300 दिन की लंबित शिकायतो का निराकरण अविलंब करें-कलेक्टर

भिण्ड.ShashiKantGoyal/ @www.rubarunews.com>> कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत ने आज टीएल बैठक के दौरान अधिकारियों से कहा कि 300 दिन की लंबित षिकायतो का निराकरण प्राथमिकता पर करें। उन्होंने कार्यालय प्रमुखो से कहा कि उनके यहां पदस्थ अधिकारी/कर्मचारियों का रजिस्ट्रेषन एनआईसी भिण्ड में कराकर अस्पताल में जाकर वैक्सीन लगवाऐं। उन्होंने कहा कि यदि किसी के पास मैसिज नहीं जाती है, तब भी वे हॉस्पीटल में जाकर वहां रखी सूची में अपना नाम लिखवाकर वैक्सीन लगवाऐं। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत आईएस ठाकुर, अपर कलेक्टर अनिल कुमार चांदिल, एसडीएम भिण्ड-अटेर उदयसिंह सिकरवार, एसडीएम लहार आरए प्रजापति,एसडीएम गोहद शुभम शर्मा, एसडीएम मेहगांव महेष कुमार बडोले, डिप्टी कलेक्टर विजय राय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने बैठक में सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा के दौरान पीएचई के ई से कहा कि स्कूल/आंगनबाडी केन्द्रों पर हैण्डपंप चालू हालत में रखे जाए। अगर हैण्डपंप खराब है तो उन सभी को दुरूस्त कराये। उन्होंने कहा कि 300 दिवस से अधिक की शिकायतो को प्राथमिकता के साथ निराकरण कराये। उन्होंने भूमि पर अतिक्रमण/ कब्जा, प्राकृतिक प्रकोप के लंबित प्रकरणों को भी प्राथमिकता से निराकरण करें। इसके साथ ही उन्होंने समाधान एक दिवस एवं समय सीमा पत्रों की समीक्षा कर संवंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत ने रोजगार मूलक योजनाओ, स्ट्रीट वेंडर योजना, आयुष्मान भारत योजना, स्वच्छता आदि की भी विस्तृत समीक्षा की। कलेक्टर रावत ने बैठक में निर्देश दिए कि खाद्य पदार्थों में मिलावट कर रहे व्यक्तियों पर कार्यवाही की जाए। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को शासन की योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन कर आमजन को उनका लाभ मिले इस ओर सभी अधिकारी लगातार कार्य करते रहे।