बेटी के जन्म पर हर्षित होकर उत्साहित हों- नरेन्द्र कुशवाहा

 

दतिया @rubarunews.com>>>>>>>> भारत सरकार व मध्यप्रदेश द्वारा संचालित अभियान के तहत बालिकाओं के अस्तित्व, सुरक्षा तथा शिक्षा को सुनिश्चित करने के उद्देश्य देश के अति कम शिशु लिंगानुपात वाले चयनित जिलों में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का संचालन किया जा रहा है। अभियान के तहत मध्यप्रदेश के चयनित जिलों में दतिया जिले में भी इस योजना के सघन एवं समन्वित प्रयासों को शिशु लिंगानुपात में सुधार के लिए एक जन अभियान के रूप में संचालित किया जा रहा है। जिसमें सामाजिक लिंग आधारित लिंग चयन को समाप्त करना, बालिकाओं की उत्तरजीविता और उन्हें संरक्षण सुनिश्चित करना, बालिकाओं की शिक्षा सुनिश्चित करना एवं जेंडर आधारित भेद को मिटाना आदि उद्देश्यों की पूर्ति हेतु विभिन्न गतिविधियां समय-समय पर आयोजित की जा रही है। जिनके माध्यम से बेटियों के जन्म पर हर्षोल्लास, उमंग और उत्साह के उत्सव के रूप में मनाए जाने की समुदाय से अपील की जा रही है साथ ही बेटियों को पराया धन और बोझ समझने जैसे शब्दों का उपयोग न करने के लिए समुदाय को प्रेरित किया जा रहा है।

ग्राम तगा, नरेटा में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत संचालित जागरूकता अभियान के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग व निर्देशन में संचालित कार्यक्रमों की श्रृंखला में *बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ महिला सभा व विशेष ग्रामसभाओं* का आयोजन किया गया। ग्राम तगा व नरेटा में आयोजित महिला सभा में मुख्यअतिथि नरेन्द्र कुशवाहा (उनाव मण्डल मंत्री भाजपा) ने उपस्थित समुदाय से बेटी के जन्म पर हर्षित होकर उल्लास, उमंग और उत्साहित होंने की अपील की। श्री कुशवाहा ने जरूरत मंद बेटियों को स्टेशनरी किट उपलब्ध कराने की सहमति जताई।

विशिष्ट अतिथि मुरारी कुशवाहा अध्यक्ष नेहरू युवा मंडल घरावा ने घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम 2005 की जानकारी देते हुए महिलाओं पर होने वाली हिंसा की सूचना तुरंत महिला हेल्पलाइन 1090 देने की बात कही। श्रीमती सुषमा पाठक ने लाडली लक्ष्मी योजना, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की जानकारी दी। श्रीमती सुकृति कुशवाहा ने बेटियों के साथ होने वाली हिंसा को कभी न छुपाने का आव्हान किया।

बेटियों को पराया धन मानना बन्द करें: रामजीशरण राय

स्वदेश संस्था के संचालक व पीएलव्ही रामजीशरण राय ने बेटियों को पराया धन मानना व बोझ मानने को बंद करने की अपील की। बेटियों व महिलाओं पर होने वाली हिंसा की आवाज उठाने की सामूहिक शपथ दिलाई। अभियान सहयोगी व पीएलव्ही बलवीर पाँचाल ने अभियान के उद्देश्य व कार्ययोजना के बारे में जानकारी दी। अभय दाँगी ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के प्रावधानों की जानकारी दी गई। अभियान दल सदस्य सरल तलरेजा व आयुष राय ने बालिका शिक्षा के महत्व स्पष्ट करते हुए बताया कि शिक्षित बेटी भावी पीढियों को शिक्षित करने में महती भूमिका निभाती है।

समाजसेवी व पीएलव्ही पीयूष राय ने पॉक्सो एक्ट के बारे में जानकारी देते हुए गुड टच व बैड टच की जानकारी दी। पीएलव्ही सुबोध शर्मा ने लाडो अभियान व बाल विवाह के दुष्मारिणामों की जानकारी दी। कु. प्रीति वर्मा ने किशोर न्याय अधिनियम के बारे में व्यापक जानकारी दी। साथ ही महिला सभा में उपस्थित महिलाओं व किशोरी बालिकाओं व पुरुषों ने अपने-अपने विचार व्यक्त करते कुछ प्रश्नों को आयोजक समूह के समक्ष रखे गए। जिनका सहज व सरल ढंग से अतिथि व स्रोत व्यक्तियों ने समाधान किया गया। कार्यक्रम में अतिथियों ने उपस्थित सभी जन सामान्य की महिलाओं व बच्चों और होने वाली हिंसा को रोकने हेतु सामूहिक शपथ दिलाई।

कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों के साथ ही समाज के पुरुषों, महिलाओं और बच्चों ने भागीदारी की। कार्यक्रम में रामेश्वर कुशवाहा राहुल कुशवाहा भगवान सिंह कुशवाहा अजय परिहार, विजय रजक, नीरज अहिरवार, आकाश पाल, रोहित रजक सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण महिला, पुरुष व बच्चों ने सहभागिता की। अभय दाँगी, उदय दाँगी, शिवम बघेल, उमेश पाल, दीक्षा लिटौरिया, प्रीति वर्मा आदि सम्मिलित रहे। आभार व्यक्त सरल तलरेजा ने किया। उक्त जानकारी अभियान प्रभारी बलवीर पाँचाल ने दी।