भैंस चराने गए युवक की डेम में डूबने से मौत

गोहद.ShashikantGoyal/ @www.rubarunews.com>> भैंस चराने गए युवक जितेंद्र पुत्र बहादुर सिंह गुर्जर उम्र 41 वर्ष वार्ड क्रमांक 4 राइस मिल के पीछे गोहद रोजाना की तरह बुधवार को सुबह अपनी भैंस चराने के लिए गए था। भैंस को पानी पिलाने के पस्चात वह खुद डैम में नहाने लगा नहाते समय वह गहराई में चला गया और डैम में डूब गया घटना सुबह 9:30 बजे की है।  युवक जैसे ही डैम में डूबा तो डैम के पास उपस्थित लोगों ने पुलिस व प्रशासन को सूचना दी। पुलिस ने देर न करते हुए तत्काल गोताखोरों को बुलाकर डेम के अंदर उसकी खोजबीन करवाई तब बड़ी मशक्कत के पश्चात युवक गहराई मैं डैम अंदर डूबा हुआ मिला। पुलिस ने युवक को तुरंत अस्पताल भिजवाया जहां डॉक्टरों ने युवक को मृत घोषित कर दिया। मृतक का शव परीक्षण कराकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। नगर की प्यास बुझाने के लिए मार्च माह में नहर के माध्यम से भरा था डैम- माह जनवरी फरवरी में बैसली डैम सूखने से नगर में पेयजल का संकट उत्पन्न हुआ था जिसको लेकर सभी राजनीतिक दलों के प्रयासों से डेम को नहर के माध्यम से फिर से भरा गया था। उसी समय सभी राजनीतिक दलों व भिंड कलेक्टर के सहयोग से डैम के कुछ हिस्से का गहरीकरण भी करवाया गया था। जिसमें इस समय काफी गहराई तक पानी भरा हुआ है इसी गहराई में आज युवक की डूबकर मृत्यु हुई है।

 

4 लाख रुपए की मिलेगी आर्थिक सहायता

नदी या डैम के पानी में डूबने से शासन के नियमानुसार 4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का प्रावधान है। उसी के अंतर्गत मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। जिसके लिए अनुभाग के मुखिया एसडीएम शुभम शर्मा ने संबंधित अधिकारी व कर्मचारियों को मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता का प्रपोजल तैयार करने के निर्देश दिए हैं।