हाथकरघा उत्पाद से स्वसहायता समूहो की आय में होगा इजाफा

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com-.
हाथकरघा उत्पादन के खिलौने मप्र डे आजीविका मिशन द्वारा गठित स्वसहायता समूह द्वारा विक्रय किये जाने वाले खिलौने और सामान दीपावली के त्यौहार पर सभी का मन मोह रहे है। इस सामग्री के विक्रय होने से समूहो की आय में इजाफा होगा।
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव के निर्देशन में मप्रडे ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा गठित कराये गये स्वसहायता समूहो के माध्यम से कोरोना काल में मास्क, सेनेटाईजर, साबुन, पीपीई किट बनाकर आम लोगो को विक्रय करने की व्यवस्था जारी है। इसी कडी में हाथकरघा उत्पाद के खिलौने आजीविका मिशन के कार्यालय में रखे जाकर स्वसहायता समूहो के माध्यम से दीपावली के त्यौहार पर विक्रय करने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।
मप्रडे आजीविका मिशन के डीपीएम  सोहनकृष्ण मुदगल द्वारा हाथकरघा उत्पाद तोप, बैलगाडी, फ्लोवरपोर्ट आदि घरेलू सामान स्वसहायता समूहो के माध्यम से बेचने के लिए मिशन के कार्यालय श्योपुर में रखे गये है। जिनका विक्रय दीपावली त्यौहार को ध्यान में रखते हुए प्रारंभ किया गया है। हाथकरघा उत्पादित सामग्री एवं खिलौने सभी का मनमोह रहे है।
स्वसहायता समूहो के माध्यम से मप्रडे आजीविका मिशन के कार्यालय में रखें हाथकरघा उत्पादक के विभिन्न प्रकार के खिलौने और सामग्री से समूह की आय में प्रतिदिन बढोत्तरी होगी। साथ ही तैयार किये हुए सामान से स्वसहायता समूह की दीदीयों की आय में बढोत्तरी होगी।
मप्रडे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला मुख्यालय स्थित कार्यालय पर स्वसहायता समूहों की दीदीयों द्वारा हाथकरघा उत्पादित खिलौनो एवं सामान को स्थानीय बाजारों में उचित दामों पर बेचने के प्रबंध किए जा रहे हैं। दीपावली पर बाजार में इन खिलौनो और सामान की मांग बढ रही है।
डीपीएम मप्रडे आजीविका मिशन  सोहनकृष्ण मुदगल ने बताया कि स्वसहायता समूहों के माध्यम से तोप, बैलगाडी, फ्लोवरपोर्ट आदि घरेलू सामान के विक्रय होने से स्वसहायता समूह आय बढाने में सहायक होगे।