंच जाते है और शॉटकट का उपयोग करते है नहीं तो फेर खाकर जाना पड़ता है अगर सड़क निर्माण होती है स्थानीय लोगों की परेशान हल होने के साथ ही राहगीरोंं को इटावा रोड पहुंचने में समय कम लगेगा।

इनका कहना है:

कॉटनजीन की सड़क निर्माण के लिए संबंधित ठेकेदार को नोटिस जारी किया गया है और दूसरा नोटिस भेजने की तैयारी की जा रही है, जिसके बाद भी अगर ठेकेदार लापरवाही दिखाता है तो दूसरे को टेंडर जारी कर निर्माण कराया जायेगा।

-सुरेन्द्र शर्मा, सीएमओ नगर पालिका भिण्ड