तबलीगी जमात के संबंध में आगे बढ़ कर दें जानकारी, यह हम सबके लिए अच्छा होगा- जिला कलेक्टर

बूंदी.KrishnaKantRathore/ @www.rubarunews.com>> जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि जिले में कोरोना को लेकर स्थिति पूर्ण नियंत्रण में है। अभी तक कोई कोरोना पॉजिटिव केस सामने नहीं आया है। उन्होंने अपील की है कि जिले में कोई भी तबलीगी जमात से संबंधित व्यक्ति हो तो वह आगे बढ़कर इस संबंध में जानकारी देअथवा किसी अन्य को इस बारे में कोई जानकारी लगे तो जिला प्रशासन या कंट्रोल रूम पर सूचित करें। यह स्वयं उस व्यक्ति, उसके परिवार के स्वास्थ्य और जिले की सेहत व खुशहाली लिए सकारात्मक कदम होगा।
जिला कलेक्टर ने बताया कि लॉक डाउन से उपजी स्थितियों में जिले में सुनियोजित तरीके से सभी व्यवस्थाएं संपादित की जा रही हैं। बीपीएल, स्टेट बीपीएल, अंत्योदय, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में शामिल लोग, ठेला या छोटा रोजगार चलाकर आजीविका चलाने वाले तथाअसहाय लाचार लोगों को जो सामाजिक सुरक्षा योजना में लाभान्वित नहीं हो रहे हैं उन्हें एक एक हजार रुपए जिला प्रशासन के माध्यम से दिए जा रहे हैं। इसके अलावा 15 सौ रुपए की राशि सीधे राज्य सरकार द्वारा खातों में डाली जा रही है जिससे कि ऐसे व्यक्तियों को घर गृहस्थी चलाने में किसी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़े। यह सर्वे पूर्ण सर्तकता से किया गया है और कई स्तरों पर इसका वेरीफिकेशन करते हुए वास्तविक जरूरतमंदों को लाभान्वित किया जा रहा है। आर्थिक मदद के लिए चयनित 3187 परिवारों को दी जाने वाली राशि संबंधित अधिशासी अधिकारी एवं विकास अधिकारियों के सुपुर्द कर दी गई है, जिसे शीघ्र ही संबंधित व्यक्ति के खाते में स्थानांतरित किया जाएगा, खाता नहीं होने की स्थिति में नगद राशि दी जाएगी। श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को भी उक्त आर्थिक सहायता दी गई है ।
जिला कलेक्टर ने बताया कि उपखंड अधिकारियों, विकास अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि यदि कोई किसान फसल बेचना चाहे तो ऐसे किसानों की जानकारी लेकर सीमित रूप में उन्हें अनुमत किया जा सकता है या कोई आडतिया प्रोसेसिंग इकाई मिल इत्यादि सीधे ही किसानों से खरीद करना चाहे तो सीधी खरीद अनुज्ञा पत्र के जरिए अनुमति दी जा सकती है। उन्होंने बताया कि कृषि कार्य के दौरान आवश्यक उपकरणों की उपलब्धता, मिस्त्री, मरम्मत इत्यादि से जुड़ी दुकानें एवं सुविधाएं भी अनुमत की गई हैं। लेकिन कृषि कार्य के दौरान आवश्यक दूरी और स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति पूर्ण सजगता बरतनी होगी.
जिला कलेक्टर ने मौजूदा स्थिति में बढ़-चढ़कर आगे आ रहे दानदाताओं को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उनसे अपील की है कि वह अपने स्तर पर सामग्री का वितरण ना करके इसके लिए नोडल अधिकारी मुरलीधर प्रतिहार से संपर्क कर आवश्यकता वाले व्यक्तियों की सूची प्राप्त कर ले और तदनुसार ही सामग्री वितरण की कार्रवाई की जाए ताकि सामग्री वितरण में दोहराव ना हो तथा वास्तविक जरूरतमंदों तक सहायता पहुंचे।
नोडल अधिकारी सीईओ मुरलीधर प्रतिहार ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा योजनांतर्गत कार्य आरंभ किए गए हैं। कोई भी जरूरतमंद श्रमिक संबंधित ग्राम पंचायत सरपंच से संपर्क कर कार्य आरंभ कर सकता है। मौजूदा समय में ग्राम पंचायतों में कार्य स्वीकृत हैं तथा 1280 श्रमिक कार्यरत हैं।
बूंदी शहर में बांटे 1143 किट
उपखंड अधिकारी कमल कुमार मीणा ने बताया कि बूंदी शहर में 123 ठेला चालक, 13 पन्नी बीनने वालों समेत 1143 परिवार ऐसे चयनित किए गए, जिन्हें कोई सामाजिक सुरक्षा पेंशन या कोई अन्य लाभ नहीं मिल रहा है। ऐसे लोगों को सुखी राशन सामग्री के पैकेट वितरित किए जा चुके हैं।
यहां दें सूचना
जिले में कोरोना संक्रमण के संबंध में सूचनाओं आदान प्रदान के लिए जिला एवं उपखण्ड स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष का नम्बर 0141-2225624 है। इसके अलावा जिला स्तर पर चिकित्सा विभाग का नियंत्रण कक्ष नम्बर 0747-2442895, जिला कलक्टेªट स्थित जिला स्तरीय कंट्रोल रूम नम्बर 0747-2442305, उपखण्ड मुख्यालय बूंदी के लिए 0747-2445458, तालेडा के लिए 0747-2438353, हिण्डोली के लिए 07436-276446, केशवरायपाटन के लिए 07478-264170, लाखेरी के लिए 07478-262100 तथा नैनवां उपखण्ड मुख्यालय के लिए नियंत्रण कक्ष दूरभाष नम्बर 07437-257229 है।