सीएम हेल्पलाइन में नॉन अटेन्डेट शिकायतों पर अधिक ध्यान दें-कलेक्टर

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>> कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि सीएम हेल्पलाइन के अंतर्गत विभिन्न विभागो में शिकायते लंबित दिखाई दे रही है। जिसमें नॉन अटेन्डेट शिकायतों को विभागीय अधिकारी देख और उनका निराकरण सुनिश्चित करें। वे आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में सीएम हेल्पलाइन के अंतर्गत लेबल 01 से लेकर 04 तक की शिकायतों की विभागवार समीक्षा में विभागीय अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।

कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन में विभिन्न विभागो के अंतर्गत शिकायते प्राप्त हो रही है। इन शिकायतों में नॉन अटेन्डेट बिना देखे नही रहनी चाहिए। उन्होने कहा कि अधिकांश विभागो में समीक्षा के दौरान 12 शिकायतें नॉन अटेन्डेट पाई गई है। जिनको विभागीय अधिकारी गंभीर होकर निराकरण करें। इसी प्रकार सीएम हेल्पलाइन में सामान्य तौर पर कई विभागो द्वारा शिकायतों का निराकरण समय सीमा में नही किया जा रहा है। जिनका अधिकारी अपने ऑपरेटर के साथ निराकरण सुनिश्चित करे। यह निराकरण सात दिवस में होना चाहिए। उन्होने कहा कि राहत से संबंधित जो शिकायते राजस्व, विधुत कंपनी के अंतर्गत राहत सबंधी आवेदन में सीएम हेल्पलाइन मे प्राप्त हुए है। इनको सर्वोच्च प्राथमिकता पर निराकृत किया जावे।
कलेक्टर ने कहा कि राजस्व एवं अन्य विभागीय अधिकारी निजी भूमि पर अंकित 59 शिकायतो का निराकरण गंभीरता से करें। साथ ही अतिक्रमण की दिशा में प्राप्त होने वाली शिकायत जिसमें कब्जा हटाने की कार्यवाही की जानी हो। उसका निराकरण एक सप्ताह में किया जावे। इस दिशा में सभी राजस्व अधिकारी ध्यान देकर निराकरण की कार्यवाही समय सीमा में सुनिश्चित करे। कलेक्टर ने राजस्व विभाग के अंतर्गत सीएम हेल्पलाइन में दर्ज ऐसी शिकायतों का तहसीलवार अवलोकन किया। साथ ही राजस्व अधिकारियों द्वारा फीड किये गये उत्तर को देखकर संतुष्टिपूर्वक जवाब दर्ज करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि ऐसे विभागीय अधिकारी जिनकी सीएम हेल्पलाइन में 300 दिवस से उपर की शिकायते दर्ज है। उनका निराकरण अभियान के रूप में सात दिवस में करावे।
इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग के कार्या की समीक्षा के अंतर्गत कोविड-19 वैक्सीनेशन में ऐसे विभागीय अधिकारी/कर्मचारी जिन्होने टीका नही लगवाया है। उनके टीके लगवाने के निर्देश संबंधित विभागीय अधिकारियों को दिये। साथ ही टीकाकरण से छूटे हुए सभी अधिकारी/कर्मचारियों को कोविड-19 का टीका लगवाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि पंचायत ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत ग्राम पंचायत के सचिव एवं जीआरएस द्वारा अपनी बारी के अनुसार कोविड-19 का टीका लगवाने के निर्देश ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों को दिये।
कलेक्टर ने मुख्यमंत्री द्वारा ली जाने वाली आगामी कलेक्टर्स कॉन्फ्रेस 01 मार्च 2021 को आयोजित की जावेगी। इस कॉन्फ्रेस से संबंधित सभी बिन्दुओ पर कार्यवाही विभागीय अधिकारी समय सीमा में सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि केन्द्र एवं राज्य के वरिष्ठ अधिकारियो के माध्यम से भेजे गये आवेदनो का निराकरण समय सीमा में किया जावे। साथ ही विधानसभा प्रश्नो की जानकारी समय पर भिजवाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जावे। उन्होने कहा कि गेहूं उपार्जन के अंतर्गत लोक सेवा केन्द्र एवं मंडी, उपमंडी प्रागंण पर किसानो के द्वारा पंजीयन कराया जा रहा है। इस दिशा में तैनात किये गये नोडल अधिकारी पंजीयन के कार्य को ऑपरेटरो के माध्यम से निरंतर करावे। जिससे समय सीमा में पंजीयन कराने की कार्यवाही पूर्ण की जा सकें।
बैठक में एडीएम/एसडीएम  रूपेश उपाध्याय ने सीएम हेल्पलाइन के अतंर्गत लेबल 01 से लेकर 04 तक के प्रकरणों की समीक्षा प्रजेटेंशन के माध्यम से कराई। साथ ही विभागीय अधिकारियो को कहा कि एक सप्ताह मे सभी आवेदनो का निराकरण किया जावे। इस दौरान जिला प्रबंधक लोक सेवा प्रबंधन  योगेश पुरोहित ने प्रजेटेशन के माध्यम से सीएम हेल्पलाइन, समाधान एक दिवस, गेहूं उपार्जन आदि का विभागवार प्रजेटेंशन दिया।

बैठक एडीएम/एसडीएम  रूपेश उपाध्याय, वीसी में एसडीएम विजयपुर  विनोद सिंह, एसीईओ जिला पंचायत  एमके जैन, सीएमएचओ डॉ बीएल यादव, डीपीओ महिला एवं बाल विकास  ओपी पाण्डेय, महिला सशक्तिकरण  रिशु सुमन, जिला आबकारी अधिकारी  राकेश शर्मा, मेनेजर लोक सेवा प्रबंधन  योगेश पुरोहित, सहायक संचालक ओबीसी कु. निकिता तामरे, तहसीलदार बडौदा  भरत नायक, श्योपुर  राघवेन्द्र कुशवाह, सीएमओ नपा सुश्री मिनी अग्रवाल, ओएस  दिलीप बंसल एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।