कोटा-बूंदी के बाद इटावा में भी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सुविधा*

कोटा.KrishnakantRathore/ @www.rubarunews.com- कोटा शहर और बूंदी नगर में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सुविधा के बाद अब कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में भी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सुविधा मिलेगी। इसकी शुरुआत बुधवार को इटावा क्षेत्र से हुई।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की प्रेरणा से संचालित कोटा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक की ओर से बुधवार को 5 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर तथा 10 पल्स ऑक्सीमीटर इटावा में संचालित कोविड केयर सेंटर को भेंट किए गए।

कोटा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक के संस्थापक सदस्य दीपक राजवंशी ने बताया कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की भावना है कि कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र की सभी सीएचसी स्तर पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सुविधा मिले। इसके तहत सबसे पहले कोटा में बैंक की सेवाएं प्रारंभ करने के बाद मंगलवार को बूंदी जिला चिकित्सालय को 10 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेंट किए गए थे। इसके बाद बुधवार को इटावा में 5 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 10 पल्स ऑक्सीमीटर भेंट किए गए हैं। इससे कोविड रोगियों का स्थानीय स्तर पर समुचित उपचार करने में सहायता मिलेगी।

राजवंशी ने बताया कि बैंक ने कंपनी को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराने का ऑर्डर देने के साथ एडवांस भुगतान भी किया हुआ है। परन्तु मांग और आपूर्ति में अंतर के कारण समय लगने से यह सुविधा सभी सीएचसी तक पहुंचाने में देरी हो रही है। उन्होंने बताया कि जैसे-जैसे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की उपलब्धता होती जाएगी, इन्हें कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र की प्रत्येक सीएचसी तक पहुंचाया जाएगा।

आॅक्सीजनयुक्त एंबुलेंस की सुविधा भी प्रारंभ
लोकसभा अध्यक्ष बिरला की प्रेरणा से भाटिया एंड कम्पनी ने भी ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में कोविड रोगियों के लिए एंबुलेंस की निशुल्क सेवा प्रारंभ की है। आॅक्सीजन सुविधा से युक्त कुल 5 एंबुलेंस ग्रामीण क्षेत्रों में सीएचसी स्तर पर तथा 3 एंबुलेंस कोटा शहर में संचालित की जाएंगी। संकल्प फाउंडेशन इन एंबूलैंस के निशुल्क संचालन की व्यवस्था करेगी। यह सुविधा बुधवार से इटावा सीएचसी से प्रारंभ की गई। भाटिया एंड कंपनी के निदेशक राम भाटिया ने कहा कि कोविड रोगियों के लिए एंबुलेंस की आवश्यकता को देखते हुए यदि कोई व्यक्ति अपनी पुरानी वैन कंपनी लाता है, तो उसे एंबुलेंस में बदलने की व्यवस्था कंपनी के स्तर से की जाएगी।

संकल्प फाउंडेशन देगा 100 ऑक्सीजन रेग्यूलेटर
ऑक्सीजन सिलेंडर के रेगुलेटर की कमी को देखते हुए संकल्प फाउंडेशन जिला प्रशासन की मदद के लिए आगे आया है। फाउंडेशन के अध्यक्ष और मल्टीमेटल के निदेशक राजेंद्र अग्रवाल ने बताया कि 100 ऑक्सीजन सिलेंडर रेग्युलेटर जिला प्रशासन को जल्द उपलब्ध करवाएंगे। इसके बाद यदि और मांग आती है तो और ऑक्सीजन रेगुलेटर की व्यवस्था की जाएगी।

सीएचसी स्तर पर विकसित करें उपचार केंद्रः बिरला
उधर, संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने एक बार फिर चिंता व्यक्त की। ग्रामीणों को उनके घर के नजदीकी स्तर पर इलाज मिल सके इसके लिए बिरला ने संभागीय आयुक्त और जिला कलक्टर को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में जहां-जहां भी सीएचसी हैं या बेड की उपलब्धता है, वहां स्थानीय स्तर पर छोटे कोविड उपचार सेंटर स्थापित करें। कोरोना मरीजों को वहीं भर्ती कर उनका समुचित उपचार सुनिश्चित किया जाए। उपचार केंद्र पर ऑक्सीजन सिलैंडर की भी व्यवस्था की जाए, यदि आॅक्सीजन उपलब्धता को लेकर कठिनाई आती है तो अवगत करवाएं, सिलैंडर भरवाने की व्यवस्था कर दी जाएगी। बिरला ने कहा कि कोटा संभाग में आॅक्सीजन की दूर करने के लिए वे लगातार प्रयासरत हैं तथा केंद्र व राज्य सरकार से निरंतर सम्पर्क बनाए हुए हैं। अगले कुछ दिनों में इसके सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे।