सीएम हेल्पलाइन में 300 दिवस की शिकायतें तीन दिन में निपटाये-कलेक्टर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप सीएम हेल्पलाइन के अंतर्गत लेबल 01 से लेकर के 04 तक एवं 300 दिवस की शिकायतों का निराकरण तीन दिवस में किया जावे। शिकायत के निराकरण में संतुष्टिपूर्वक कार्यवाही होनी चाहिए। वे आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में विभिन्न विभागो के अंतर्गत लंबित सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों को आनलाइन देखकर समीक्षा के दौरान विभागीय अधिकारियों को दिशा-निर्देश दे रहे थे।

कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि 300 दिवस की राजस्व में 58, पंचायत की 23, खाद्य की 100, अनुसूचित जाति की 08, स्वास्थ्य की 02, महिला बाल विकास की 08 एवं अन्य विभागो सहित 311 शिकायतें लंबित है। इन पर शीघ्र कार्यवाही अमल में लाई जावे। इस कार्यवाही को करने में विभाग प्रमुख अपने विभाग के अन्य कर्मचारी को भी लगावे। जिससे शिकायतों के निराकरण में और अधिक गति आयेगी। उन्होने कहा कि फूड आॅफीसर श्री एनएस चैहान लम्बे अवकाश पर है। इसलिए उनका चार्ज अवकाश से आने पर निरीक्षक लवली गोयल को दिया जावे। इसी प्रकार विजयपुर में सहायक के रूप में कार्यरत द्वारा भी अपने कार्य में रूचि नही ली जा रही है। इसलिए उनको कारण बताओ नोटिस जारी किया जावे।
कलेक्टर ने कहा कि वन अधिकार अधिनियम के अतंर्गत सामूहिक दावों के प्रकरणों को प्राथमिकता दी जावे। यह कार्यवाही एसी ट्राईवल श्री एमपी पिपरैया सुनिश्चित करे। इस दिशा में आगामी 26 जनवरी को आयोजित होने वाली ग्रामसभा में स्वीकृति दिलाई जावे। उन्होने कहा कि वन अधिकार के प्रकरणों में किसी भी प्रकार की लापरवारी बरदास्त नही होगी। इसलिए समय सीमा में ग्रामसभा, खण्ड स्तरीय समिति के बाद प्रकरण जिला स्तरीय समिति में स्वीकृति के लिए प्रेषित किये जावे। कलेक्टर ने कहा कि बर्ड फ्लू बीमारी की दिशा में आवश्यक कार्यवाहियां डीडीओ पशु डाॅ राजेश सिंह सिकरवार सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि रबी फसलों के लिए यूरिया खाद की उपलब्धता पर भी उपसंचालक कृषि एवं डीएमओ, एआरसीएस से चर्चा की। तब डीएमओ ने बताया कि साढे 3 हजार मैट्रिक टन यूरिया उपलब्ध है। कलेक्टर ने कहा कि कृषि विभाग के माध्यम से किसान मित्र का चयन करने की कार्यवाही समय सीमा में सुनिश्चित की जावे।
आयुष्मान भारत योजना के कार्ड बनाने के कार्य में गति लावें
कलेक्टर राकेश कुमार श्रीवास्तव ने समय सीमा के प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कहा कि आयुष्मान भारत योजना में कार्ड बनाने के प्रकरणों की गति धीमी है। इस दिशा में कार्यवाहियों में तेजी लाई जावे। उन्होने कहा कि इस योजना में नियुक्त नोडल अधिकारी अपने क्षेत्र का भ्रमण कर मैदानी अमले के माध्यम से कार्ड बनाने के कार्य को प्रभावी तरीके से पूरा करावे। उन्होने कहा कि सीएमएचओ डाॅ बीएल यादव अपने 73 सीएस के माध्यम से कलस्टर के अनुसार आयुष्मान कार्ड बनाने की दिशा में कार्यवाहियों को प्राथमिकता प्रदान करें। साथ ही बीएमओ के माध्यम से भी कार्यवाही को प्रभावी बनावे। उन्होने कहा कि एनआरएलएम के माध्यम से रथ के द्वारा आयुष्मान भारत योजना में कार्ड बनाये जावे। इसी प्रकार महिला बाल विकास विभाग का अमला कार्ड बनाने में सहयोग करें। डीपीएम द्वारा भी कार्ड बनाने के अभियान में अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन किया जावे।
आगामी कलेक्टर/कमिश्नर्स काॅर्फेन्स की तैयारी की जावे
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि 04 जनवरी को आयोजित हुई कलेक्टर/कमिश्नर्स के बिन्दुओ पर विभागीय अधिकारी प्रभावी अमल करते हुए जिन-जिन विभागो के बिन्दु शामिल थे। उनमें प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही सुनिश्चित की जावे। उन्होने कहा कि मिलावटखोरो पर सीएमएचओ डाॅ बीएल यादव अपने इस्पेक्टर से कार्यवाही सुनिश्चित करावे। साथ ही अधिक से अधिक प्रकरण बनाकर उनमें वैधानिक कार्यवाही कराई जावे। उन्होने कहा कि आगामी 01 फरवरी को आयोजित होने वाली कलेक्टर/कमिश्नर्स काॅर्फेन्स के लिए तैयारी 21 जनवरी तक पूरी होनी चाहिए। साथ ही संबंधित विभागीय अधिकारी निर्धारित प्रोफार्मा पर जानकारी भी इसी तिथि तक भिजवाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जावे।
कलेक्टर ने कहा कि गेहंू उपार्जन के लिए रजिस्टेªशन 25 जनवरी से शुरू हो रहे है। इस दिशा में केन्द्र भी निर्धारित किये जा चुके है। पंजीयन कार्य के लिए भी तैयारियां 24 जनवरी तक पूर्ण की जावे। उन्होने कहा कि स्वसहायता समूहों को उपार्जन का कार्य देने की दिशा में कार्यवाही अमल में लाई जावे। इसी प्रकार नवीन गौण खनिज नियमों के तहत क्रियान्वयन करने की कार्यवाही खनिज इस्पेक्टर भावना सेंगर द्वारा सुनिश्चित की जावे। साथ ही पुरानी और प्रचलित खदानों की दिशा में कार्यवाही जिला कलेक्टर को प्रेषित की जावे। कलेक्टर ने विभिन्न विभागो में कलेक्टर काॅर्फेन्स के अन्य एजेण्डा बिन्दु पर की गई कार्यवाही पर चर्चा की। साथ ही आगामी बैठक के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

बैठक में सीईओ जिला पंचायत  राजेश शुक्ल, डिप्टी कलेक्टर  विजेन्द्र सिंह यादव, एलडीएम  सुरेन्द्र पाठक, सीएमएचओ डाॅ बीएल यादव, डीपीओ महिला एवं बाल विकास  ओपी पाण्डेय, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी  रिशु सुमन, जिला शिक्षा अधिकारी  वीएस रावत, उपसंचाकल पशुपालन डाॅ राजेश सिंह सिकरवार, उपसंचालक कृषि  पी गुजरे, एआरसीएस  रविन्द्र शर्मा, डीएमओ  एके द्विवेदी, कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी  संकल्प गोलिया, पीएचई  संतोष श्रीवास्तव, पीआईयू  विपिन सोनकर, आरईएस  पीआर इटोरिया, जल संसाधन  सुभाष गुप्ता, जिला आबकारी अधिकारी  राकेश शर्मा, डीआईओ  कपिल पाटीदार, मेनेजर लोक सेवा प्रबंधन  योगेश पुरोहित, स्वान  रामकिकर शर्मा, प्रभारी सहायक आयुक्त आजाक  एमपी पिपरैया, स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम  सौमित्र बुधोलिया, तहसीलदार  राघवेन्द्र कुशवाह, कलेक्टर कार्यालय के ओएस  दिलीप बंसल, सहायक संचालक ओबीसी कु. निकिता तामरे, एपीओ शहरी विकास  आनन्द शर्मा, माईनिंग इस्पेक्टर भावना सेंगर, फूड लवली गोयल उपस्थित थे।