रेत कारोबारियों ने खदान पर जमाया कब्जा, खनिज टीम की नजर नहीं

भिण्ड rubarudesk/@www.rubarunews.com>> रेत कारोबारियों ने रौन थाना क्षेत्र के महांयर-मुसावली रेत खदान घाट में नदी की धार रोककर माफियाओं द्वारा अवैध रूप से पुल बना लिया और जिला प्रशासन को इसकी जानकारी होने के बाद भी खनिज विभाग इस ओर अनदेखी करने में लगा हुआ है, जिसके चलते रेत करोबारियों के हौंसले बुलंद हैं। जिसके बाद भी जिला प्रशासन और खनिज अमला नहीं चेता। महांयर-मुसावली रेत खदान पर अवैध पुल से प्रतिदिन सैकड़ों ट्रक, रेत निकालकर ट्रक, डंपरों में भरकर थानों से होकर पड़ोसी राज्य व अन्य शहरों तक पहुंचाई जा रही है। बिना अनुमति के जेसीबी, पोकलेन मशीनों से रेत निकाला जा रहा है जिसकी माफियाओं के पास अनुमति तक नहीं है फिर भी पनडुब्बी से नदी में रेत का टापू बनाकर नदियों को खोखला करने में लगी हुई हैं। खनिज विभाग की टीम कार्रवाई करने पहुंचती तो लेकिन खाना पूर्ति कर बापस लौट आती है। सवाल इस बात का है कि कार्रवाई होने की सूचना किसके द्वारा लीक कर दी जाती है जो कार्रवाही होने से पहले रेत से भरे वाहन व पोकलेन, जेसीबी आदि मशीनों को खदान से हटाकर मैदान साफ कर दिया जाता है सिर्फ पुलिस व खनिज विभाग की टीम को पनडुब्बी हाथ लगती है जिन्हें आग के हवाले करने के बाद खदान से बापस चले आते हैं और जिसे माफियाओं द्वारा सिर्फ से सही कराकर काम शुरु कर दिया जाता है जबकि पनडुब्बियों को जब्त कर थाने लेकर आना चाहिए जो नहीं किया जाता है जिस कारण माफियाओं के हौंसले बुलंद हैं और लाखों करोड़ों रुपये का रेत निकालने में लगे हुए हैं।

नदी में बनाया रेत का टापू

रौन थाना क्षेत्र के महांयर-मुसावली रेत खदान पर जेसीबी और पोकलेन मशीने चल रही है और यहां पर दर्जनों की संख्या में ट्रक-डंपर और ट्रेक्टर-ट्रॉली भरकर अवैध रूप से नदियों से रेत का खनन किया जा रहा है जिस पर रोक नहीं लगाई जा रही है पनडुब्बी से नदी के बीच में रेत का टापू बनाकर नदियों में गहने गड्डे कर दिये हैं जिससे किसी की भी जान आफत में पड़ सकती है फिर लगाम नहीं लगाई जा रही है।

रेत निकालने माफियाओं ने बनाया पीपा पुल

माफियाओं ने नदी से रेत निकालने के लिए अवैध रूप से पीपापुल बनाकर तैयार कर दिया है जिससे रातों रात व दिन के समय इसके ऊपर से होकर रेत निकाला जा सके, जिसकी जानकारी प्रशासनिक अमले को होने के बाद भी इसे नष्ट नहीं किया जा रहा है इस तरह के नदियों की धार रोककर जलीय जीव,जन्तुओं के जीवन पर संकट मडऱा रहा है। माफियाओं ने अपने फायदे के लिए इस पुल को तैयार किया है।

Umesh Saxena

I am the chief editor of rubarunews.com