आक्सीजन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनेगा बूंदी

कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com-  संसदीय क्षेत्र के सात दिवसीय प्रवास पर आए लोकसभा अध्यक्ष जयपुर से बूंदी पहुंचने के बाद सीधे जिला चिकित्सालय गए। वहां उन्होंने कोविड सेंटर का निरीक्षण किया तथा उपचार सुविधाओं को लेकर जिला प्रशासन व अस्पताल प्रबंधन से विस्तार से बात की। इस दौरान बिरला ने कहा कि बूंदी जिला जल्द ही आक्सीजन उपलब्धता के क्षेत्र में आत्मनिर्भर होगा।

 

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने बताया कि केंद्र सरकार के स्तर से जल्द ही बूंदी में 90 क्यूबिक मीटर क्षमता वाले आक्सीजन प्लांट की स्वीकृति जारी होने की संभावना है। यह आक्सीजन प्लांट बनने के लिए प्रतिदिन 300 सिलेंडर आक्सीजन का उत्पादन हो सकेगा। इसके बाद बाद बूंदी में आक्सीजन की कोई कमी नहीं रहेगी।

 

लोकसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों से कहा कि बूंदी जिले को उपचार का बड़ा केंद्र बनाने के दृष्टिकोण से कार्ययोजना तैयार करें। हमारा प्रयास होने चाहिए कि बूंदी में हर प्रकार के रोगियों को उपचार मिल सके और उन्हें बाहर रैफर नहीं करना पड़े। इसके लिए पैसों की चिंता नहीं करें, इसकी जिम्मेदारी मेरी है।

लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने अधिकारियों से शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या की जानकारी ली। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर चिंता जताते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक सर्वे करवाया जाए। जिस क्षेत्र में अधिक मरीज मिलते हैं, उसे कंटेंनमेंट जोन घोषित कर संक्रमितों को उचित उपचार दें। ऐसा करके ही हम कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ पाएंगे।

 

बिरला ने जिला कलक्टर से आशीष गुप्ता से मेडिकल काॅलेज के निर्माण कार्य के बारे में पूछा। जिला कलक्टर ने बताया कि मेडिकल काॅलेज के निर्माण संबंधी टेंडर जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने टेंडर व्यवस्था जल्द पूरी कर मेडिकल काॅलेज व इससे संबद्ध चिकित्सालय का निर्माण कार्य जल्द प्रारंभ करवाने के निर्देश दिए। इस संबंध में उन्होंने जयपुर में संबंधित विभाग के अधिकारियों से भी बात की।

 

बिरला ने जिला चिकित्सालय में आईसीयू की नई विंग बनाने के भी निर्देश दिए जिससे गंभीर मरीजों को अन्य जगह रैफर करने की जगह बूंदी में ही उपचार मिल सके। कोरोना की तीसरी लहर के दौरान बच्चों के अधिक संक्रमित होने की आशंका के मद्देनजर उन्होंने बच्चों के लिए भी एनआईसीयू वार्ड बनाने के लिए कहा है।

बूंदी को मिलेंगी दो एंबुलेंस
अस्पताल प्रशासन के आग्रह पर लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने आश्वस्त किया कि सांसद निधि प्रारंभ होते ही बूंदी जिले के दो एंबुलेंस उपलब्ध करवाई जाएंगी। इनमें से एक जीवन रक्षा के लिए आवश्यक सभी उपकरणों से लैस होगगी जबकि दूसरी आक्सीजन सुविधा से युक्त होगी।

 

जिला अस्पताल और सीएचसी को अपग्रेड करने का प्रस्ताव बनाएं
लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने जिला कलक्टर को निर्देश दिए कि वर्तमान जिला अस्पताल भवन के भवन को अपग्रेड किया जाए। इसमें रंगाई-पुताई करवाने के अलावा उन हिस्सों में वेंटीलेशन की व्यवस्था की जाए जहां घुटन महसूस होती है। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों की छह सामुदायिक केंद्रों को अपगे्रड करने के प्रस्ताव तैयार करने को भी कहा। इसके लिए वे केंद्र सरकार अथवा सीएसआर मद से फंड दिलवाने का प्रयास करेंगे।

 

ग्रामीण क्षेत्रों में विकसित हो चिकित्सा इंफ्रास्ट्रक्चर
लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने अधिकारियों को जिले में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के स्तर पर चिकित्सा इंफ्रास्ट्रक्चर को भी सुदृढ़ बनाने को कहा ताकि किसी भी महामारी या बीमारी के आने पर ग्रामीणों को उनके घर के निकट ही समुचित उपचार उपलब्ध करवा जा सके।

 

विधायक कोष से मिलेगी सोनोग्राफी मशीन
बैठक में अधिकारियों ने लोकसभा अध्यक्ष बिरला से करीब 10 लाख रूपए राशि की 3डी-सोनोग्राफी मशीन और आईसीयू के लिए कार्डियेक माॅनीटर उपलब्ध करवाने का आग्रह किया। बिरला ने उसी समय बूंदी विधायक अशोक डोगरा को इन उपकरणों के लिए विधायक कोष से राशि जारी करने को कहा।

 

तालेड़ा स्वास्थ्य केंद्र के वार्ड होंगे वातानाकूलित
बूंदी से कोटा आते समय लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने तालेड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी उपचार सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने स्वास्थ्य केंद्र को आक्सीजन कंसंट्रेटर तथा आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवाने की बात कही। साथ ही जिला कलक्टर को दो वार्डों को वातानाकूलित करने के प्रस्ताव बनाने को कहा। डाक्टरों के आग्रह पर यहां भी उन्होंने विधायक अशोक डोगरा को विधायक कोष से सोनोग्राफी मशीन तथा कार्डियेक माॅनीटर उपलब्ध करवाने के लिए कहा। इस दौरान बूंदी विधायक अशोक डोगरा व लोकसभा अध्यक्ष के ओएसडी राजीव दत्ता भी मौजूद रहे ।