नीम का खेड़ा में मृत मिले पक्षी-सुरक्षा उपाय अपनाए बिना मृत पक्षियों को दफनाया

बून्दी.KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com- सदर थाना क्षेत्र के चित्तौड़ रोड पर नीम का खेड़ा गांव के खेत में सोमवार को पांच पक्षी मृत व एक बीमार हालत में मिला। पशु चिकित्सक एवं वन विभाग की मौजूदगी में मृत पक्षियों को दफना दिया गया वहीं एक बीमार मोर को वन विभाग ने अपने कब्जे में लेकर देखरेख शुरू की है।
जानकारी के अनुसार महावीर सैनी के खेत पर पक्षियों के अचानक मरने व बीमार होने की सूचना वन्य जीव प्रेमी राधेश्याम सैनी व लोकेश सैनी ने वन विभाग व पशुपालन विभाग को दी। सूचना पर पशु चिकित्सक अनिल मीणा, वनकर्मी विनय शर्मा, पन्ना लाल सैनी और पूजा पाराशर मौके पर पहुंचे जहां दो भूरे तीतर, एक यूरेशियन कॉलर डव, एक कबूतर और एक टिटहरी मृत व एक मोर बीमार मिला। पशु चिकित्सक ने सभी मृत पक्षियों की मौत सर्दी लगने या सामान्य बीमारी से होना बताया जिनको चिकित्सक की मौजूदगी में ही ग्रामीणों की मदद से खेत में ही दफना दिया। गौरतलब बात यह है कि इस पूरे घटनाक्रम में बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए जारी सरकारी निर्देशों व प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया।

बीमार मोर का उपचार जारी

मृत पक्षियों को दफनाने व बीमार मोर को रेस्क्यू के दौरान किसी ने पीपीई किट नहीं पहना यहां तक कि दस्ताने भी उपयोग में नहीं लिए। बीमार मोर को भी दोपहिया वाहन पर वन्य जीव प्रेमी राधेश्याम सैनी के सहयोग से बूंदी पशु चिकित्सालय में लेकर आए जहां प्राथमिक उपचार के बाद इसे वन विभाग के रेंज कार्यालय में रखा गया है।