पेयजल परीक्षण एवं स्वच्छता पखवाडा आयोजित

श्योपुर.Desk/ @www.rubarunews.com>>लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा पेयजल स्वच्छता पखवाड़े के दौरान आज ग्राम पंचायत नागदा में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं शिक्षकों एवं पेयजल उपभोक्ता समिति का प्रशिक्षण सह कार्यशाला का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण के दौरान पेयजल गुणवत्ता क्षेत्र परीक्षण किट का प्रशिक्षण एवं वितरण जिला अध्यक्ष श्रीमती कविता मीणा द्वारा किया गया।
कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कविता मीणा, कार्यपालन यंत्री पीएचई श्री संतोष श्रीवास्तव, तकनीकी सहायक आवास योजना श्रीमती सारिका यादव द्वारा जिला सलाहकार श्रीमती पाराशर द्वारा तैयार किए गए पोस्टर जल एवं स्वच्छता का विमोचन किया। साथ ही तैयार किए गए इस पोस्टर में चित्रों के माध्यम से आसान भाषा में जल जनित बीमारियों के बारे में एवं पेयजल स्त्रोतों की स्वच्छता के महत्व के बारे में बताया गया है।
जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कविता मीणा ने पोस्टर के कार्य की सराहना करते हुए कहा कि  इसी प्रकार प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता है। साथ ही जल्द से जल्द ग्राम नागदा में नल जल योजना लगाई जावे। जिससे महिलाओं की हैंडपंप से पानी भरने की समस्या खत्म हो सकें। सभी ग्रामों में 1515 बच्चों का समूह बनाकर बाल जल सेना बनाई जा रही है जाओ ग्राम में पेयजल के स्त्रोतों के पास सभी को भी गंदगी फैलाने से रोकेगी
कार्यपालन यंत्री पीएचई  संतोष श्रीवास्तव द्वारा ग्राम में पेयजल व्यवस्था की समीक्षा एवं पेयजल स्त्रोतों की साफ-सफाई की समीक्षा की गई। साथ ही ग्राम पंचायत नागदा आसपास की ग्राम पंचायतों के पेयजल स्रोतों का परीक्षण कर स्वच्छता सर्वे में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं ग्राम सचिवों के द्वारा किया जा रहा है। उसकी जानकारी एकत्रित की। साथ ही जल जीवन मिशन की जानकारी एवं ग्राम कार्य योजना बनाई गई है। उसकी जानकारी दी। इसी प्रकार उन्होने कहा कि ग्राम पंचायत नागदा में डीपीआर का काम शुरू हो चुका है। जल्द ही नल जल योजना के लिए टेंडर लगा दिए जावेगे।
जिला सलाहकार श्रीमती आराधना पाराशर ने बताया कि पेयजल स्वच्छता पखवाड़े के दौरान कई प्रकार की गतिविधियां की जा रही है। जिससे ग्राम में जनजागृति आयेगी। और ग्रामीण शुद्ध पेयजल के महत्व को समझ कर पेयजल स्त्रोतों को साफ सुथरा रखेंगे। साथ ही जल जनित बीमारियों से सदैव बचे रहेंगे। इसी प्रकार प्रचार-प्रसार के लिए जिले में अधिकांश ग्रामों में कई समूहों में सभा का आयोजनएवं दीवार लेखन किया गया है। जिसमें सचित्र जानकारी दी गई है। साथ ही समुदाय की सहभागिता को सुनिश्चित किया जा सके। इसी प्रकार कार्यक्रम में विकासखंड समन्वयक माला द्वारा पेयजल स्त्रोतों के क्लोरिनेशन की जानकारी ली एवं हैंडपंपों के आसपास साफ स्वच्छता रखने के लिए प्रेरित किया।
कार्यक्रम में उपयंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग  भरत भूषण, केमिस्ट लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग किंजल जैन एवं ग्राम सचिव, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व ग्रामीणजन उपस्थित थे।