संभल जाओं कोरोना शहरी और ग्रामीण में भेद नहीं करता: डॉ. निधि प्रजापति

कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- राजस्थान सरकार द्वारा पूरे प्रदेश में 24 मई से 8 जून तक लगे त्रिस्तरीय जन अनुशासन लॉकडाउन में कोटा में मास्क के प्रति जागरूक करने और जनता को कोरोना से बचने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश देने हेतु कोटा उत्तर के आयुक्त वासुदेव मालावत के निर्देशन में सोसाइटी हैस ईव इंटरनेशनल चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा नदी पार स्थित बालिता रोड, गिरधरपुरा सब्जीमंडी और केशवराय पाटन स्टेट मेगा हाईवे पर 500 मास्कों का वितरण अध्यक्ष डॉ. निधि प्रजापति, शोभा कँवर, राज लक्ष्मी और नाबार्ड के जिला सहायक अधिकारी विजय निगम ने किया |

 

डॉ. निधि प्रजापति ने बताया की लोगों में जागरूकता तो आई है परन्तु अब भी लोग लापरवाही कर रहे है बिना मास्क के घर से बाहर निकल रहे है | इन क्षेत्रों के लोगों का कहना है की हम ग्रामीण क्षेत्र में रहते है हमारे यहाँ कोरोना वोरोना कुछ नहीं है, हमें कोरोना नहीं होगा ये बीमारी केवल एसी वाले लोगों को होती है ऐसे में उन्हें विस्तार से इस वायरस की भयावता के बारे में समझाया गया और बताया गया की कोरोना शहरी और ग्रामीण में अंतर नहीं करता ग्रामीणों के लिए तो स्थिति और खराब हो रही है क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों से शहर आते आते ही देरी होने के कारण कई मरीजों की मृत्यु हो जाती है | शोभा कँवर ने बताया की आज भी इन क्षेत्रों में लोग बिना मास्क के पांच से सात लोगों की मंडली लगाकर बैठते है दुकानों में दुकानदारों ने ही मास्क नहीं लगा रखे थे हमारी टीम के पूछने के बाद उन्होंने मास्क लगाये |

नाबार्ड के अधिकारी विजय निगम ने बिना मास्क मिलने वाले लोगों के समूह को समझाया की कोरोना की तीसरी लहर में कैसे आप जैसे लोग ही अपने बच्चों और परिवार जन के लिए खतरा बन जायेगा और फिर जहाँ अभी तीसरा लॉकडाउन हमें झेलना पड रहा है उसकी आवृति और बढ़ जाएगी |