सूदखोरो पर कार्यवाही करने के लिए अनुसूचित जनजाति ऋण विमुक्ति अधिनियम-श्री चौहान

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मप्र सरकार ने अनुसूचित जनजाति ऋण विमुक्ति अधिनियम 220 बनाया है। इस अधिनियम के अतंर्गत 15 अगस्त 2020 तक के जो कर्जा नियम विरूद्ध तरीके से दिये गये है। उनको माफ करने की व्यवस्था इस अधिनियम के अंतर्गत दी गई है। इस अधिनियम में सूद की राशि और ब्याज नही देना पडेगा। वे आज जिले के आदिवासी विकासखण्ड कराहल के वनाचंल स्थित ग्राम बरगवां में आयोजित सहरिया चौपाल का क्रंातिकारी बिरसा मुडा के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जलित करने के बाद सहरिया समुदाय को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सूदखोरो का अगर कोई प्रकरण अदालत में चल रहा है। उसमें कोई कार्यवाही नही होगी। साथ ही सहरिया समुदाय के व्यक्तियो ने जो रकम गिरवी रखी है। उसे वापस करनी पडेगी। नही वापिस करने पर 03 साल की सजा के जुर्माना का प्रावधान इस अधिनियम में किया गया है। उन्होने कहा कि जिला कलेक्टरो की जवाबदारी है कि सभी पात्र भाईयो को इस कानून का लाभ दिलाया जावे। उन्होने कहा कि कमाने वाला खायेगा। लूटने वाला जावेगा और नया जमाना आयेगा। उन्होने कहा कि गलत काम करने वालो पर कार्यवाही होगी।
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आदिवासी गौरव दिवस के रूप में क्रांतिकारी भगवान बिरसा मुडा का जन्मदिन दिवाली पर मनाया जावेगा। बिरसा मुडा एक क्रातिकारी थे, उन्होने अंग्रेजो को भारत से बाहर जाने के लिए लोहा लेकर अन्याय एवं अत्याचार के खिलाफ जबरदस्त लडाई लडी थी। वह हमारे गर्व और गौरव है। उन्होने कहा कि किसान सम्मान निधि योजना में मुख्यमंत्री कल्याण निधि योजना जोडी गई है। जिसके अंतर्गत अब कुल 10 हजार रूपये किसानो को मिलेगे। उन्होने कहा कि पैन एकड पर भी इस योजना का लाभ दिया जावेगा। साथ ही छूटे हुए नाम जोडे जावेगे।
 इस दिशा में जिला कलेक्टर अभियान चलाये। उन्होने सहरिया समुदाय से सीधा संवाद करते हुए कहा कि गरीबो को एक रूपये किलो गेहूं दिया जा रहा है। साथ ही खाद्यान्न पात्रता पर्ची बनाकर प्रदान की जा रही है। श्योपुर जिले में 07 हजार खाद्यान्न पात्रता पर्ची जारी की गई है। इस पर्चियो से जो पात्र व्यक्ति वंचित रहे गये है। उनको राशन देेने के लिए सर्वे कराकर नाम जोडे जावेगे। इस दिशा में क्षेत्रीय विधायक  सीताराम आदिवासी के नेतृत्व मे जिला प्रशासन गांव-गांव जाकर कार्यवाही सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि गरीबी रेखा की सूची में अगर अमीर लोगो के नाम पाये जावे। तब उनको हटाने की कार्यवाही की जावे। साथ ही उनके स्थान पर गरीबो के नाम जोडे जावे। उन्होने कहा कि गेहू उपार्जन के अंतर्गत किसानो को राशि भुगतान की जा चुकी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर राशन दुकान उपभोक्ताओ को दूर पडती है, तब व्यवस्था को युक्तियुक्तकरण किया जाकर राशन लेने की कठिनाई को दूर किया जावे। मुख्यमंत्री ने सहरिया चौपाल पर सीधा संवाद करते हुए कहा कि सहरिया परिवारो के ऐसे बच्चे जो 12वी तक शिक्षा अध्ययन कर रहे है। उनको किताबे उपलब्ध करा दी गई है। आगामी सीजन से छात्र-छात्राओ को स्वसहायता समूहो के माध्यम से गणवेश तैयार कर प्रदान किये जावेेगे। जिससे स्वसहायता समूहो की बहनो को रोजगार का अवसर प्राप्त होगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मातृ वंदना योजना में 6096 रूपये की राशि देने की व्यवस्था दी गई है। 3556 हितग्राहियों को इस योजना में लाभान्वित किया जा चुका है। उन्होने कहा कि अटल प्रोग्रेस-वे के माध्यम से श्योपुर जिले में विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। साथ ही क्षेत्र के लोगो की किस्मत बदलेगी। उन्होने कहा कि सहरिया परिवार की मुखिया को पोषण आहार के रूप में 01 हजार रूपये की राशि प्रदान की जा रही है। जो परिवार इस राशि से छूट गये है। उनका सर्वे कराया जाकर छूटी हुई महिलाओ को भी राशि दिलाई जावेगी।
मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने सहरिया चैपाल पर सीधा संवाद करते हुए कहा कि स्वसहायता समूहो के छोटे-छोटो गु्रपो से जाकर बात करूगा। सहरिया परिवारो की जिदंगी को बेहरत बनाने के लिए निरंतर प्रयास किये जा रहे है। साथ ही सभी अन्य वर्गो की भलाई की दिशा में अंतिम छोर तक के गरीब व्यक्तियो का जीवन स्तर सुधारने की दिशा में ध्यान रखा जावेगा। उन्होने कहा कि सभी वर्गो को आगे लेकर जाना है। मप्र सरकार जनता के दुख-दर्द दूर करे। इस दिशा में भी कदम उठाये जावेगे। उन्होने कहा कि भील जनजाति के व्यक्तियो के प्रमाण पत्र बनाने की दिशा में कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। इसी प्रकार संबल योजना के परिवारो के छात्रो की फीस सरकार भरेगी।
इस योजना का लाभ सभी सजाम के गरीबो को दिया जा रहा है। साथ ही योजना के हितग्राहियों के बच्चे-बच्चिायो की शादी की भी सुविधा उपलब्ध कराई जावेगी। उन्होने कहा कि सहरिया परिवारो के लिए 100 रूपये बिजली बिल देने की सुविधा दी गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विधायक  सीताराम आदिवासी द्वारा रखी गई डैम बनाने की मांग और तालाब निर्माणों के अलावा सडक निर्माण कार्यो को पूरा करने के बारे में आशवस्त किया।
क्षेत्रीय विधायक  सीताराम आदिवासी ने सहरिया चौपाल में अवगत कराया कि प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में सहरिया परिवारो का जीवन स्तर सुधारने की दिशा मे ंप्रयास किये जा रहे है। उन्होने कहा कि कराहल में निर्माणाधीन विधुत फीडर का काम शीघ्र पूरा करने की मांग रखी। साथ ही चेटीखेडा डैम बनाने की मांग के साथ बायपास रोड विजयपुर, टेटरा-धोबनी रोड पूरा करने के बारे मे अवगत कराया। हीरापुरा और दुबडी में तालाब बनाये जाने की भी मांगी की।
कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव ने सहरिया चौपाल में जानकारी देते हुए बताया कि सहरिया परिवारो का जीवन स्तर सुधारने की दिशा में शासन की योजनाओ को उन तक पहुंचाने के निरंतर प्रयास किये जा रहे है। साथ ही जिले में शासन की अन्य योजनाओ का भी क्रियान्वयन विभागीय अधिकारियों के माध्यम से कराया जा रहा है। सहरिया परिवार की मुखिया को अक्टूबर 2020 तक की राशि 01 हजार रूपये के मान से भुगतान की जा चुकी है। उन्होने कहा कि 700 सहरिया परिवारो की महिलाओ को स्वसहायता समूहो से जोडा गया है। जिनके माध्यम से प्रशासन की गतिविधियो में सहयोग दिया जा रहा है। उन्होने की अटल प्रोग्रेस-वे के लिए भूमि का आवंटन किया जा चुका है। साथ ही अन्य तैयारियां जारी है। उन्होने कहा कि अनुसूचित जनजाति के परिवारो को मनरेगा के अंतर्गत लाभान्वित किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सहरिया चौपाल पर ग्राम बरगवां की सरपंच श्रीमती रामवती आदिवासी, कराहल के सरपंच  नन्दू आदिवासी, गोरस जयदुर्गे समूह की श्रीमती सुनीता आदिवासी, राधा स्वामी समूह मालीपुरा की श्रीमती विमला बाई, कराहल समूह की श्रीमती कलीया बाई, गढला समूह की श्रीमती निकुडी आदिवासी, डूडीखेडा की श्रीमती सुनीता भिलवाड, जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती गुड्डी बाई से सीधी बात-चित की। साथ ही अपने-अपने व्यवसाय के अंतर्गत किये जाने वाले कार्यो से अवगत कराया। सहरिया समुदाय के हितो की दिशा में किये जा रहे कार्यो का ब्यौरा प्राप्त किया।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बरगवां में चाक घुमकार बनाये मिट्टी के बर्तन
मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने ग्राम बरगवां में  कल्याण प्रजापति के घर पहुंचकर मिट्टी से बनने वाले दीपक, बर्तन, घोडा बनाने की विधि जानी। साथ ही कल्याण प्रजापति के साथ चाक घुमाकर मिट्टी की बोतल बनाई। उन्होने इस दौरान  हरलाल प्रजापति, श्रीमती भगवती प्रजापति से चर्चा कर मिट्टी से बनने वाले बर्तन, दीपक, घोडा आदि से होने वाली आमदनी की जानकारी ली।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आदिवासी सरपंच श्रीमती रामवती के घर किया भोजन
मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने ग्राम बरगवां में सहरिया चौपाल कार्यक्रम के उपरांत ग्राम पंचायत बरगवां की सरपंच श्रीमती रामवती आदिवासी के घर पहुंचकर छोले से बनी पत्तल पर पनीर, पापड, रोटी, दाल के रूप में दोपहर का भोजन किया। सरपंच श्रीमती रामवती आदिवासी ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को अपने घर पाकर प्रसन्नता जाहीर की। साथ ही उनका रोरी-चन्दन से टीका कर उनका शाल, श्रीफल भेंट कर स्वागत किया।
सहरिया चौपाल कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधि/अधिकारी सहरिया चौपाल कार्यक्रम में प्रदेश के मंत्री  सुरेश राठखेडा, विजयपुर क्षेत्र के विधायक  सीताराम आदिवासी, भाजपा के जिला अध्यक्ष  सुरेन्द्र जाट, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती कविता मीणा, कलेक्टर  राकेश कुमार श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक  सम्पत उपाध्याय, पूर्व विधायक  दुर्गालाल विजय एवं  बृजराज सिंह चौहान, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष महावीर सिंह सिसौदिया, डाॅ गोपाल आचार्य,  अशोक गर्ग, नगर पालिका श्योपुर के पूर्व अध्यक्ष  दौलतराम गुप्ता, प्रदेश कार्य समिति के सदस्य  कैलाशनारायण गुप्ता, पाटी पदाधिकारी  मेहरवान सिंह यादव,  नन्दकिशोर,  नरेश कुशवाह,  ओमप्रकाश राठौर, ग्राम बरगवां की सरपंच श्रीमती रामवती आदिवासी, कराहल के सरपंच  नन्दू आदिवासी, पत्रकार, विभागीय अधिकारी, त्रिस्तरीय पंचायतो के पदाधिकारी, क्षेत्रीय ग्राम पंचायतो के सरपंच उपस्थित थे।